पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • PHEE News Rajasthan News Repo Rate Reduced For The Fourth Time In A Year Growth Rate Estimate Less Than 7

साल में चौथी बार रेपो रेट घटाया, विकास दर अनुमान 7% से कम

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एसबीआई ने ब्याज दरें 0.15% कम की, 30 लाख के होम लोन पर 284 रु. माह की बचत

नई दिल्ली | रिजर्व बैंक ने बुधवार को रेपो रेट में 0.35% की कटौती की। बाजार को चौथाई फीसदी कटौती की अास थी, पर यह उससे ज्यादा रही। वजह साफ है कि महंगाई अभी नियंत्रण में है, पर देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ी हुई है। रिजर्व बैंक ने इस साल लगातार चौथी बार बैंक दरों में कटौती की है। ताकि सुस्त आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाई जा सके। रेपो रेट अब 5.40% पर आ गया है, जो 9 साल में सबसे कम है। रिवर्स रेपो रेट 5.15% किया गया है। रिजर्व बैंक की हर दो महीने पर होने वाली इस समीक्षा बैठक के फैसले से होम व ऑटो लोन सस्ते हो सकते हैं। हालांकि ये तब होगा जब बैंक इतनी ही कमी ब्याज दरों में करें। एसबीआई ने कर्ज पर ब्याज दरों में 0.15% की कमी की। शेष | पेज 5

रिजर्व बैंक ने विकास दर अनुमान 6.9% किया

रिजर्व बैंक ने विकास दर अनुमान में भी बदलाव किया है। इसे 7% से घटाकर 6.9% कर दिया गया है। शक्तिकांत दास के आरबीआई गवर्नर बनने के बाद लगातार चौथी बार दरों में कटौती की गयी है। ये कटौती कुल मिलाकर 1.10% की हो चुकी है।

रेपो रेट 9 साल के निचले स्तर पर पहुंचा।

इससे पहले 16 सितंबर 2010 को रेपो रेट 6% से नीचे गया था।

खबरें और भी हैं...