• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nagaur News rajasthan news the road to the shield of the fort from the map gate will not yet be made because the soil is soft pwd logic will be broken

नकाश गेट से किले की ढाल तक अभी नहीं बनेगी सड़क क्योंकि मिट्टी नरम है, पीडब्ल्यूडी का तर्क-फिर टूट जाएगी

Nagour News - शहर के नकाश गेट से किले की ढाल तक खुदी हुई सड़क बनने के लिए शहरवासियों को दो बारिश का इंतजार करना पड़ेगा। नगर परिषद...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:55 AM IST
Nagaur News - rajasthan news the road to the shield of the fort from the map gate will not yet be made because the soil is soft pwd logic will be broken
शहर के नकाश गेट से किले की ढाल तक खुदी हुई सड़क बनने के लिए शहरवासियों को दो बारिश का इंतजार करना पड़ेगा। नगर परिषद की तरफ से बनाई गई ग्रेवल सड़क पर पीडब्ल्यूडी फिलहाल डामर सड़क बनाने के मूड में नहीं है। विभाग का दावा है कि नगर परिषद ने ग्रेवल सड़क बनाने के लिए मात्र औपचारिकता भर पूरी की है। सीवरेज लाइन डालने के बाद मिट्टी की कुटाई नियमानुसार नहीं की है। एक-दो बढ़िया बारिश होने के बाद सड़क की वास्तविकता सामने आएगी। ऐसी स्थिति में काेई भी ठेकेदार डामर डालकर सड़क बनाने की जोखिम नहीं लेगा। दो विभागों में आपसी सामंजस्य के अभाव का खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। धूल ने राहगीरों के साथ आसपास के दुकानदारों का जीना मुहाल कर रखा है।

मुख्य सड़क सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीन है। गत मार्च माह में कलेक्टर के आदेश थे कि सीवरेज आदि कार्यों के लिए क्षतिग्रस्त हुई इस सड़क को नगर परिषद कंक्रीट रोड़ी को बिछाकर ग्रेवल सड़क बनाकर सार्वजनिक निर्माण विभाग को डामरीकरण के लिए सौंपेगा। तीन माह बाद गत सप्ताह नगर परिषद ने यहां ग्रेवल सड़क बनाने का काम पूरा किया है। पीडब्ल्यूडी ने इस सड़क की दो बार सफाई कराकर जांच कर ली है। सड़क की क्वालिटी को लेकर विभाग संतुष्ट नहीं है। ठेकेदार ने सड़क सही नहीं होने तक डामर डालने से इनकार करते हुए ठेका ही छोड़ने का कह दिया है।

मार्च में कलेक्टर ने 1 माह में सड़क बनाने के आदेश दिए थे, अब भी वही हाल

नागौर. नकाश से गांधी चौक वाले मुख्य मार्ग पर कंकर बिखर रहें हैं।

अजमेरी गेट गौरव पथ पर भी एेसा ही मामला पिछले साल भी आया था सामने

जानकारों की माने तो गत साल अजमेर गेट से ताऊसर की ओर से वाले मार्ग पर बने गौरव पथ पर भी ऐसा ही मामला सामने आया था। जिसमें तत्कालीन कलेक्टर ने हस्तक्षेप किया था। जिसके बाद नगर परिषद के ठेकेदारों ने काम में सुधार किया था। इस सड़क को लेकर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने इसी प्रकार गुणवत्ता को लेकर सवाल उठाए थे। जिसके लेवलिंग को लेकर आपत्ति पीडब्ल्यूडी अधिकारियों की ओर से जताई गई थी। ठेकेदार की ओर से यहां पर सीवरेज लाइन बिछाने के दौरान लापरवाही की बात सामने आई थी। जिसके बाद कई दिन तक काम रूका हुआ था। अधिकारियों के लगातार निरीक्षण के बाद यह गौरव पथ सुधर पाया था। ठेकेदार पर भी कार्रवाई की गई थी। यही हाल नकाश गेट से शहर में प्रवेश करने वाले मुख्य रोड के है। जिसमें लापरवाही बरती गई है।

एक बार तो जोखिम उठा लिया अब नहीं


ये दिए बयान

सड़क की डेंसिटी जीरो है सीवरेज पाइपलाइन डालने का काम पूरा होने के बाद नियमानुसार मिट्टी की कुटाई करना जरूरी है। पीडब्ल्यूडी दावा कर रहा है कि परिषद के ठेकेदार ने इस सड़क पर मिट्टी की कुटाई लेयर बाय लेयर नहीं की है। जांच के दौरान इस सड़क की डेंसिटी नहीं आई है। वर्तमान में सीवरेज का काम अमृत सिटी योजना के माध्यम से कराया जा रहा है। हकीकत यह भी है कि ग्रेवल सड़क बनाने के बाद भी सीवरेज ठेकेदार छोटे बड़े काम के लिए सड़क को अब भी कई जगह खोदने से बाज नहीं आ रहें हैं। पहले भी अजमेरी गेट से ताऊसर रेलवे फाटक तक बनाए गए गौरव पथ की भी डेंसिटी सही नहीं थी। सड़क बनाने के बाद जगह-जगह से धंस रही है इस पर कलेक्टर भी आपत्ति उठा चुके हैं। ठेकेदार भी डामर डालने में आना कानी करने लगा है।

हमने तो काम पूरा करके दे दिया है


X
Nagaur News - rajasthan news the road to the shield of the fort from the map gate will not yet be made because the soil is soft pwd logic will be broken
COMMENT