Hindi News »Rajasthan »Nagour» स्पिनफैड के सरप्लस सहायक कर्मचारियों को अभियोजन विभाग में मिलेगी नौकरी

स्पिनफैड के सरप्लस सहायक कर्मचारियों को अभियोजन विभाग में मिलेगी नौकरी

पॉलिटिकल रिपोर्टर. जयपुर | बंद हो चुकी स्पिनफैड के सहायक कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर है। राज्य सरकार ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 17, 2018, 06:55 AM IST

पॉलिटिकल रिपोर्टर. जयपुर | बंद हो चुकी स्पिनफैड के सहायक कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर है। राज्य सरकार ने कर्मचारियों की सहमति पर अभियोजन निदेशालय के विभिन्न कार्यालयों में रिक्त चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पदों पर एडजस्ट करने का निर्णय किया है। गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया की अध्यक्षता में बुधवार को सचिवालय में हुई बैठक में इसके निर्देश जारी किए गए। कटारिया ने निचली अदालतों में सजा के प्रतिशत में गिरावट पर चिंता जताई। आईपीसी प्रकरणों में सजा का प्रतिशत 62 से गिरकर 59 प्रतिशत आ गया है। वहीं, सभी धाराओं में सजा का प्रतिशत 89 प्रतिशत आ गया है, जो पिछले साल के औसत से दो प्रतिशत कम है।

गृह मंत्री कटारिया को बताया गया कि निदेशालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के 434 पद रिक्त हैं। उन्होंने कहा कि स्पिनफैड के कर्मचारियों से अधिकतम रिक्त पदों को भरा जाए। इसके बावजूद पद रिक्त रहते हैं तो उनके लिए नियमानुसार भर्ती की जाए। कटारिया ने बताया कि प्रदेश में 16 स्थानों पर अभियोजन कार्यालय है और दो स्थानों पर निर्माण कार्य चल रहा है। अन्य जिलों में जहां कार्यालय बनाने के लिए जमीन उपलब्ध नहीं है वहां जमीन आवंटित करवाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए अतिरिक्त निदेशक महेंद्र कुमार को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

दो विधायकों ने दस-दस लाख देने पर सहमति दी

गृहमंत्री कटारिया ने अधिकारियों से कहा कि जिन स्थानों पर जमीन उपलब्ध है वहां भवन निर्माण के आने वाले खर्च के लिए स्थानीय विधायकों को तैयार करें। ताकि, जल्द से जल्द भवनों का निर्माण करवाया जा सके। कटारिया की पहल पर भवन निर्माण के लिए सांभरलेक में भाजपा विधायक निर्मल कुमावत और नोहर के लिए अभिषेक मटोरिया ने विधायक कोष से दस-दस लाख रुपए दिए जाने पर सहमति दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×