• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nagaur News rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala

नृसिंह प्राकट्योत्सव : भक्त प्रहलाद को बचाने खंभा तोड़कर प्रकट हुए भगवान नृसिंह, दर्शन करने को बंशीवाला मंदिर अाए शहरवासी

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:26 AM IST

Nagour News - भगवान अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। इसका उदाहरण भक्त प्रहलाद है। प्रहलाद को हिरण्यकश्यप...

Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
भगवान अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। इसका उदाहरण भक्त प्रहलाद है। प्रहलाद को हिरण्यकश्यप ने मारने के कई प्रयास किए। मगर भगवान विष्णु ने पग-पग पर उनकी मदद की। जब अत्याचार की अति हुई तो भगवान ने नृसिंह अवतार लिया और खंभा तोड़कर प्रकट हो गए। यह संजीव झांकी का दृश्य शुक्रवार को नृसिंह चतुर्दशी पर नगर सेठ बंशीवाला मंदिर में देखने को मिला। भगवान विष्णु ने (नवरतन अाचायर् भगवान का अवतार) नृसिंह अवतार लेकर दैत्यों के राजा हिरण्यकशिपु का वध किया और भक्त प्रहलाद को बचाया। करीब 7 बजे नृसिंह अवतार निज मंदिर से बाहर आए। भक्त प्रहलाद काे गाेद में उठाकर रम्मत की गई। दिन में 36.0 डिग्री तापमान के बावजूद परंपराओं के अनुसार मंदिर परिसर में नृसिंह अवतार ने इस बार करीब साढ़े 3 घंटे तक रम्मत की।

30 दिन तक नृसिंह अवतार बनने वाले युवक को कठिन साधना करनी होती है

08 सदस्य व्यास परिवार के नृसिंह अवतार का ख्याल रखते हैं।

खास क्या : मुंबई में रहने वाले प्रवासी बंधु भी बंशीवाला मंदिर उत्सव में भागीदार बने। इसके लिए मंदिर के पुजारी सीताराम पाराशर ने बताया कि भगवान नृसिंह, प्रहलाद, हिरण्यकशिपु तथा मल्लुका तैयार होकर बंशीवाला मंदिर में अाए।

साथ ही कई मोहल्लों से दोपहर को ही मल्लुका का वेश बनाकर शहर में निकले। शहर के हाथी चौक, रामबाग, किशनबाग, बाठड़ियों का चौक से वेश धारण कर जगह-जगह रम्मत की।

नागौर| काठड़ियों का चौक शहर में 18 मई को वराह अवतार का आयोजन बंशीवाला मंदिर में किया जाएगा। बंशीवाला मंदिर सीताराम पुजारी ने बताया कि वैशाख शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शाम 6 बजे बंशीवाला मंदिर में वराह भगवान का उत्सव मनाया जाएगा। वराह स्वरूप महेश पुजारी बनेंगे। साथ ही पृथ्वी करतीना बनेंगी। पुजारी महेश ने बताया कि पृथ्वी का उद्धार करने के लिए भगवान वराह अवतार लेते है। ये राजस्थान में दो जगह जयपुर और नागौर में होता है। नागौर में वराह अवतार के कार्यक्रम की आज 50वीं वर्षगांठ मनाई जाएगी। जो कि 1970 से इस उत्सव को मनाया जा रहा है। वराह अवतार का आयोजन बाठड़ियों के चौक में सोनी समाज के नेतृत्व में किया जाता है।

मूंडवा आंचलिक| लाखोलाव तालाब स्थित श्री लक्ष्मी नृसिंह मंदिर में नृसिंह चतुर्दशी के अवसर पर मेला भरा। इस दौरान मंदिर प्रांगण में भक्त प्रहलाद की सजीव झांकी सजाई गई। मंदिर के बाहर हिरण्यकश्यप का स्वरूप धारण किए मलूकों ने जमकर उत्पात मचाया। मंदिर में दर्शन को आए लोगों पर कोड़े बरसाए।

मेला शुक्रवार शाम करीब 6 बजे से शुरु होकर सूर्यास्त तक चला। सूर्यास्त के साथ ही मंदिर के पुजारी गोपाल स्वामी रामानुजाचार्य ने भगवान नृसिंह देव का रूप धारण कर भक्त प्रहलाद को अपनी गोद में उठाया व आए हुए भक्तों को आशीर्वाद दिया।

नागौर. बंशीवाला मंदिर में भगवान नृसिंह के दर्शन करने आए शहरवासी।

नृसिंह चतुर्दशी का मेला भरा, मलूकों ने मचाया उत्पात, फिर भगवान हुए प्रकट

भास्कर संवाददाता| नागौर

भगवान अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। इसका उदाहरण भक्त प्रहलाद है। प्रहलाद को हिरण्यकश्यप ने मारने के कई प्रयास किए। मगर भगवान विष्णु ने पग-पग पर उनकी मदद की। जब अत्याचार की अति हुई तो भगवान ने नृसिंह अवतार लिया और खंभा तोड़कर प्रकट हो गए। यह संजीव झांकी का दृश्य शुक्रवार को नृसिंह चतुर्दशी पर नगर सेठ बंशीवाला मंदिर में देखने को मिला। भगवान विष्णु ने (नवरतन अाचायर् भगवान का अवतार) नृसिंह अवतार लेकर दैत्यों के राजा हिरण्यकशिपु का वध किया और भक्त प्रहलाद को बचाया। करीब 7 बजे नृसिंह अवतार निज मंदिर से बाहर आए। भक्त प्रहलाद काे गाेद में उठाकर रम्मत की गई। दिन में 36.0 डिग्री तापमान के बावजूद परंपराओं के अनुसार मंदिर परिसर में नृसिंह अवतार ने इस बार करीब साढ़े 3 घंटे तक रम्मत की।

30 दिन तक नृसिंह अवतार बनने वाले युवक को कठिन साधना करनी होती है

08 सदस्य व्यास परिवार के नृसिंह अवतार का ख्याल रखते हैं।

खास क्या : मुंबई में रहने वाले प्रवासी बंधु भी बंशीवाला मंदिर उत्सव में भागीदार बने। इसके लिए मंदिर के पुजारी सीताराम पाराशर ने बताया कि भगवान नृसिंह, प्रहलाद, हिरण्यकशिपु तथा मल्लुका तैयार होकर बंशीवाला मंदिर में अाए।

साथ ही कई मोहल्लों से दोपहर को ही मल्लुका का वेश बनाकर शहर में निकले। शहर के हाथी चौक, रामबाग, किशनबाग, बाठड़ियों का चौक से वेश धारण कर जगह-जगह रम्मत की।

नागौर| काठड़ियों का चौक शहर में 18 मई को वराह अवतार का आयोजन बंशीवाला मंदिर में किया जाएगा। बंशीवाला मंदिर सीताराम पुजारी ने बताया कि वैशाख शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शाम 6 बजे बंशीवाला मंदिर में वराह भगवान का उत्सव मनाया जाएगा। वराह स्वरूप महेश पुजारी बनेंगे। साथ ही पृथ्वी करतीना बनेंगी। पुजारी महेश ने बताया कि पृथ्वी का उद्धार करने के लिए भगवान वराह अवतार लेते है। ये राजस्थान में दो जगह जयपुर और नागौर में होता है। नागौर में वराह अवतार के कार्यक्रम की आज 50वीं वर्षगांठ मनाई जाएगी। जो कि 1970 से इस उत्सव को मनाया जा रहा है। वराह अवतार का आयोजन बाठड़ियों के चौक में सोनी समाज के नेतृत्व में किया जाता है।

मूंडवा आंचलिक| लाखोलाव तालाब स्थित श्री लक्ष्मी नृसिंह मंदिर में नृसिंह चतुर्दशी के अवसर पर मेला भरा। इस दौरान मंदिर प्रांगण में भक्त प्रहलाद की सजीव झांकी सजाई गई। मंदिर के बाहर हिरण्यकश्यप का स्वरूप धारण किए मलूकों ने जमकर उत्पात मचाया। मंदिर में दर्शन को आए लोगों पर कोड़े बरसाए।

मेला शुक्रवार शाम करीब 6 बजे से शुरु होकर सूर्यास्त तक चला। सूर्यास्त के साथ ही मंदिर के पुजारी गोपाल स्वामी रामानुजाचार्य ने भगवान नृसिंह देव का रूप धारण कर भक्त प्रहलाद को अपनी गोद में उठाया व आए हुए भक्तों को आशीर्वाद दिया।

मूंडवा आंचलिक. नृसिंह का स्वरूप धारण किए भक्तों को आशीर्वाद देते हुए।

बाठड़ियों का चौक; खंभा फाड़ कर निकले नृसिंह भगवान।

काठड़ियों का चौक

बाठड़ियों का चौक

तुलसी चौक

पित्तीवाड़ा

Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
X
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
Nagaur News - rajasthan news nrusingh pachatyotsava save the devotee prahlad broke the pillar appeared to be god nrusingh to visit the temple of banshiwala
COMMENT