Hindi News »Rajasthan »Nagour» मेन से एडवांस्ड में रजिस्ट्रेशन में 5 साल की सबसे बड़ी गिरावट, 70 हजार स्टूडेंट‌्‌स नहीं देंगे एग्जाम

मेन से एडवांस्ड में रजिस्ट्रेशन में 5 साल की सबसे बड़ी गिरावट, 70 हजार स्टूडेंट‌्‌स नहीं देंगे एग्जाम

जेईई मेन से एडवांस्ड में क्वालिफाई करने के बावजूद इस साल 70 हजार 308 स्टूडेंट्स ने आईआईटी का एंट्रेंस एग्जाम ड्राॅप...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 06:15 AM IST

जेईई मेन से एडवांस्ड में क्वालिफाई करने के बावजूद इस साल 70 हजार 308 स्टूडेंट्स ने आईआईटी का एंट्रेंस एग्जाम ड्राॅप किया है। जेईई मेन्स के स्कोर के आधार पर आईआईटी ने 2 लाख 31 हजार 24 स्टूडेंट्स को एडवांस्ड के लिए क्वालिफाई किया था। इनमें से 1 लाख 60 हजार 716 ने ही एडवांस्ड का फाॅर्म भरा है। पिछले 3 साल से आईआईटी मेन से एडवांस्ड के लिए क्वालिफाई करने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ा रही है, जिससे आईआईटी के लिए ज्यादा कॉम्पीटिशन हो और अच्छे स्टूडेंट्स आएं। अब आईआईटी की प्रत्येक सीट पर 21 की जगह 14 स्टूडेंट्स के बीच ही कॉम्पीिटशन रह जाएगा।

साल 2015 के बाद से हर साल आईआईटी ने मेन से एडवांस्ड में क्वालिफाई करने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ाई है। इससे पहले तक मेन से एडवांस्ड में 1.50 लाख ही क्वालीफाई करते थे। इसके बाद साल 2016 में 50 हजार अधिक स्टूडेंट्स को क्वालिफाई करने यह कोटा 2 लाख तक किया। साल 2017 में 20 हजार स्टूडेंट्स बढ़ाकर यह संख्या 2.20 लाख तक पहुंचाई। इस साल 4 हजार स्टूडेंट्स की बढ़ोतरी की गई।

आईआईटी की एक सीट पर 14 स्टूडेंट्‌स में होगा कॉम्पीिटशन

कितना है क्वालिफाइंग कोटा और कितने देते हैं एडवांस्ड

2014

2015

2016

2017

2018

अपीयर होने वाले स्टूडेंट‌्‌स की संख्या लाख में। साल 2018 में अभी अपीयर हाेने वालों की संख्या आनी है। आंकड़े आईआईटी द्वारा तय कोटा के अनुसार

यह है सबसे महत्वपूर्ण कारण

1.50

क्वािलफाई

1.50

क्वािलफाई

2.00

क्वािलफाई

2.20

क्वािलफाई

2.31

क्वािलफाई

1.27

अपीयर

1.17

अपीयर

1.56

अपीयर

1.59

अपीयर

1.60

रजिस्ट्रेशन

आईआईटी के नियम के अनुसार स्टूडेंट्स को एडवांस्ड देने के 2 मौके मिलते हैं। वहीं, मेन के 3 अटेंप्ट मिलते हैं। स्टूडेंट अगर तीसरी बार मेन क्लियर भी कर ले तो भी वह एडवांस्ड नहीं दे सकता। इसके चलते बहुत से स्टूडेंट्स अपना एडवांस्ड का मौका बेकार नहीं करना चाहते। इसकी बजाय स्टूडेंट्स मेन की रैंक के आधार पर एनआईटी में एडमिशन लेते हैं। एडवांस्ड के लिए अगले साल तैयारी करते हैं। वहीं, तीसरी बार मेन देने वाले स्टूडेंट्स भी एडवांस्ड के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकते।

23

अंतर

33

किस कैटेगरी के कितने स्टूडेंट्स ने किया



हजार

हजार

अंतर

46

हजार

अंतर

61

हजार

अंतर

70

अंतर

एडवांस्ड का रजिस्ट्रेशन

सेंटर पर जारी होंगे प्रोविजनल प्रवेश पत्र

आईआईटी कानपुर की ओर से जारी सूचना के अनुसार जिन स्टूडेंट्स का फीस का प्रोसेस पूरा नहीं हुआ है, उनको प्रोविजनल एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा। इसके उनको एग्जाम के दिन सेंटर पर जनरल, ओबीसी एनसीएल को 3100 व अन्य सभी कैटेगरी को 1800 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट सेंटर पर सबमिट करना होगा। यह ड्राफ्ट ऑर्गनाइजिंग चेयरमैन जेईई एडवांस्ड पे-बल एट कानपुर के नाम से बनाया जाएगा। अगर प्रोविजनल एडमिट कार्ड वालों को किसी प्रकार के दस्तावेज अपलोड करने की आवश्यकता होगी तो आईआईटी उनसे कम्युनिकेट करेगी। यह दस्तावेज एग्जाम के बाद और पांच जून से पहले जमा करवाने होंगे। एडवांस्ड 20 मई को हाेगा। इस कारण थाेड़ी बहुत स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ सकती है।

हजार

...इधर बढ़ रहा हैकाउंसलिंग काल का आंकड़ा

27151

26456

2014

36566

2015

50455

2016

2017

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×