• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Makrana News rajasthan news tetanus injection found in open rake it is necessary to stay below 100 temperature otherwise it can be fatal

खुली रेक में मिले टिटनेस इंजेक्शन, यह 100 से कम तापमान में रहने जरूरी, नहीं तो हो सकते हैं घातक

Nagour News - मकराना शहर के बालाजी कॉलोनी में अर्बन पीएससी पीपीपी मोड पर होने के बावजूद जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर रहा है।...

Dec 06, 2019, 10:01 AM IST
Makrana News - rajasthan news tetanus injection found in open rake it is necessary to stay below 100 temperature otherwise it can be fatal
मकराना शहर के बालाजी कॉलोनी में अर्बन पीएससी पीपीपी मोड पर होने के बावजूद जनता की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर रहा है। अस्पताल में लापरवाही का आलम यह है कि टिटनेस के इंजेक्शन जो कि 10 डिग्री से कम तापमान में रखने होते हैं वह निशुल्क दवा स्टोर में खुली रेक में पड़े हैं। 10 डिग्री से अधिक तापमान में अगर यह इंजेक्शन रखे हुए हो तो किसी भी चोटिल इंसान के लगाने पर उसकी जान को भी खतरा हो सकता है। पूर्व में नागौर जिले में कुचामन में 9 साल पहले मीजल्स के वैक्सीन को उचित तापमान पर मेंटेन नहीं किया। उक्त वैक्सीन से करीब आधा दर्जन बच्चों की मौत हो गई थी। यह मुद्दा इसलिए भी गंभीर है क्योंकि बालाजी अर्बन पीएससी को इसलिए पीपीपी मोड पर दिया गया है ताकि उसे संचालित करने वाली एनजीओ संस्था अस्पताल में बेहतर सुविधा दे सके। इसके लिए हर माह सरकार 4 लाख का बजट भी खर्च कर रही है, इसके बावजूद अस्पताल में गत 5 दिन का ओपीडी रजिस्टर देखें तो उसमें सिर्फ 8 मरीजों की जांच हुई है। ऐसा इसलिए कि यहां पर नवम्बर से डॉक्टर का भी पद रिक्त है। इतना ही नहीं यहां पर दो जीएनएम, एक एलटी, 4 एएनएम व एक सपोर्टिंग स्टाफ है। उन्हें भी पिछले 5 माह से एनजीओ फर्म द्वारा वेतन का भुगतान नहीं किया गया है।

एक एमओ को माह में 12 दिन सेवाएं देने का प्रावधान है परंतु अस्पताल पर पिछले 2 साल में एक बार भी एमओ की सेवा उपलब्ध नहीं करवाई गई है। बुधवार को खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र चौधरी एवं बीपीएम आरिफ मंसूरी ने अस्पताल का औचक निरीक्षण किया, जिसमें डॉक्टर उपलब्ध नहीं थे। दवाइयां पर्याप्त नहीं थी। टिटनेस इंजेक्शन खुले में पड़े थे तथा मरीजों के बेड पर चद्दर बिछी हुई नहीं थी। बीसीएमओ डॉ. चौधरी एवं बीपीएम आरिफ मंसूरी ने मनाना पीएचसी का औचक निरीक्षण किया। चिकित्सक नदारद मिले, जबकि एएनएम मरीजों का उपचार कर रही थी। निशुल्क दवा से संबंधित रिकार्ड मेंटेन नहीं किया जा रहा था। अस्पताल में सफाई व्यवस्था दुरूस्त नहीं थी, जबकि मरीजों के बेड पर चद्दर की व्यवस्था नहीं थी। अस्पताल में रिकार्ड को संधारित करने में भी लापरवाही मिली। डेटा एंट्री ऑपरेटर हरीश भी नदारद मिला, जिसे ब्लॉक सीएमओ ने गंभीरता से लिया है।

मकराना. रैक में टिटनेस इंजेक्शन।

X
Makrana News - rajasthan news tetanus injection found in open rake it is necessary to stay below 100 temperature otherwise it can be fatal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना