--Advertisement--

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी शहर के 500 साल पुराने चिंतामणि पार्श्व नाथ जैन मंदिर की खुदाई में बीती रात 1479 में एकल...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 06:20 AM IST
भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी

शहर के 500 साल पुराने चिंतामणि पार्श्व नाथ जैन मंदिर की खुदाई में बीती रात 1479 में एकल मार्बल पत्थर से निर्मित मूर्ति निकली है। फौरी तौर पर इसे भगवान महावीर की मूर्ति बताया जा रहा है मगर जैन समाज के लोग यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि आखिर ये किस भगवान की मूर्ति है। फिलहाल मूर्ति को सब्जी मंडी स्थित जैन मंदिर पेढ़ी में रखा गया है। मूर्ति निकलने की सूचना मिलने पर लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई।

जैन मूर्तिपूजक संघ के सचिव धनपत मल सिंघवी ने बताया कि दो दिन पहले ही लोढ़ों की पोल में स्थित 500 साल पुराने चिंतामणि पार्श्व नाथ जैन मंदिर का जीर्णोद्धार शुरू कराया गया है। इस मंदिर को हटवाकर इसकी 11 फीट गहरी नींव खुदाई गई है। विगत दिवस यहां पूरी रात नींव की खुदाई का कार्य चला। इस बीच मध्य रात्रि डेढ़ बजे के करीब खुदाई में योग मुद्रा में बैठी एक मार्बल की मूर्ति निकली। मूर्ति किस भगवान की है यह पता नहीं चला है मगर फौरी तौर पर इसे भगवान महावीर की मूर्ति माना गया है।

खुदाई में मूर्ति निकलते ही लोढ़ों की पोल में भगवान महावीर के जयकारे गूंज उठे। लोग रात को घरों से निकलकर मूर्ति के दर्शन करने लगे। इस दौरान मूर्तिपूजक संघ के अध्यक्ष रमेश तातेड़, उत्तम सेठिया, उत्तम कोठारी, दिनेश तातेड़ सहित अनेक लोग मौजूद थे। बताया जा रहा है कि मूर्ति मार्बल की एकल पत्थर की बनी हुई है। इसे सब्जी मंदिर स्थित जैन पेढ़ी मंदिर में रखा गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..