• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • प्रशिक्षण में 28 में से 18 पीईईओ ही आए, अधिकारी बोले- पहले डीईओ के खिलाफ होगी कार्रवाई
--Advertisement--

प्रशिक्षण में 28 में से 18 पीईईओ ही आए, अधिकारी बोले- पहले डीईओ के खिलाफ होगी कार्रवाई

राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद जयपुर की तरफ से शुक्रवार को दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग में एक भी...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 06:30 AM IST
प्रशिक्षण में 28 में से 18 पीईईओ ही आए, अधिकारी बोले- पहले डीईओ के खिलाफ होगी कार्रवाई
राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद जयपुर की तरफ से शुक्रवार को दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक आयोजित वीडियो कांफ्रेंसिंग में एक भी डीईओ नहीं पहुंचे। इधर, वीसी के दौरान प्रमुख शासन सचिव नरेशपाल गंगवार, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के निदेशक शिवांगी स्वर्णकार व आयुक्त ने कहा कि नागौर जिले से जयपुर में चल रहे पीईईओ प्रशिक्षण में 28 में से मात्र 18 जने पहुंचे है। उन्होंने वीसी के दौरान नाराजगी जताते हुए कहा कि इस लापरवाही को लेकर इस बार पीईईओ के विरुद्ध बाद में कार्रवाई की जाएगी, पहले कार्रवाई जिम्मेदार डीईओ के खिलाफ होगी। वहीं वीसी के दौरान स्वर्णकार ने कहा कि 25 जुलाई तक विद्यालय अवलोकन को लेकर दिए गए लक्ष्य के अनुसार अब तक अधिकारी पूरा नहीं कर पाए है।

अवलोकन करने की रिपोर्ट अधिकारियों की बेहद खराब स्थिति में है। वीसी में एक भी डीईओ नहीं पहुंचने को लेकर जब यहां मौजूद अन्य अधिकारियों से पूछा गया तो बताया कि डीईओ साहब पूरक परीक्षा को लेकर स्कूलों के निरीक्षण पर निकले है। वीडियो कॉन्फ्रेंस में दौरान उच्च स्तरीय अधिकारियों ने राजकीय विद्यालयों में आंगनबाडिय़ों के समन्वयन को लेकर गहन चर्चा की और निर्देश दिए। अधिकारियों ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए पीईईओ लॉगइन के अंतर्गत एवं शहरी क्षेत्र के स्कूलों के लिए बीईईओ लॉगइन से आंगनबाड़ी समन्वयन मॉड्यूल संचालित हैं। ऐसे में वो शाला दर्शन पोर्टल पर रिपोर्ट अपडेट करते रहे। वीसी के दौरान एडीपीसी रामदेव सिंह पूनिया, सीडीपीओ दुर्गासिंह उदावत, एडीईओ रामेश्वर लाल, आरटीई प्रभारी नरसिंग पिंडेल, बाबूलाल निर्मल, राधेश्याम गोदारा, नेमीचंद फिड़ौदा, अहसान गौरी, बस्तीराम सांगवा सहित अन्य मौजूद थे।

नागौर. कलेक्ट्रेट में वीसी में मौजूद शिक्षा अधिकारी।

एसआईक्यूई के तहत बच्चों की प्रगति अभिभावकों से करें साझा, ताकि उनके शिक्षण स्तर में हो सके सुधार

अधिकारियों ने कहा कि कक्षा पांचवीं तक के बच्चों में शैक्षिक स्तर सुधार के उद्देश्य से लागू स्टेट इनिशियेटिव फॉर क्वालिटी एजुकेशन (एसआईक्यूई) के तहत बच्चों में विभिन्न नवाचारों, नई तकनीकी, शिक्षण विधियों से अवगत कराया जा रहा है। बच्चों की प्रगति को अभिभावकों से समय-समय पर साझा करते रहे। बच्चे के स्तर के अनुरूप शिक्षण योजना के अनुसार शैक्षणिक कार्य करने के आदेश दिए। ड्रॉप आउट बच्चों को शिक्षा से जोड़ प्रत्येक पंचायत को 100 प्रतिशत उजियारी पंचायत बनाने, ज्ञान संपर्क पोर्टल के माध्यम से भामाशाह को से राशि डोनेट करवा 80जी का फायदा दिलाने, उत्कृष्ट स्कूलों का निरीक्षण करने, जर्जर भवन, दीवार निर्माण, खेल मैदान विकसित करने के लिए सहभागिता से जल्द कार्य पूर्ण करवाने के निर्देश दिए।

X
प्रशिक्षण में 28 में से 18 पीईईओ ही आए, अधिकारी बोले- पहले डीईओ के खिलाफ होगी कार्रवाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..