नाबालिग बेच रहे शराब, सेल्समैन बोला: बंधी देते हैं इसलिए रेट ज्यादा

Nagour News - प्रशांत अबोटी/जोधसिंह राठौड़ | नागौर/पांचौड़ी शराब बेचने के लिए माफिया ने 12-15 साल के बच्चों को भी ब्रांच खोल काउंटर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 10:00 AM IST
Nagaur News - rajasthan news minors selling alcohol salesmen say bonds are therefore rated higher
प्रशांत अबोटी/जोधसिंह राठौड़ | नागौर/पांचौड़ी

शराब बेचने के लिए माफिया ने 12-15 साल के बच्चों को भी ब्रांच खोल काउंटर पर बैठा दिया है। वे जाने अंजाने में शराब बेच रहे है। लेकिन कोई उनको रोकता नहीं दिखता। इसके अलावा भी वैध ठेके के आस पास ब्रांचें चलाई जा रही है जबकि वे कायदे में ही नहीं है। खास बात यह है शराब की यह ब्रांचें बड़े शान से टिन, पत्थर की पटि्टयां, कूलर पंखे लगा कर स्थापित कर दी गई है। कुछ ब्रांचों पर भास्कर टीम पहुंची तो अजीब ही हालात देखने को मिले।

जहां दूर दूर तक काेइ रहने लायक स्थान नहीं था वहां पर शराब खरीदने के लिए लाेग देखे जा सकते थे। भास्कर टीम जब यहां पहुंची ताे सेल्समैन से शराब मांगी वह बेच कर ज्यादा रुपए ले लिए। पांचौड़ी थाना के कार्यवाहक थानाप्रभारी एएसआई मेहराम जाखड़ के अनुसार कार्रवाई समय समय पर होती है।

आरोप कोई भी लगा सकता है। मंथली की बात गलत है। जिला आबकारी अधिकारी महेंद्रसिंह का कहना है कि ब्रांच नहीं चल रही है। जहां है बताए कार्रवाई की जाएगी।

नियम यह : रेट लिस्ट जरूरी, बच्चे शराब नहीं बेच सकते

शराब दुकानों के आगे रेट लिस्ट होना ज़रूरी है मगर अधिकतर दुकानों के आगे ऐसा नहीं है। आबकारी का नियम है कि नाबालिग को सरकारी शराब दुकान पर शराब भी नहीं दे सकते हैं। सेल्समैन साफ बोल रहा है कि दाे विभागाें काे मंथली देनी पड़ती है। आप भी पढ़े मिली भगत का खेल...

सवाल...स्कूल जाने की उम्र, बच्चे यहां क्यों

पांचाैड़ी. शराब की ब्रांच पर बैठा बच्चा शराब बेचते हुए।

यह है कार्रवाई के हालात जानकारी के अनुसार साल 2017-18 में कुल 540 पंजीकृत अभियोगों की संख्या थी तो वहीं 2018-19 में इनकी संख्या 527 रही। 2017 -18 में गिरफ्तार अभियुक्ताें की संख्या 282 तो अगले साल इनकी संख्या 274 रही।

2017-18 में द्वारा 997.29 लीटर जब्त की गई। वहीं अगले साल 1632.49 लीटर शराब ही जब्त की जा सकी। बात आबकारी थानों की करें ताे 2017-18 में 5101.41 लीटर शराब जब्त हुई। अगले साल 8904.35 लीटर शराब जब्त की गई। साल 2017-18 में पकड़ी शराब की कीमत 22 लाख 62 हजार तो अगले साल 55 लाख 28 हजार से अधिक रही।

संचालक ने खुद बताया क्यों लेते हैं रेट से अधिक

भास्कर : बीयर है।

सेल्समैन : हां है।

भास्कर : कितने की।

सेल्समैन : 130 की है।

भास्कर : किसकी है दुकान।

सेल्समैन: 5-7 लाेग है।

भास्कर : रेट ताे 109 रुपए है।

सेल्समैन : हां रेट ताे है। लेकिन इतने कम से नहीं चलता।

भास्कर : क्याें आबकारी 16 फीसदी कमीशन नहीं देती क्या।

सेल्समैन : अरे... बिक्री होती ही कितनी है।

भास्कर : आप ओवर रेट ज्यादा लेते हो न।

सेल्समैन : मैं क्या सभी लेते है। रेट 140 तक जाती है। पुलिस और आबकारी को मंथली देते है।

भास्कर : क्या देते हो। कितनी मंथली देते हो। 10 से 15 हजार ताे होगी ही।

सेल्समैन : हां, 16 हजार है। 15 हजार के नीचे तो किसी की है ही नहीं।

भास्कर : क्या, खाली ओवररेट के है।

सेल्समैन : हां।

भास्कर : मामला नहीं बनाते होंगे।

सेल्समैन : हां, रेट कितनी भी चार्ज करें। तब भी।

तो क्या 4 गुणा शराब की ब्रांचें चल रही: आसपास के गांवों में अवैध शराब का कारोबार जोर शौर से चल रहा है। पांचौड़ी थाना क्षेत्र में आधा दर्जन शराब दुकानें आबंटित है मगर सरकारी शराब दुकानों से कई गुणा अवैध शराब ब्रांचें संचालित हो रही है। एक दुकान पर करीब 10 से 15 अवैध शराब ब्रांचें संचालित हो रही है।

ग्रामीण इलाकों में सरकारी दुकानों पर प्रिंट रेट से कई ज्यादा रेट हर बोतल पर वसूली जा रही है। जिसको लेकर कई बार शराब दुकानों पर लड़ाई झगड़े भी हो जाते हैं। उल्लेखनीय है कि अकेले पांचौड़ी के आसपास के रायधनु, गुढ़ाभगवादास, करनू, बिरलोका आदि कई जगह रेट से ज्यादा रुपए लिए जा रहे हैं।

Nagaur News - rajasthan news minors selling alcohol salesmen say bonds are therefore rated higher
X
Nagaur News - rajasthan news minors selling alcohol salesmen say bonds are therefore rated higher
Nagaur News - rajasthan news minors selling alcohol salesmen say bonds are therefore rated higher
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना