लोक अदालत पुरातन पंच परमेश्वर का ही नया रूप: न्यायाधीश जाखड़

Nagour News - भास्कर संवाददाता | कुचामनसिटी राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार शनिवार को कुचामन...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 10:05 AM IST
Nawa News - rajasthan news lok adalat new form of god judge jakhar
भास्कर संवाददाता | कुचामनसिटी

राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार शनिवार को कुचामन न्यायक्षेत्र में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन हुआ। इस दौरान आपसी समझाईश से 450 प्रकरणों निस्तारण किया गया। लोक अदालत के लिए गठित बैंच में अध्यक्ष के रूप में सिविल न्यायाधीश धर्मेंद्रसिंह जाखड़ एवं सदस्य के तौर पर एडवोकेट दिनेशसिंह राठौड़ ने कार्य संचालन किया। लोक अदालत में विभिन्न प्रकार के कुल 300 लम्बित मामले और मुकदमा पूर्व स्तर के 716 प्रकरणों समेत कुल 1016 प्रकरण प्रस्तुत किए गए। लोक अदालत की शुरुआत में न्यायाधीश धर्मेंद्रसिंह जाखड़ ने उपस्थित पक्षकारों, अधिवक्ताओं व आमजन को संबोधित करते हुए कहा कि लोक अदालत एक ऐसा मंच है, जहां मुकदमे के पक्षकारों द्वारा समझौते से प्रकरण का निस्तारण कराया जाता है। इससे पक्षकारों के दिलों की खटास दूर होती है। उन्होंने कहा कि लोक अदालत पुरातन पंच परमेश्वर का ही नया रूप है। इसी कारण लोक अदालत का निर्णय अंतिम होता है और इसकी कोई अपील नहीं होती है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष 2019 की द्वितीय राष्ट्रीय लोक अदालत में 450 प्रकरणों का निस्तारण राजीनामे द्वारा किया गया। जिसमें न्यायालय में लंबित 33 प्रकरण एवं प्रि-लिटिगेशन के 417 प्रकरणों का निस्तारण हुआ। इनमें करीब 73 लाख के अवार्ड पारित किए गए। ताल्लुका विधिक सेवा समिति के सचिव कैलाश सैनी ने बताया कि लोक अदालत में खास बात यह है कि इस बार पक्षकारों के न्याय के साथ पर्यावरण के प्रति अपने कर्तव्य का निभाया। उन्होंने न्यायालय परिसर में न्यायाधीश, अधिवक्तागणों के साथ मिलकर पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए पौधरोपण किया। न्यायालय परिसर में अधिवक्तागण व न्यायालय के कर्मचारियों ने एक-एक पौधा गोद लेकर उसकी सार-संभाल की जिम्मेदारी ली गई।

लोक अदालत में पौधे भेंटकर दिया पर्यावरण संरक्षण का दिया गया संदेश

डीडवाना| बरसों से कोर्ट के चक्कर लगा रहे कई लोगों ने शनिवार को न्यायालय में आयोजित लोक अदालत में कुछ ही देर में आपसी रजामंदी से प्रकरणों को निबटाया। कोर्ट से निकलते वक्त लोग खुश थे कि अब उनको कोर्ट में नहीं आना होगा। इस दौरान पति-प|ी के टूटते संबंधों को भी समझाइश कर बचाया गया। लोक अदालत का शुभारंभ ताल्लुका विधिक सेवा समिति डीडवाना के अध्यक्ष व अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश सुरेश चौहान, वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश एवं अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नारायण प्रसाद, बार संघ अध्यक्ष मो. अली शेरानी व बार संघ के अधिवक्तागणों द्वारा पर्यावरण को बचाने के संदेश के साथ किया गया। इस दौरान न्यायाधीश सुरेश चौहान, बार संघ अध्यक्ष मो. अली शेरानी व न्यायाधीश नारायण प्रसाद द्वारा एसबीआई के रीजनल मैनेजर एसएन जांगीड़ मौजूद थे। राष्ट्रीय लोक अदालत बैंच सदस्य राजेन्द्र माथुर, संतोष जाजू, प्रकाश डुकिया ने लंबित प्रकरणों में राजीनामे से निबटाया। इस अवसर पर संजय कुड़ी, दामोदर शर्मा, जितेन्द्र कुमार, शिवपाल सैनी, रेखाराम, ओमप्रकाश गौड़, मुमताज खां, रचना शर्मा उपस्थित थे।

नावां सिटी | राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मेड़ता के निर्देशानुसार द्वितीय राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए अध्यक्ष तालुका विधिक सेवा समिति, सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में लोक अदालत का आयोजन किया गया। अदालत में कुल 52 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। निस्तारण में 18,82,479 रुपए की रिकवरी की गई। तालुका विधिक सेवा समिति नावां द्वारा कोर्ट परिसर में पौधा रोपण किया गया। पौधों की देखभाल के संकल्प भी लिया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत के बैंच अध्यक्ष मदनलाल सहारण आर.जे.एस., ताल्लुका सचिव मनीषकुमार रानावत, गोपाल सिंह राठौड़, अमरचंद पंवार, देवीसिंह सोलंकी बार संघ अध्यक्ष, मनोज मिश्रा, मीना मीणा, पृथ्वीसिंह, राजेन्द्र केसोट, राजेन्द्र शर्मा, रोहित छिपा, ओमप्रकाश गुर्जर का सहयोग रहा।

परबतसर | अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश नीरज कुमार की अध्यक्षता में शनिवार को परबतसर न्यायालय में राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 652 मामले रखे गए। जिसमें 172 प्रकरणों का निस्तारण किया गया तथा 25075584 रुपए का अवाॅर्ड राशि पारित की गई तथा साथ ही दूरसंचार विभाग के बकाया बिलों व बैंक की ऋण वसूली के संबंध में प्री-लिटिगेशन के 385 प्रकरणों का मौके पर ही निस्तारण किया गया तथा 478211 रुपए की अवाॅर्ड राशि पारित की गई। इस प्रकार कुल 1037 प्रकरण लोक अदालत में रखे गए जिनमें से 557 प्रकरणों का निस्तारण किया गया तथा कुल 25553795 रुपए का अवाॅर्ड पारित किया गया। इस मौके पर बार संघ के अधिवक्ता प्रेमप्रकाश जोशी, श्यामसुंदर चौहान, बिरधाराम चौधरी, माधाेप्रसाद व्यास, अरुण कुमार माथुर, जगदीश सिंह बाजवास, प्रवक्ता दीनानाथ योगी, पंकज पुरोहित, अजीज खां, जितेन्द्र बरवड़, रामनिवास दिवाकर, किशन वर्मा, गोपाल पूनियां, अब्दुल मजीद, प्रेमाराम बुगालिया, दिनेश सैनी, सुबरात अली, ऋषि बोहरा, धर्मेंद्र ओझा, सचिव छोटूराम गुर्जर, एस.बी.आई. शाखा परबतसर के शाखा प्रबंधक बालकिशन शर्मा, एस.बी.आई. शाखा बड़ू के शाखा प्रबंधक पी.सी. मीणा, यूको बैंक बिदियाद के शाखा प्रबंधक अमित कुमार दग्दी व ऋण अधिकारी अमितोज भीमवाल व राजस्थान मरूधरा ग्रामीण बैंक शाखा परबतसर के प्रतिनिधीगण लेखराज मीणा, मुकेश कुमार मीणा, विशंभर दयाल मीणा, अनिल कुमार गुप्ता, बी.एस.एन.एल. के कृष्णकांत, राजेन्द्र चौधरी मौजूद रहे।

डीडवाना. राष्ट्रीय लोक अदालत में उपस्थित न्यायाधीश व अधिवक्तागण।

कुचामन सिटी. लोक अदालत में पक्षकारों से समझाइश करते न्यायाधीश।

Nawa News - rajasthan news lok adalat new form of god judge jakhar
X
Nawa News - rajasthan news lok adalat new form of god judge jakhar
Nawa News - rajasthan news lok adalat new form of god judge jakhar
COMMENT