• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज
--Advertisement--

भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज

विकलांग विकास सेवा समिति और ग्रामीणों के सहयोग से हाउसिंग बोर्ड के सामुदायिक भवन ताउसर रोड में चल रही...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 06:30 AM IST
भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज
विकलांग विकास सेवा समिति और ग्रामीणों के सहयोग से हाउसिंग बोर्ड के सामुदायिक भवन ताउसर रोड में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन शुक्रवार को कथावाचक उग्रसेन महाराज ने कहा कि जब भी भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करते हैं। तो भगवान दौड़े चले आते हैं। इस दौरान महाराज ने जड़भरत, श्रवण चरित्र और नृसिंह अवतार का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि भगवान विष्णु आदि देव हैं। जो भक्तों की रक्षा के लिए समय-समय पर अवतार लेते हैं। महाराज ने कहा कि हर मनुष्य के जीवन में संकट आता है। उस समय मनुष्य को संघर्ष करना चाहिए। महाराज ने कहा कि मनुष्य को दुख के समय सिर्फ उसका आत्मबल ही पार लगा सकता है। संस्थान के प्रदेशाध्यक्ष पापालाल सांखला ने कहा कि कथा में भामाशाहों द्वारा अध्यक्ष रामकुवांर भाटी द्वारा पिछले चार दिनों से सेव, अनार, केला, काजू किशमिश और चॉकलेट आदि प्रसाद वितरित किए गए। इस मौके पर पंडित ताराचंद सारस्वत व मालचंद दाधीच ने भागवत कथा की पूजा अर्चना करवाई। इस मौके पर मुख्य अतिथि भाजपा ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष कृपाराम देवडा सहित समाज सेवी कैलाश सारस्वत, हंसराज भाटी, ललित भाटी, भंवरलाल वैष्णव और सुरेश गुरु आदि मौजूद थे।

मूंडवा आंचलिक| शहर के पश्चिम की ओर स्थित मोटोलाव तालाब पर सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में सहस्त्र धारा अभिषेक आयोजन सिद्धी विनायक युवा संघ के तत्वावधान में किया जाएगा। संघ के लखन तिवाड़ी व नौर| प्रजापत ने बताया कि शनिवार को दिन में करीब 11 बजे से पंडित नितिन दाधीच, गौरव दाधीच, गोपाल पारीक, धनवंतरी, दिनेश, प्रेमप्रकाश, विशाल आदि वैदिक मंत्राेचार के साथ पुजारी गोरधन गुरु के सान्निध्य में पूजन करवाएंगे। इस दौरान राजू बंग, राजेंद्र रांकावत, दिनेश, चंद्रप्रकाश, पवन, संदीप वर्मा, मधुर सिखवाल सहित कई लोग मौजूद रहेंगे।

अपने भाग्य की तुलना दूसरों से करना बेकार का तनाव, मन में अशांति का कारण असीमित इच्छाएं: संत हरिविलास

नागौर| रामनामी ट्रस्ट रामपोल में चातुर्मास की धर्मसभा में शुक्रवार को महंत संपतराम महाराज ने कहा कि सब वस्तुओं की तुलना कर लेना। मगर अपने भाग्य की तुलना कभी किसी से मत करना। अधिकतर लोग अपने भाग्य की तुलना दूसरों से करके व्यर्थ का तनाव मोल लेते हैं। इसके आधार पर वे परमात्मा से शिकायत करते हैं। उन्होंने कहा कि परमात्मा से शिकायत मत करो। अगर ईश्वर ने आपकी झोली खाली की है। तो चिंता मत करना। क्योंकि शायद वो आपकी झोली में कुछ बेहतर डालना चाहते हैं। महाराज ने कहा कि आपके पास समय हो तो उसे दूसरों के भाग्य को सुधारने में लगाओ। उन्होंने कहा कि मनुष्य जीवन का कल्याण प्रभु भक्ति से ही होगा। संत हरिविलास महाराज ने कहा कि मन को जीतना कठिन है, पर मुश्किल नहीं। हमारी अशांति का कारण असीमित इच्छाएं हैं। जिस दिन आपने मन को साध लिया। समझ में आ जाएगा की हार-जीत कुछ नहीं होती है। इस मौके पर संत मुरलीराम महाराज सहित श्रद्धालु मौजूद थे।

हरियाली अमावस्या के मौके पर शनिवार को बंशीवाला मंदिर स्थित पातालेश्वर महादेव मंदिर में पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर सहस्रघट रूद्राभिषेक किया जाएगा। आयोजनकर्ता पातालेश्वर रूद्राभिषेक संघ, बंशीवाला मंदिर के पदाधिकारियों ने बताया कि वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पार्थिव शिवलिंग का निर्माण किया जाएगा। सुबह 11 बजे गणेश पूजन और 12:30 बजे रूद्राभिषेक होगा। शोभायात्रा शाम 5:30 बजे निकाली जाएगी। इसके बाद पार्थिव शिवलिंग का गिन्नाणी तालाब में विसर्जन किया जाएगा।

गोगेलाव| गांव गोगेलाव में गुरुवार शाम को भोमियाजी महाराज के मंदिर प्रांगण में ग्रामीणों की ओर से बारिश के लिए यज्ञ किया गया। लोगों ने भगवान से बारिश के लिए कामना की। इस दौरान सोहनराम प्रजापत, रमजान खां, रामचंद प्रजापत, छैलाराम सारण, खेराजराम प्रजापत, घेवरराम प्रजापत, राजू सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित रहे।

नवकार महामंत्र आराधना शुरू

नागौर| कनक अराधना भवन में खरतरगच्छ जैन साध्वी र|माला म.सा. के सान्निध्य में साध्वी शासन प्रभा और निष्ठांजना म.सा. के सानिध्य में सुबह 9 बजे मंत्रोच्चार के साथ मुख्य कलश और कुंभ कलश की स्थापना की गई। मुख्य कलश के लाभार्थी हुलासमल, गौतम चंद, और राजेंद्र कोठारी परिवार रहे। भगवान पार्श्वनाथ की प्रतिमा के लाभार्थी चयती देवी प|ी नीलम चंद, माणकचंद, कमल डोसी परिवार रहे। संघ के मीडिया प्रभारी प्रदीप डागा ने बताया कि नवकार महामंत्र तप अराधना में 36 श्रद्धालुओं ने भाग लिया। नवकार महामंत्र तप अराधना 68 दिन तक रोजाना सुबह 9 से रात 9 बजे तक चलेगी। इस मौके पर संघ के अध्यक्ष गौतम कोठारी, सचिव केवलराज बच्छावत, चंपालाल जांगिड़, हस्ती मल लूणावत, रिखबचंद डागा, किशोरी लाल बोथरा, देवेंद्र डोसी, मनीष खजांची, विकास बोथरा, दिलीप लूणावत, देवीचंद खजांची और पदम कोठारी आदि उपस्थित रहे।

भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज
X
भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज
भक्त सच्चे मन से भगवान को याद करता हैं तो प्रभु उसकी मदद के लिए चले आते है : उग्रसेन महाराज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..