Hindi News »Rajasthan »Nagour» चुनाव से पहले जयपुर से बाहर नहीं भेजे जाएंगे जयपुर के पुलिसकर्मी

चुनाव से पहले जयपुर से बाहर नहीं भेजे जाएंगे जयपुर के पुलिसकर्मी

चुनावों से पहले अब जयपुर कमिश्नरेट में तैनात पुलिसकर्मियों का तबादला जयपुर जिले से बाहर नहीं होगा। पुलिस...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 06:15 AM IST

चुनावों से पहले अब जयपुर कमिश्नरेट में तैनात पुलिसकर्मियों का तबादला जयपुर जिले से बाहर नहीं होगा। पुलिस मुख्यालय ने इस संबंध में चुनाव आयोग को एक प्रस्ताव भेजा है। आयोग से स्वीकृति मिलने के बाद ऐसे पुलिसकर्मियों का जयपुर कमिश्नरेट में ही इधर-उधर चारों जिलों व ट्रैफिक पुलिस में तबादला कर दिया जाएगा। इस संबंध में 2 अप्रैल को चुनाव आयोग व पुलिस अधिकारियों की एक मीटिंग भी हो चुकी है। प्रस्ताव में सिर्फ जयपुर कमिश्नरेट क्षेत्र में ही यह छूट चाही गई है, बाकी रेंज में चुनाव आयोग के नियम यथावत रहेंगे। पुलिस अफसरों द्वारा भेजे गए प्रस्ताव में माना है कि जयपुर कमिश्नरेट में पुलिस के चार जिले हैं और 56 पुलिस थाने हैं। ऐसे में कमिश्नरेट प्रणाली को रेवेन्यू जिले में शामिल नहीं किए जाए। जयपुर कमिश्नरेट क्षेत्र को चार जिले माना जाए ताकि चुनाव से पहले एक-दूसरे जिले में तबादले किए जा सकें। मुंबई, कोलकत्ता व अहमदाबाद में चुनाव आयोग की तबादलों की पॉलिसी लागू नहीं होती है।

आयोग की मंजूरी नहीं मिली तो जयपुर से बाहर जाएंगे 50 फीसदी पुलिसकर्मी

इस प्रस्ताव को मंजूरी नहीं मिली तो जयपुर कमिश्नरेट के 56 पुलिस थानों में तैनात 63 इंस्पेक्टर और 162 सब इंस्पेक्टर चुनाव आयोग की पॉलिसी के तहत जयपुर जिले से बाहर भेजे जाएंगे। इसके अलावा सैकड़ों एएसआई, हैडकांस्टेबल व कांस्टेबल स्तर के पुलिसकर्मियों का जयपुर कमिश्नरेट में ही जिला बदल दिया जाएगा। शहर के आधे से ज्यादा थानों में नए इंस्पेक्टर व एसआई स्तर के पुलिसकर्मियों के लगाने से कानून व्यवस्था पर प्रभाव पड़ेगा। विशेषज्ञों का मानना है कि जयपुर कमिश्नरेट में आने वाले पुलिसकर्मियों को कानून व्यवस्था को समझने और क्राइम कंट्रोल करने में समय लग जाता है। ऐसे पुलिसकर्मियों को जयपुर कमिश्नरेट की समस्याओं और कानून व्यवस्थाओं की जानकारी नहीं होती है। ऐसे में जयपुर कमिश्नरेट ने प्रस्ताव भेजकर पुलिसकर्मियों के तबादलों में रियायत मांगी है।

जयपुर कमिश्नरेट में चार जिले है। चुनाव आयोग के नियमों के आधार पर ऐसे में यहां पर काफी संख्या में तबादले होंगे। इससे कई समस्या भी सामने आती है। पुलिसकर्मियों का कमिश्नरेट में ही एक जिले से दूसरे जिले में ही तबादला कर दिया जाएगा। इसके लिए पुलिस मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा है कि रेवेन्यू जिला नहीं माने। - नितिनदीप ब्लग्गन, एडिशनल पुलिस कमिश्नर, जयपुर

अभी प्रस्ताव नहीं मिला

जयपुर कमिश्नरेट को लेकर ऐसा कोई मसला चलने की चर्चा चल रही है। लेकिन अभी तक उनका हमारे पास कोई प्रस्ताव नहीं आया है। प्रस्ताव आने के बाद चुनाव आयोग को भेज देंगे। - अश्वनी भगत, मुख्य निर्वाचन अधिकारी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×