• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nimod News narendranand maharaj who came to nimod from kashi said that due to incomplete knowledge of man the fall in our culture
--Advertisement--

काशी से निमोद पहुंचे नरेंद्रानंद महाराज, बोले-मनुष्य में अधूरा ज्ञान होने से हमारी संस्कृति में आ रही गिरावट

Nagour News - गांव निमोद में चल रही गौ कृपा कथा में काशी से आए महाराज ने कथा का वाचन किया। काशी से आए सुमेरू पीठाधीश्वर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:30 AM IST
Nimod News - narendranand maharaj who came to nimod from kashi said that due to incomplete knowledge of man the fall in our culture
गांव निमोद में चल रही गौ कृपा कथा में काशी से आए महाराज ने कथा का वाचन किया। काशी से आए सुमेरू पीठाधीश्वर नरेन्द्रानंद महाराज ने कहा की परेशानियां तो हर कार्य में आती है आप सांसारिक जीवन जी रहे हो। गाय सनातन युग से हमारी सांस्कृतिक धरोहर है तथा गाय के पालने मात्र से अनेक रोगों से मुक्ति मिलती है फिर उसका दूध, दही, छाछ, घी तो अमृत के समान हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान युग में देखा गया है कि मनुष्य श्वान पालने व उसे घुमाने ले जाने में अपनी शान समझता है पर गाय को घुमाने व पालने में अपने आप को शर्मिंदगी महसूस करता है जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि पालना है तो गाय को पाले जिससे घरों में उनकी महिमा समझकर हमारे बच्चों व आगामी पीढ़ी में संस्कृति से जुड़ाव रहे। महाराज ने कहा कि मनुष्य का अधूरा ज्ञान होने के कारण ही आज हमारी संस्कृति में गिरावट आ रही है किसी के साथ तर्क करें तो पूरे ज्ञान के साथ करें। चर्मरोगों की रोकथाम के लिए महाराज ने बताया कि नहाते वक्त बाल्टी में थोड़ा गौमूत्र डालकर नहाने से चर्म रोग से मुक्ति मिलती है।

गौ माता की सेवा से पापों का नाश होता है। गौशाला अध्यक्ष भूराराम कूदणा ने कहा कि कथा का रविवार को समापन होगा।

मौलासर. निमोद पहुंचने पर ग्रामीणों ने किया महाराज का स्वागत।

भास्कर संवाददाता| मौलासर

गांव निमोद में चल रही गौ कृपा कथा में काशी से आए महाराज ने कथा का वाचन किया। काशी से आए सुमेरू पीठाधीश्वर नरेन्द्रानंद महाराज ने कहा की परेशानियां तो हर कार्य में आती है आप सांसारिक जीवन जी रहे हो। गाय सनातन युग से हमारी सांस्कृतिक धरोहर है तथा गाय के पालने मात्र से अनेक रोगों से मुक्ति मिलती है फिर उसका दूध, दही, छाछ, घी तो अमृत के समान हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान युग में देखा गया है कि मनुष्य श्वान पालने व उसे घुमाने ले जाने में अपनी शान समझता है पर गाय को घुमाने व पालने में अपने आप को शर्मिंदगी महसूस करता है जो सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि पालना है तो गाय को पाले जिससे घरों में उनकी महिमा समझकर हमारे बच्चों व आगामी पीढ़ी में संस्कृति से जुड़ाव रहे। महाराज ने कहा कि मनुष्य का अधूरा ज्ञान होने के कारण ही आज हमारी संस्कृति में गिरावट आ रही है किसी के साथ तर्क करें तो पूरे ज्ञान के साथ करें। चर्मरोगों की रोकथाम के लिए महाराज ने बताया कि नहाते वक्त बाल्टी में थोड़ा गौमूत्र डालकर नहाने से चर्म रोग से मुक्ति मिलती है।

गौ माता की सेवा से पापों का नाश होता है। गौशाला अध्यक्ष भूराराम कूदणा ने कहा कि कथा का रविवार को समापन होगा।

इधर, प्रबलजी महाराज के निधन पर श्रद्धांजलि सभा

जसवंतगढ़| स्थानीय सूरजमल तापड़िया आचार्य संस्कृत महाविद्यालय एवं मोहरी देवी तापड़िया कन्या महाविद्यालय में संत श्री प्रबल जी महाराज का निधन होने पर शोक सभा का आयोजन मंत्रोच्चारण के साथ किया गया।

इस शोक सभा में श्रद्धा सुमन अर्पित की गई। कॉलेज आचार्य डॉ. हेमंत कृष्ण मिश्र ने उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। सनातन धर्म के प्रति उनके उल्लेखनीय कर्मों का उल्लेख किया। सामाजिक कार्यकर्ता पवन कुमार भंडारी ने बताया कि धर्म सम्राट स्वामी करपात्री जी महाराज के परम शिष्य धर्म धुरंधर, यज्ञ सम्राट, अखिल भारतीय रामराज परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रबल जी महाराज का गत दिनों मुम्बई में निधन हो गया।

स्वामी करपात्री जी के सपनों को साकार करने के लिए उनके द्वारा किए गए उद्घोष धर्म की जय हो, अधर्म का नाश हो, प्राणियों में सद्भावना हो, विश्व का कल्याण हो, भारत अखंड हो, गौ हत्या बंद हो के लिए आजीवन संघर्ष करते रहे। श्रद्धांजलि सभा में हरि कृष्ण असावा, वैध रमेश पारीक, हेमराज सोनी, पूर्व सरपंच कन्हैयालाल प्रजापत, अंजनी कुमार सारस्वत, दिनेश पाराशर ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। महाविद्यालय की प्राचार्य अलका शर्मा ने प्रबल महाराज के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि ऐसे संत के आचरण एवं बताए गए मार्ग पर चलना चाहिए।

X
Nimod News - narendranand maharaj who came to nimod from kashi said that due to incomplete knowledge of man the fall in our culture
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..