• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • कॉलेज में रिक्त पदों पर सेवानिवृत्त व्याख्याता पढ़ाएंगे, विद्यार्थियों की प्रतिदिन ऑनलाइन भेजी जाएगी उपस्थिति
--Advertisement--

कॉलेज में रिक्त पदों पर सेवानिवृत्त व्याख्याता पढ़ाएंगे, विद्यार्थियों की प्रतिदिन ऑनलाइन भेजी जाएगी उपस्थिति

स्टूडेंट्स की कम हाजिरी और व्याख्याताओं की कमी का समाधान करने के मकसद से कॉलेज शिक्षा में दो बड़े कदम उठाए जा रहे...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 06:26 AM IST
स्टूडेंट्स की कम हाजिरी और व्याख्याताओं की कमी का समाधान करने के मकसद से कॉलेज शिक्षा में दो बड़े कदम उठाए जा रहे हैं। कॉलेजों में ऑनलाइन हाजिरी होगी। इसे कॉलेज के पोर्टल पर डालना होगा। इससे स्टूडेंट्स की ताजा स्थिति का पता चल सकेगा। सेवानिवृत व्याख्याताओं को संविदा पर लगाया जाएगा। इससे व्याख्याताओं की कमी पूरी हो सकेगी।

बदलाव

खाली पदों को भरने से स्टूडेंट्स की कम हाजरी की समस्या खत्म होगी

क्यों जरूरत पड़ी ऑनलाइन उपस्थिति की?

छात्रसंघ चुनाव तक कॉलेज में स्टूडेंट्स देखने को मिलते है। लेकिन बाद में सन्नाटा पसर जाता है। यहां तक कि फर्जी हाजिरी भरने के भी कई मामले सामने आए हैं। व्याख्याताओं को भी मौका मिल जाता है। दो से तीन घंटे कॉलेज में आकर ही लाखों रुपए की सैलरी उठा लेते हैं। इस समस्या का समाधान करने के लिए ऑनलाइन हाजिरी का विकल्प अपनाया गया है। व्याख्याताओं को हाजिरी लेनी होगी। फिर उसे आयुक्तालय को ऑनलाइन भेजनी होगी। यह प्रक्रिया 3 अगस्त से शुरू हो चुकी है। ऐसे में व्याख्याताओं को भी हकीकत में कक्षाएं लेकर हाजिरी लेनी होगी। दूसरा, साल के अंत में स्टूडेंट्स की हाजिरी को परीक्षा में बैठने लायक बना दिया जाता था। उसे भी पकड़ा जा सकेगा। कॉलेज में नियम है कि स्टूडेंट्स की 70 प्रतिशत हाजिरी नहीं है तो परीक्षा में नहीं बैठ सकता है। लेकिन पालन नहीं किया जा रहा था।

कॉलेज में पढ़ाने वाला कोई नहीं इसलिए यह व्यवस्था

हर तहसील मुख्यालयों पर महाविद्यालय खोल दिए गए, लेकिन इनमें स्टाफ की व्यवस्था नहीं की गई। प्रवेश प्रक्रिया और छात्रसंघ चुनाव तक व्याख्याताओं को प्रतिनियुक्ति पर लगाकर काम चला रहे हैं। कक्षाओं में पढ़ाने के लिए कोई नहीं होता है। ऐसे में अनुबंध के आधार पर व्याख्याता लगाने की व्यवस्था पहले से है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..