बच्चों की परवरिश बेहतर तरीके से करें तो भविष्य उज्जवल हो सकता है- मौलाना हाशमी

Nagour News - शहर के गौड़ा बास स्थित इमाम चौक में 11वीं के मौके पर जश्‍ने गोसूलवरा कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य...

Dec 10, 2019, 09:51 AM IST
Makrana News - rajasthan news if raising children in a better way the future can be bright maulana hashmi
शहर के गौड़ा बास स्थित इमाम चौक में 11वीं के मौके पर जश्‍ने गोसूलवरा कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि कर्नाटक से आए मौलाना सैयद तनवीर हाशमी ने तकरीर पेश करते हुए कहा कि अपने बच्चों को उच्च शिक्षित बनाना मां- बाप का फर्ज होता है। उन्होंने कहा कि बच्चों की परवरिश बेहतर तरीके से की जाए तो उनका भविष्य उज्जवल हो सकता है। मौलाना हाशमी ने कहा कि आज के समय में इंसान अच्छाई के मार्ग को छोड़ बुराई के मार्ग पर चलता जा रहा है, जिससे दुनिया में इंसानियत खत्म होती जा रही है। उन्होंने बड़े पीर अब्दुल कादिर जिलानी के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने इंसानियत को जिंदा रखा। हमें भी उनके बताए रास्ते पर चलना चाहिए। जलसे की अध्यक्षता कर रहे सुन्नी लगनशाह मस्जिद के इमाम मौलाना गुलाम सैयद अली ने तकरीर करते हुए कहा कि सच का रास्ता कठिन होता है। इंसान के सामने अनेक कठिनाइयां आती है परंतु इंसान सच्चे एवं साफ मन से इस पर चले तो हर मुश्किल आसान हो जाती है। उन्होंने कहा कि इंसान को हमेशा सत्य के मार्ग पर चलकर जिंदगी बसर करनी चाहिए। इस दौरान तकरीर, नात ए मुस्तफा व मनकवत पेश की गई। जलसे की शुरूआत कुरआन की तिलावत के साथ की गई। अंत में दुआ के बाद सलाम पढ़ा गया। जलसे में इमाम अबरार अली अशरफी, इमाम मोहम्मद रिजवान, इमाम साजिद अली, इमाम मोहम्मद हुसैन, इमाम साबिर अली, इमाम मोहम्मद अकरम सहित अनेक उलेमा व शहर के गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

मकराना. जलसे में उपस्थित मकराना के लोग।

भास्कर संवाददाता| मकराना

शहर के गौड़ा बास स्थित इमाम चौक में 11वीं के मौके पर जश्‍ने गोसूलवरा कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि कर्नाटक से आए मौलाना सैयद तनवीर हाशमी ने तकरीर पेश करते हुए कहा कि अपने बच्चों को उच्च शिक्षित बनाना मां- बाप का फर्ज होता है। उन्होंने कहा कि बच्चों की परवरिश बेहतर तरीके से की जाए तो उनका भविष्य उज्जवल हो सकता है। मौलाना हाशमी ने कहा कि आज के समय में इंसान अच्छाई के मार्ग को छोड़ बुराई के मार्ग पर चलता जा रहा है, जिससे दुनिया में इंसानियत खत्म होती जा रही है। उन्होंने बड़े पीर अब्दुल कादिर जिलानी के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने इंसानियत को जिंदा रखा। हमें भी उनके बताए रास्ते पर चलना चाहिए। जलसे की अध्यक्षता कर रहे सुन्नी लगनशाह मस्जिद के इमाम मौलाना गुलाम सैयद अली ने तकरीर करते हुए कहा कि सच का रास्ता कठिन होता है। इंसान के सामने अनेक कठिनाइयां आती है परंतु इंसान सच्चे एवं साफ मन से इस पर चले तो हर मुश्किल आसान हो जाती है। उन्होंने कहा कि इंसान को हमेशा सत्य के मार्ग पर चलकर जिंदगी बसर करनी चाहिए। इस दौरान तकरीर, नात ए मुस्तफा व मनकवत पेश की गई। जलसे की शुरूआत कुरआन की तिलावत के साथ की गई। अंत में दुआ के बाद सलाम पढ़ा गया। जलसे में इमाम अबरार अली अशरफी, इमाम मोहम्मद रिजवान, इमाम साजिद अली, इमाम मोहम्मद हुसैन, इमाम साबिर अली, इमाम मोहम्मद अकरम सहित अनेक उलेमा व शहर के गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

जलसे में तकरीर करते हुए मुख्य अतिथि मौलाना।

Makrana News - rajasthan news if raising children in a better way the future can be bright maulana hashmi
X
Makrana News - rajasthan news if raising children in a better way the future can be bright maulana hashmi
Makrana News - rajasthan news if raising children in a better way the future can be bright maulana hashmi
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना