• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nagaur News rajasthan news tejaswini team took 100 manchalas in 3 months to prevent tampering with girls and girls

छात्राओं व युवतियों से छेड़छाड़ रोकने बनाई तेजस्विनी टीम, 3 माह में 100 मनचलों को पकड़ा

Nagour News - नागौर पुलिस बेड़े में शामिल महिला कांस्टेबलों की कमांडो टीम तेजस्विनी ने अपनी स्थापना के तीन माह में ही करीब 100 से...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 05:41 AM IST
Nagaur News - rajasthan news tejaswini team took 100 manchalas in 3 months to prevent tampering with girls and girls
नागौर पुलिस बेड़े में शामिल महिला कांस्टेबलों की कमांडो टीम तेजस्विनी ने अपनी स्थापना के तीन माह में ही करीब 100 से अधिक मनचलों को पकड़ कर उनसे समझाइश की है। वहीं इनमें से दो मनचलों के खिलाफ मामला भी दर्ज हुआ है। तेजस्विनी टीम में 8 महिला कमांडो शामिल है। जो किसी भी बच्चे, महिला या युवती की शिकायत पर कुछ ही मिनट में कार्रवाई करने पहुंच जाती है। अगर कोई मनचला बार-बार ऐसी हरकत करता है तो उसे सबक सिखाने के लिए टीम बाकायदा सादा वस्त्रों में मौके पर जाकर उन्हें पकड़ती भी है।

टीम ने अब तक कई जिलों में महिलाओं, छात्राओं और युवतियों को सुरक्षा भी प्रदान की है। इनमें पुष्कर मेला सबसे महत्वपूर्ण रहा। इस टीम की दो कमांडो ने जयपुर से आत्मरक्षा का एक माह का प्रशिक्षण लिया है। इनकी खास बात यह है कि इनको बाइक उपलब्ध करवाई गई है। ताकि किसी भी स्थिति से निपट सके। इस टीम के इंचार्ज सीआई श्रवणदास संत का कहना है कि इस टीम का एक वाट्सएप पर ग्रुप भी बनाया गया है। ताकि किसी भी कार्रवाई की जानकारी उस पर आ सके। वहीं इस संबंध में पुलिस की ओर से भी एक नंबर उपलब्ध करवाया गया है। जो सार्वजनिक है। जिस पर शिकायत करने के साथ ही टीम तत्काल उसकी मदद के लिए वहां पहुंच जाती है।

पहल
नागौर. तेजस्विनी टीम में शामिल महिला कांस्टेबल। जो शिकायत की सूचना पर बाइक लेकर मौके पर जाती है।

अब तक 10 हजार छात्राओं को दी जा चुकी है ट्रेनिंग

जयपुर से ट्रेनिंग लेकर आई कांस्टेबल कमांडो बिंदू ने बताया कि वे दस साल से पुलिस सेवा में है। उनकी पोस्टिंग कोतवाली थाने में ही है। उनकी एक पुत्री है। इसके साथ ही उन्होंने कमांडो बनने के बाद 10 हजार लड़कियों को प्रशिक्षण दे दिया है। वे शुरुआत से ही बाइक चलाना जानती थी। इसका लाभ तेजस्विनी टीम में आने के बाद भी मिला।

चीली स्प्रे और फर्स्ट एड बॉक्स भी उपलब्ध

आठ साल से पुलिस में कांस्टेबल कमांडो सीमा ने बताया कि उनको बाइकों से बेहद लगाव है। तेजस्विनी टीम में बाइक मिली तो फिर काम करना काफी संतोष जनक लगा। तेजस्विनी टीम के पास चीली स्प्रे के साथ-साथ फर्स्ट एड बॉक्स भी उपलब्ध है। पुलिस ने टीम को वायरलेस सेट भी उपलब्ध करवाए हैं। वहीं पुष्कर में टीम ने दो बिना अनुमति से उड़ रहे ड्राेन जब्त भी करवाए थे। जबकि उस समय कई मनचलों को सबक भी सिखाया था।

टीम में कुल 8 महिला कमांडो

टीम में 8 महिला कमांडो है। भंवरी जाट 10 साल से पुलिस सेवा में है। उनके एक पुत्र व एक पुत्री है। वे सदर थाने में तैनात हैं। वहीं 11 साल से पुलिस में कार्यरत संगीता के 1 पुत्र है। वे भी सदर थाने में तैनात है। पुलिस लाइन में तैनात शारदा को पुलिस सेवा में 8 साल हो चुके हैं। उनकी 1 पुत्री है। वहीं सुमित्रा को भी 8 साल हो चुके हैं व उनके 1 पुत्र है। वे भी लाइन में तैनात है। 3 साल से कांस्टेबल गणेशी पुलिस लाइन और 6 साल से पुलिस सेवा में कार्यरत सुमित्रा चौधरी महिला थाने में तैनात है। टीम ने काेचिंग संस्थाओं, स्कूलों में व शिक्षिकाओं को भी प्रशिक्षण दिया है। वहीं पुलिस ने अपील की है कि राह चलते छेड़छाड़ हो तो 8764850121 पर संपर्क कर सकते है। तुरंत कार्रवाई होगी।

X
Nagaur News - rajasthan news tejaswini team took 100 manchalas in 3 months to prevent tampering with girls and girls
COMMENT