पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Nagaur News Rajasthan News Accused Of Raping A Minor Life Imprisonment Fined Rs 3 Lakh

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को आजीवन कठोर कारावास, 3 लाख का जुर्माना लगाया

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी (आंचलिक)

मेड़ता न्यायालय (पोक्सो) न्यायाधीश रेखा राठौड़ ने एक नाबालिग के साथ में दुष्कर्म के मामले में एक आरोपी को आजीवन कारावास की सजा एवं तीन लाख रुपए के अर्थ दंड से दंडित किया है। एक अन्य नाबालिग होने के कारण मामला किशोर न्याय बोर्ड नागौर में विचाराधीन है। अभियोजन पक्ष के अनुसार गोटन पुलिस थाने में 4जून 2017 को पीड़िता के चाचा ने प्राथमिकी दर्ज कराई कि 2 जून 2017 को शाम 7 बजे मेरी भतीजी शौच करने की बात कह कर घर से निकली थी। काफी देर तक घर नहीं पहुंची। जब उसकी तलाश की गई तो वह जोगीमगरा से मेड़ता रोड की तरफ जाने वाली रेलवे ट्रैक पर बेहोशी की हालत में मिली। जिसका गोटन राजकीय चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार करवाएं जाने के बाद में जोधपुर रेफर कर दिया गया। जिसे होश आने पर रामवतार पुत्र त्रिलोकराम पर इस कृत्य करने की जानकारी देते हुए बताया कि जब घर से शौच के लिए बाहर निकली तो रामवतार मोटरसाइकिल पर मिला। मुझे जबरदस्ती मोटरसाइकिल पर बैठा लिया व डर के मारे बेहोश हो गई। उसे होश आया तो उसके शरीर पर चोटें थी तथा रेलवे पटरियों के पास पड़ी रही। इस पर पुलिस ने मामला धारा 363, 323 में दर्ज कर अनुसंधान आरंभ किया। पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध न्यायालय में चालान पेश किया। बाद में आरोपी जमानत पर रिहा हो गया। न्यायालय में मामले के विचाराधीन रहते पीड़िता के 164 में बयान कलमबद्ध किए गए। इस पर आरोपी के विरूद्ध पॉक्सो एक्ट में अपराध दर्ज किया गया। मामले में 20 गवाहों के बयान लिए गए। पॉक्सो न्यायालय के न्यायाधीश रेखा राठौड़ ने मामले में दोनों पक्षों की सुनवाई करते हुए आरोपी के आरोपित धाराओं में दोष सिद्ध होने पर आजीवन कठोर कारावास एवं तीन लाख रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। दूसरा आरोपी नाबालिग होने के कारण किशोर न्याय बोर्ड नागौर में विचाराधीन है। परिवादी पैरवी विशिष्ट लोक अभियोजक सुमेर बेड़ा एवं रज़ब अली ने की।

खबरें और भी हैं...