• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Nagaur News rajasthan news to prevent the tragedy at the crossroads the barricades and drums imposed by the police but half of the disappearances are halfway between the bushes

चौराहे पर हादसे रोकने के लिए पुलिस ने लगवाए बेरिकेड्स और ड्रम मगर अब आधे गायब तो आधे पड़े हैं झाड़ियों के बीच

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:50 AM IST

Nagour News - पादू कलां. गायत्री चौराहे पर कबाड़ के रूप में सड़क किनारे पड़े ड्रम। भास्कर संवाददाता | पादू कलां अजमेर-नागौर...

Nagaur News - rajasthan news to prevent the tragedy at the crossroads the barricades and drums imposed by the police but half of the disappearances are halfway between the bushes
पादू कलां. गायत्री चौराहे पर कबाड़ के रूप में सड़क किनारे पड़े ड्रम।

भास्कर संवाददाता | पादू कलां

अजमेर-नागौर नेशनल हाइवे पर 89 पर पादूकलां में करीब आधा दर्जन खतरनाक चौराहे हैं। इन चौराहों पर तेज गति से निकलते वाहनों से कई बार हादसे हो चुके हैं।

चौराहों पर हादसों में कमी लाने के साथ ही वाहनों की रफ्तार धीमी करने के लिए दाे साल पूर्व पुलिस ने ग्रामीणों व दुकानदारों के सहयोग से कुछ चौराहों पर बेरिकेड्स तो कुछ पर मिट्टी से भरे ड्रम रखवाए थे, मगर पुलिस की अनदेखी के चलते कुछ ड्रम व बेरिकेड्स तो सड़क किनारे धूल फांक रहे है तो कुछ ड्रम गायब हो गए। ऐसे में अब आए दिन छोटे-बड़े हादसे होते रहते है।

एनएच 89 के पादूकलां बाइपास पर स्थित गायत्री चौराहा हाइवे व पादूकलां कस्बे को आपस में जोड़ता है। इस चौराहे पर सर्वाधिक वाहनों का दबाव रहता है। दो साल पूर्व यहां हादसे में एक बुजुर्ग की मौत के बाद ग्रामीणों ने हाइवे की खामियों को लेकर रास्ता जाम कर दिया था। इस पर ग्रामीणों व अधिकारियों के बीच चौराहे पर वाहनों की गति धीमी कराने को लेकर बेरिकेड्स लगाने की बात पर समझौता हुआ था।

समझौते के बाद आस-पास के दुकानदारों ने गायत्री चौराहे पर मिट्टी से ड्रम भरवाकर उन्हें लाल रंग से पुतवाकर बेरिकेड्स के रूप में हाइवे पर रखवाया थे। मगर अब ये बेरिकेड्स सड़क किनारे झाड़ियों में धूल फांक रहे हैं। ऐसे में फिर से इस इन चौराहों पर तेज रफ्तार में वाहन गुजर रहे है। इससे आए दिन छोटे-बड़े हादसे घटित हो रहे है। वही दूसरी ओर एनएच प्रशासन व पुलिस की ओर से हादसों में कमी लाई जाने को लेकर कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है। पुलिस की अनदेखी की वजह से ही प्रमुख चौराहों व आबादी क्षेत्र से पहले रखे हुए बेरिकेड्स धूल फांक रहे हैं। कही जगह तो बेरिकेड्स गायब भी हो गए।

पादू कलां. हाइवे स्थित चौराहे पर गति नियंत्रण के लिए नहीं है कोई प्रबंध।

अजमेर रोड तिराहा सबसे खतरनाक, नहीं हैं बेरिकेड्स

पादूकलां के अजमेर रोड पर स्थित तिराहे पर एनएच 89 बाइपास से गुजरती है। वही एक मुख्य सड़क कस्बे में आती है। इस तिराहे पर अंग्रेजी के वाई अक्षर के रूप में तीन सड़कें जुड़ी हुई है। ऐसे में कई बार पादूकलां कस्बे व मेड़ता की ओर से एक साथ अजमेर की तरफ जाने के लिए वाहन आ जाते है, और उसी समय सामने अजमेर की ओर से वाहन आ जाने पर खतरनाक स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसे में कई बार वाहन चालकों की सूझबूझ से हादसे भी टल चुके है। यहां हादसे रोकने के लिए भी बेरिकेड्स लगाए गए थे। मगर अब वो तिराहे पर नजर नहीं आ रहे है। ऐसे में यहां कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

पुलिस थाना चौराहे पर हाइवे के किनारे पड़े हैं बेरिकेड्स

एनएच 89 पर पादूकलां कस्बे के तीन बड़े चौराहे है। इनमें से गायत्री चौराहे के बाद रियांबड़ी चौराहा है। इस चौराहे से महज 200 मीटर दूर रियांबड़ी रोड पर पादूकलां थाना भी है। चौराहे पर नाकाबंदी को लेकर पुलिस की ओर से बेरिकेड्स तो लगाए हुए है, मगर वे सड़क के किनारे है। यह बेरिकेड्स हाइवे पर होने वाले हादसों को रोकने के लिए कारगर साबित नहीं हो पा रहे है।

हादसे रोकने के लिए करेंगे उपाय


Nagaur News - rajasthan news to prevent the tragedy at the crossroads the barricades and drums imposed by the police but half of the disappearances are halfway between the bushes
X
Nagaur News - rajasthan news to prevent the tragedy at the crossroads the barricades and drums imposed by the police but half of the disappearances are halfway between the bushes
Nagaur News - rajasthan news to prevent the tragedy at the crossroads the barricades and drums imposed by the police but half of the disappearances are halfway between the bushes
COMMENT