पासपोर्ट सेवा केंद्र पर 679 दिनों में बने 13 हजार पासपोर्ट

Nagour News - डाक विभाग व विदेश मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में राजस्थान के छठे पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र नागाैर का...

Feb 15, 2020, 10:25 AM IST

डाक विभाग व विदेश मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में राजस्थान के छठे पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र नागाैर का फायदा स्थानीय लोगों को मिलने लगा है। एक साल 11 महीने में अब तक करीब 13 हजार पासपोर्ट बनाए जा चुके हैं। इससे युवाओं को रोजगार में सबसे अधिक फायदा मिला है। इससे समय और संसाधन दोनों की बचत हुई है।

नागौर और आसपास के कई गांवों से लोग विदेश जाने के लिए आवेदन देते रहते हैं। इसके लिए उन्हें जोधपुर और जयपुर जैसे बड़े शहरों के चक्कर काटने पड़ते थे। लेकिन अब शहर के बीचो- बीच पासपोर्ट केंद्र खुल जाने से युवाओं के साथ धार्मिक यात्रा हज करने वालों को भी फायदा मिला है। पासपोर्ट आवेदन की सबसे ज्यादा मांग बासनी और शेरानी आबाद से है। इसी के साथ ही लाडनूं, नोखा, थांवला, रियांबड़ी, पादूकलां, चुरु से भी आवेदन आया करते है।

जानकारी अनुसार गांधी चौक स्थित पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र के सहित प्रदेश में कुल 6 ऑनलाइन लाइन केंद्र हैं। जिनमें बांसवाड़ा, चितौड़गढ़, अजमेर, अलवर व नागौर भी शामिल है। कर्मचारी मांगीलाल विश्नोई ने बताया कि आवेदन कर्ता को ऑनलाइन आवेदन करने के बाद आगे की प्रक्रिया के लिए पासपोर्ट सेवा केंद्र पर अपॉइंटमेंट की दिनांक व समय मिल जाता है। जहां पर पासपोर्ट प्रक्रिया को पुरी करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की प्रतिलिपि व ऑरिजनल दस्तावेज ले जाने पड़ते हैं। जिनका वहां सत्यापन किया जाता है जो कि एक इमिग्रेशन प्रक्रिया है। इसी के साथ ही पुलिस वेरिफिकेशन प्रक्रिया भी शुरू हो जाती है।

किसी भी गलत दस्तावेज या पुलिस जांच कार्यवाही में गड़बड़ी नहीं पाए जाने पर ही पासपोर्ट आवेदन कर्ता को दस्तावेजों में दिए गए पते पर पासपोर्ट को पहुंचा दिया जाता है। इन दस्तावेजों में आइडेंटिटी प्रुफ, रेजिडेंस प्रुफ, डेट ऑफ बर्थ प्रुफ, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड आदि जैसे दस्तावेज दिए जाने होते हैं।

हर दिन 40 से ज्यादा आवेदन आते हैं सेवा केंद्र पर

पासपोर्ट इंचार्ज अधिकारी नरेश कुमार ने बताया कि 26 फरवरी 2018 को शुभारंभ हुए इस पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र में अब तक 13 हजार पासपोर्ट बनाए जा चुके हैं। दिनभर में पासपोर्ट के लिए लगभग 40 से ज्यादा आवेदन आते हैं। हज यात्रियों या धार्मिक यात्रा, जॉब करने वाले तथा मेडिकल या अन्य पढ़ाई के लिए बाहर जाने वाले विद्यार्थियों आवेदन कर रहे हैं। नागौर में पासपोर्ट केंद्र की लंबे समय से मांग के कारण अब जयपुर व जोधपुर जाने की आवश्यकता नहीं रही। ऑनलाइन आवेदन के बाद आवेदक को फिंगर प्रिंट्स फोटो तथा दस्तावेज वेरिफिकेशन के लिए पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र में ही सुविधा मुहैया कराई गई।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना