Hindi News »Rajasthan »Nagour» सीएमएचओ बोले- बेटी पर इतनी पाबंदी तो बेटों को छूट क्यों?

सीएमएचओ बोले- बेटी पर इतनी पाबंदी तो बेटों को छूट क्यों?

सीएमएचओ बोले- बेटी पर इतनी पाबंदी तो बेटों को छूट क्यों? मुख्य वक्ता सीएमएचओ डॉ. नरेश बंसल ने कार्यक्रम में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 06:05 AM IST

सीएमएचओ बोले- बेटी पर इतनी पाबंदी तो बेटों को छूट क्यों?

मुख्य वक्ता सीएमएचओ डॉ. नरेश बंसल ने कार्यक्रम में अंगदान के बोर में कहा, विज्ञान ने काफी प्रगति कर ली लेकिन अब तक मानव अंग निर्माण में सफल नहीं हो पाए हैं इसलिए अंगदान ही एकमात्र विकल्प है। उन्होंने बेटी बचाने और पढ़ाने पर बल दिया। डॉ. बंसल ने कहा- कन्या भ्रूण हत्या अर्बन एरिया में सबसे ज्यादा होती है और ऐसा कराने वालों में पढ़े लिखे सबसे अधिक हैं। कहा, बेटी अगर बाजार जाने का कहे तो आठ साल के भाई की अंगुली थमाकर भेजते हैं तो बेटों से भी देर तक बाहर रहने का कारण पूछिए।

एडिशनल एसपी ने कहा- हजारों साल से है अंगदान की परंपरा

एडिशनल एसपी सुरेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि अंगदान की परंपरा हजारों सालों से चली आ रही है। कहा, ब्रेन डेड के बाद लोग अपने परिजन के अंगदान कर उन्हें अमर बनाने का काम कर सकते हैं। अब जरूरत के हिसाब से हमें अधिक से अधिक अंगदान करना और कराना चाहिए। एएसपी ने इसके साथ ही बच्चों को सेफ ड्राइव के लिए प्रेरित किया। कहा, जॉय राइडिंग बिल्कुल मत कीजिए, क्योंकि अब ऐसा करने वालों के अभिभावकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। एएसपी ने अन्य देशों में लाइसेंस बनने की प्रक्रिया भी बताई कि वहां लाइसेंस कितनी कठिनता से मिलते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×