• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • मेड़ता से पादूकलां जा रहे बाइक सवार दो जनों को अज्ञात ट्रक ने मारी टक्कर, 1 की मौत, एक घायल
--Advertisement--

मेड़ता से पादूकलां जा रहे बाइक सवार दो जनों को अज्ञात ट्रक ने मारी टक्कर, 1 की मौत, एक घायल

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी शहर से गुजरने वाले एनएच 89 व एनएच 458 पर एक दूसरे से मिलने वाले तिराहों पर जंक्शन के...

Danik Bhaskar | May 12, 2018, 06:05 AM IST
भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी

शहर से गुजरने वाले एनएच 89 व एनएच 458 पर एक दूसरे से मिलने वाले तिराहों पर जंक्शन के अभाव में हादसों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। शुक्रवार दोपहर में महादेव होटल के समीप स्थित तिराहे पर अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार दो युवक गंभीर घायल हो गए। घायलों को एंबुलेंस से राजकीय चिकित्सालय पहुंचाया गया। जहां से दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद अजमेर रैफर किया गया। लेकिन एक युवक ने रास्ते में दम तोड़ दिया। सूचना पर मेड़ता पुलिस ने मौके पर पहुंच मौका मुआयना किया। जानकारी के अनुसार शहर के एयू फाइनेंस में कार्यरत धनेश पारीक (26) पुत्र बजरंग लाल पारीक निवासी मूंडवा हाल निवासी पारीक पाठशाला के समीप मेड़ता व शाहपुरा थानांतर्गत ग्राम खोरी निवासी अरुण कुमावत (24) कंपनी के कार्य के चलते बाइक से मेड़ता सिटी से पादूकलां की ओर जा रहे थे। इस दौरान महादेव होटल के समीप के पास स्थित तिराहे पर अज्ञात वाहन ने बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी की बाइक तिराहे से पहले लगे बेरीकेड्स तक घसीटती हुई गई। हादसे में बाइक सवार दोनों युवक गंभीर घायल हो गए। दोनों को एंबुलेंस से राजकीय अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद अजमेर रैफर कर दिया गया। इस दौरान धनेश पारीक ने रास्ते में दम तोड़ दिया। इस पर वापस शव को मेड़ता सिटी की मोर्चरी में लाया गया। वहीं हादसे की सूचना मिलते ही हैड कांस्टेबल विक्रम सिंह मय जाब्ता मौके पर पहुंचे। मौका मुआयना किया।

दो बहनों के बीच इकलौता भाई था धनेश

मूंडवा निवासी धनेश मेड़ता स्थित फायनेंस कंपनी में काम करता था। इसके पिता बजरंग लाल गुजरात में नौकरी करते हैं। धनेश दो बहनों के बीच इकलौता भाई था। सड़क दुर्घटना में धनेश की मौत के बाद परिवार में मातम सा छा गया। वहीं दुर्घटना की सूचना के बाद बड़ी संख्या में समाज के लोग मोर्चरी में एकत्रित हो गए।

पहले भी दो दुर्घटनाओं में हो चुकी हैं 6 लोगों की मौत

शहर के से गुजरने वाली एनएच 89 व एनएच 458 दोनों हाइवे दो जगहों पर एक दूसरे को क्रॉस करती है। मगर जंक्शन के अभाव में यहां आए दिन हादसे होते है। गत वर्ष 17 अप्रैल को इसी स्थान पर जैतारण के समीप डिगरना गांव से पादूकला की ओर जा रही एक ऑल्टो कार व निजी बस की टक्कर में कार सवार एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हुई थी। वहीं इससे करीब चार माह पूर्व 11 दिसंबर 2016 को रोडवेज की टक्कर से कार सवार दो सगे भाईयों सहित तीन लोगों की मौत हुई थी। इसके अलावा कई छोटे-मोटे सड़क हादसे हो चुके हैं।