बजरी माफिया से वसूली के आरोप में बड़ी खाटू एसएचओ और कांस्टेबल लाइन हाजिर

Nagour News - बजरी से भरे वाहनों से अवैध वसूली के आरोप में खाटू बड़ी एसएचओ फूलचंद और एक कांस्टेबल हरिराम लाइन हाजिर कर दिए गए है।...

Dec 04, 2019, 11:15 AM IST
Nagaur News - rajasthan news big khatu sho and constable line spot on charges of recovery from gravel mafia
बजरी से भरे वाहनों से अवैध वसूली के आरोप में खाटू बड़ी एसएचओ फूलचंद और एक कांस्टेबल हरिराम लाइन हाजिर कर दिए गए है। इस संबंध में मामले की जांच नागौर सीओ को सुपुर्द की गई है। सूत्रों के अनुसार इस संबंध में पुलिस अधीक्षक के पास शिकायत कर्ता ने आकर शिकायत की थी। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। यह वसूली का काम एक निजी होटल पर किया जाता था जिसके बाद बजरी से भरे वाहनों को बिना रोक टोक आने जाने की अनुमति मिल रही थी इसके अलावा पुलिस मुख्यालय के आदेशों के अनुसार पुलिस अकेले कार्रवाई नहीं करेगी इसमें अन्य विभाग भी शामिल होंगे लेकिन खाटू बड़ी पुलिस थाना प्रभारी ने अकेले ही कार्रवाई की। जो संदिग्ध थी। जिसके बाद शिकायतकर्ता ने एसपी से शिकायत कर दी।

जांच में सामने आया कि शिकायत सही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार एसएचओ खुद की गलतियांे के कारण ही शक के दायरे में आए। इसके बाद जांच शुरू की गई तो सारी कहानी सामने आ गई। इसके बाद मंगलवार को लाइन हाजिर करने की कार्रवाई की गई।

एसएचअाे फूलचंद

पुलिस मुख्यालय के आदेश तक नहीं माने, पुलिस को अकेले कार्रवाई नहीं करने के आदेश हैं, फिर भी कार्रवाई जारी रखी

जानकारी के अनुसार पुलिस मुख्यालय के आदेश थे कि पुलिस की ओर से अकेले कार्रवाई नहीं की जाएगी। यह आदेश सभी एसएचओ काे जारी किए गए थे। ऐसा इसलिए किया गया था क्योंकि पुलिस दल की कार्रवाई को लेकर आमजन में गलत धारणा बन रही थी। इसके बाद पुलिस ने माइनिंग के साथ मिलकर कई कार्रवाईयां की। लेकिन खाटू बड़ी थाना क्षेत्र की कार्रवाईयाें को लेकर शिकायतें आ रही थी। जिसमें एक शिकायत में बताया गया कि पुलिस वहां पर अकेले कार्रवाई कर रही है और एक निजी होटल पर वसूली का धंधा चलता है। जांच के बाद सामने आया कि यह प्रकरण रूटीन या सामान्य नहीं है। क्योंकि शिकायतकर्ता ने कुछ तथ्य भी सामने रखे जिससे इनकार नहीं किया जा सकता था। शिकायत कर्ता ने पत्र में कहा कि पुलिस की कार्रवाई की जांच की जानी चाहिए। जो संदिग्ध है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से भी नजर रखी गई। जिसके बाद पूरी कहानी का खुलासा हो गया। अब पुलिस अधीक्षक डॉ. विकास पाठक की ओर से कार्रवाई की गई है।

थाने में बजरी से भरे डंपर जब्त किए गए। फोटो-प्रतीकात्मक

सीओ नागौर को दी गई है मामले की प्राथमिक जांच

पुलिस अधीक्षक डॉ. विकास पाठक ने एसएचओ फूलचंद और कांस्टेबल हरिराम को लाइन हाजिर किया है। एसपी पाठक ने बताया कि दोनों की बजरी परिवहन को लेकर शिकायत मिली थी। जिसके बाद इस मामले की जांच एएसपी से कराई गई। जांच अनियमितताओं की ओर इंगित कर रही थी। जिसके बाद लाइन हाजिर की कार्रवाई की गई। मामले की जांच अब सीओ नागौर करेंगे।

सबसे ज्यादा अवैध बजरी परिवहन इसी रास्ते से

जैतारण-निंबी जोधा एनएच-458 पर रियांबड़ी क्षेत्र से आने वाली बजरी का सर्वाधिक अवैध परिवहन होता है। इस मार्ग पर पादूकलां थाने के बाद डेगाना थाना क्षेत्र और खाटूबड़ी थाना क्षेत्र से रात भर अवैध बजरी से भरे डंपर निकलते रहते है। जो परेशानी का सबब बने हुए है। इनकी संख्या रोजाना 200 तक है। शिकायतकर्ता ने भी वसूली का आंकड़ा दिया है।

Nagaur News - rajasthan news big khatu sho and constable line spot on charges of recovery from gravel mafia
X
Nagaur News - rajasthan news big khatu sho and constable line spot on charges of recovery from gravel mafia
Nagaur News - rajasthan news big khatu sho and constable line spot on charges of recovery from gravel mafia
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना