• Hindi News
  • Rajya
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nawa News rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion

भक्त प्रहलाद को बचा रहे युवाओं को हिरण्यकश्यप के मलूकों ने मारे कोड़े, आखिरकार भगवान नृसिंह का प्राकट्य हुआ और धर्म की विजय

Nagour News - भास्कर संवाददाता| रियां बड़ी कस्बे में नृसिंह चतुर्दशी पर शुक्रवार को हिन्दू उत्सव समिति के तत्वाधान में नृसिंह...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:31 AM IST
Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
भास्कर संवाददाता| रियां बड़ी

कस्बे में नृसिंह चतुर्दशी पर शुक्रवार को हिन्दू उत्सव समिति के तत्वाधान में नृसिंह भगवान प्राकट्य महोत्सव का आयोजन हुआ। इस दौरान सदर बाजार स्थित रघुनाथ मंदिर के सामने नृसिंह भगवान की जयंती धूमधाम के साथ मनाई गयी। शाम 5 बजे सदर बाजार स्थित कबूतरों के चौक के सामने मलूका-जनता संघर्ष खेल अयोजित हुआ।

इस दौरान हिरण्यकश्यप के राक्षस मलूकों के रूप में काले कपड़े पहनकर हाथ में कोड़े लेकर चलते हुए आए और उपस्थित जनसमूह पर जमकर कोड़े बरसाए। इस दौरान तकरीबन एक घंटे तक निहत्थे युवाओं ने इन मलूकों से जमकर संघर्ष किया। अंत में सूर्यास्त के अधूरे पलो में यहां मंदिर के दरवाजे पर झांकी स्वरूप में नरसिंह भगवान खम्भा फाड़ प्रकट हुए और हिरण्यकश्यप को अपनी जांघों पर डालकर उसका वध कर भक्त प्रहलाद को बचाया। इसके बाद उपखण्ड मुख्यालय सहित आस पास के गांवों से आए सैकड़ों श्रद्धालुओं ने भगवान की आरती उतारी। आरती एवं भगवान का आशीर्वाद लेने के बाद मंदिर के बाहर प्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान महोत्सव में कैलाश लाहोटी, भंवरलाल व्यास, भंवरसिंह, जितेंद्र सिंह, बाबूसिंह, नटवर सोनी, मोती सिंह, गजेंद्र वैष्णव, राजेन्द्र सैन, मिट्ठूलाल सोनी, शेरसिंह, भरत सोनी, तेजसिंह परिहार, दीपेन्द्रसिंह, महावीर बगेरिया, पोलार्ड, नरपत सिंह, सत्यनारायण व्यास, श्यामसुंदर शर्मा, नटवर व्यास, टोनी बन्ना, दिनेश सिंह राजपुरोहित, बबलू सिंह परिहार व दिनेश बड़गुर्जर सहित सैकड़ों महिला पुरुष व बच्चे उपस्थित रहे।

भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए हुआ संघर्ष

इस दौरान भक्त प्रहलाद की हिरण्यकश्यप के राक्षस रूपी मलूकों से नृसिंह भगवान द्वारा की गई रक्षा से संबंधित लोकप्रिय खेल मलूका-जनता संघर्ष भी आयोजित हुआ। खेल के दौरान हिरण्यकश्यप के राक्षस मलूकों के रूप में काले कपड़े पहनकर हाथ में कोड़े लेकर चलते हुए आए। और उपस्थित जनसमूह पर जमकर कोड़े बरसाए। युवा नृसिंह भगवान की जय बोलते हुए इन मलूकों से कोड़े छीनने का प्रयास करते रहे। इस दौरान दुकानों घरों की छतों पर से महिलाएं-पुरुष रोचक संघर्ष का लुत्फ उठाते रहे।

नृसिंह जयंती मनाई, हुए कई धार्मिक कार्यक्रम

रेण|
कस्बे के चारभुजा मंदिर में शुक्रवार को नृसिंह जयंती मनाई गई। पुजारी घनश्याम शर्मा के अनुसार चारभुजा मंदिर में हिरण्यकश्यप के मलूके के रूप में कैलाश शर्मा व भरत शर्मा ने किरदार निभाया। वहीं नृसिंह भगवान का अभिनय मनोज शर्मा ने निभाया। हिरण्यकश्यप के मलूके, ढाल, तलवार लेकर कस्बे के विभिन्न रास्तों से निकले। शाम होने तक चारभुजा मंदिर के सामने नृत्य किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। भगवान नृसिंह की पूजा-अर्चना कर प्रसाद वितरण किया गया। मणिहार मोहल्ले में स्थित नृसिंह मंदिर में भी नृसिंह जयंती मनाई गई।

धर्म समाज

रियां बड़ी. आयोजित खेल में मलूकों और युवाओं के बीच भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए हो रहा संघर्ष।

भास्कर संवाददाता| रियां बड़ी

कस्बे में नृसिंह चतुर्दशी पर शुक्रवार को हिन्दू उत्सव समिति के तत्वाधान में नृसिंह भगवान प्राकट्य महोत्सव का आयोजन हुआ। इस दौरान सदर बाजार स्थित रघुनाथ मंदिर के सामने नृसिंह भगवान की जयंती धूमधाम के साथ मनाई गयी। शाम 5 बजे सदर बाजार स्थित कबूतरों के चौक के सामने मलूका-जनता संघर्ष खेल अयोजित हुआ।

इस दौरान हिरण्यकश्यप के राक्षस मलूकों के रूप में काले कपड़े पहनकर हाथ में कोड़े लेकर चलते हुए आए और उपस्थित जनसमूह पर जमकर कोड़े बरसाए। इस दौरान तकरीबन एक घंटे तक निहत्थे युवाओं ने इन मलूकों से जमकर संघर्ष किया। अंत में सूर्यास्त के अधूरे पलो में यहां मंदिर के दरवाजे पर झांकी स्वरूप में नरसिंह भगवान खम्भा फाड़ प्रकट हुए और हिरण्यकश्यप को अपनी जांघों पर डालकर उसका वध कर भक्त प्रहलाद को बचाया। इसके बाद उपखण्ड मुख्यालय सहित आस पास के गांवों से आए सैकड़ों श्रद्धालुओं ने भगवान की आरती उतारी। आरती एवं भगवान का आशीर्वाद लेने के बाद मंदिर के बाहर प्रसाद का वितरण किया गया। इस दौरान महोत्सव में कैलाश लाहोटी, भंवरलाल व्यास, भंवरसिंह, जितेंद्र सिंह, बाबूसिंह, नटवर सोनी, मोती सिंह, गजेंद्र वैष्णव, राजेन्द्र सैन, मिट्ठूलाल सोनी, शेरसिंह, भरत सोनी, तेजसिंह परिहार, दीपेन्द्रसिंह, महावीर बगेरिया, पोलार्ड, नरपत सिंह, सत्यनारायण व्यास, श्यामसुंदर शर्मा, नटवर व्यास, टोनी बन्ना, दिनेश सिंह राजपुरोहित, बबलू सिंह परिहार व दिनेश बड़गुर्जर सहित सैकड़ों महिला पुरुष व बच्चे उपस्थित रहे।

भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए हुआ संघर्ष

इस दौरान भक्त प्रहलाद की हिरण्यकश्यप के राक्षस रूपी मलूकों से नृसिंह भगवान द्वारा की गई रक्षा से संबंधित लोकप्रिय खेल मलूका-जनता संघर्ष भी आयोजित हुआ। खेल के दौरान हिरण्यकश्यप के राक्षस मलूकों के रूप में काले कपड़े पहनकर हाथ में कोड़े लेकर चलते हुए आए। और उपस्थित जनसमूह पर जमकर कोड़े बरसाए। युवा नृसिंह भगवान की जय बोलते हुए इन मलूकों से कोड़े छीनने का प्रयास करते रहे। इस दौरान दुकानों घरों की छतों पर से महिलाएं-पुरुष रोचक संघर्ष का लुत्फ उठाते रहे।

नृसिंह जयंती मनाई, हुए कई धार्मिक कार्यक्रम

रेण|
कस्बे के चारभुजा मंदिर में शुक्रवार को नृसिंह जयंती मनाई गई। पुजारी घनश्याम शर्मा के अनुसार चारभुजा मंदिर में हिरण्यकश्यप के मलूके के रूप में कैलाश शर्मा व भरत शर्मा ने किरदार निभाया। वहीं नृसिंह भगवान का अभिनय मनोज शर्मा ने निभाया। हिरण्यकश्यप के मलूके, ढाल, तलवार लेकर कस्बे के विभिन्न रास्तों से निकले। शाम होने तक चारभुजा मंदिर के सामने नृत्य किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। भगवान नृसिंह की पूजा-अर्चना कर प्रसाद वितरण किया गया। मणिहार मोहल्ले में स्थित नृसिंह मंदिर में भी नृसिंह जयंती मनाई गई।

भक्त प्रहलाद को हिरण्यकश्यप के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए प्रकट हुए भगवान नृसिंह, चारभुजा मंदिर नृसिंह प्रकटोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं के जयकारों से गूंजा

मेड़ता सिटी (आंचलिक) | भक्त प्रहलाद को उसके पिता हरिण्यकश्यप के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए शुक्रवार को नृसिंह चतुर्दशी के मौके पर भगवान नृसिंह देव खंभ फाड़ प्रकट हुए। भगवान नृसिंह का प्रकटोत्सव शुक्रवार को यहां चारभुजा-मीरां मंदिर में धूमधाम के साथ मनाया गया। मंदिर परिसर में नृसिंह जयंती की तैयारियां सुबह से ही शुरू हो गई।

शाम 5 बजते बजते समूचा मंदिर परिसर श्रद्धालुओं से भर गया तथा रुक रुक यहां भगवान नृसिंह देव व भक्त प्रहलाद के जयकारे लगने शुरू हो गए। शाम ठीक सवा 6 बजे के करीब भगवान नृसिंह प्रकट हुए तो समूचा मंदिर परिसर जयकारों से गूंज उठा। उनकी लीला का शानदार मंचन वयोवृद्ध पुजारी शंकर महाराज के पौत्र चन्द्रशेखर शर्मा ने निभाया। तदोपरांत आरती हुई। आरती में शहरवासी उमड़ पड़े। इससे पहले नृसिंह भगवान का स्वरूप धारण करने वाले चन्द्रशेखर शर्मा ने दिनभर में मंदिर ने निराहार रहकर साधना की। मंदिर में हिरण्यकश्यप का मंचन भरत शर्मा ने किया। आरती पुजारी प्रमोद शर्मा ने की। इस दौरान पुजारी संतोष कुमार शर्मा, रजनीश शर्मा, भगवती लाल शर्मा, घनश्याम शर्मा, पूरण प्रकाश शर्मा, मनोहर लाल शर्मा, अभिषेक शर्मा सहित अनेक बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

नृसिंह जयंती मनाई, हुए अनेक धार्मिक कार्यक्रम

कुचेरा|
कस्बे के छोटा बाजार स्थित बंशीवाला मन्दिर में शुक्रवार को नृसिंह जंयती धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर मन्दिर में कई धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। इस मौके पर नृसिंह भगवान खंभे को फाड़कर प्रकट हुए। भगवान के दर्शन को लेकर मन्दिर में श्रद्धालु उमड़े। इस मौके पर पंडित विनोद तिवाड़ी, हरीकिशन सोनी, दीपक अग्रावत, जितेंद्र परिहार, नौरतन दाधिच, मुनालाल शर्मा,अनु दाधिच, हेमन्त टेलर, अंकुश नाहर, दिलीप दाधिच, मनोज तिवाड़ी, पिन्टू घांची, भेरूराम घांची, वीरेंद्र सोनी सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

रेण. बच्चों का मनोरंजन कराता हिरण्यकश्यप।

कुचेरा. बंशीवाला मंदिर में उमड़ी भीड़।

नावां के लक्ष्मीनारायण मंदिर में हुए कार्यक्रम

नावां सिटी| शहर के पिपली बाजार स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में शुक्रवार को नृसिंह जयंती के अवसर पर भगवान विष्णु का अभिषेक किया गया। इसके बाद पूजा अर्चना कर शाम को नृसिंह अवतार की लीला का मंचन किया गया। लक्ष्मीनारायण मंदिर के पंडित ओमप्रकाश ने बताया कि ठाकुरजी की पूजा अर्चना के बाद आरती की गई। भगवान नृसिंह रूप में भक्त प्रहलाद को बचाने व राक्षस हिरण्यकश्यप का वध करने के लिए खंभा फाड़कर प्रकट हुए। इससे पूर्व गुरुवार को मंदिर में विशाल भजन संध्या का आयोजन भी हुआ। नृसिंह अवतार के बाद लक्ष्मीनारायण मंदिर में सामूहिक विशाल आरती की गई। इसके बाद श्रद्घालुओं को प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान अनेक धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में महिला-पुरुष श्रद्धालु मौजूद रहे।

Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
X
Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
Nawa News - rajasthan news the devotees of prahlad saved the youth by killing the heroes of hiranyakashipas finally the reign of lord nrusingh and the victory of religion
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना