पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Nagaur News Students Will Now Be Able To Read In The Library Of Government Schools Books Of Stories Puzzles Poems Common Sense And Motivational Context

सरकारी स्कूलों की लाइब्रेरी में अब विद्यार्थियों को पढ़ने को मिलेंगी कहानी, पहेली, कविता, सामान्य ज्ञान एवं प्रेरक प्रसंग की पुस्तकें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के सरकारी स्कूल के बच्चों को अब लाइब्रेरी में बच्चों को कहानी, कविता, सामान्य ज्ञान एवं प्रेरक प्रसंग सहित अन्य ज्ञानवर्धक पुस्तकें पढ़ने को मिलेंगी। पढ़े भारत, बढ़े भारत अभियान के तहत प्रदेशभर के सरकारी स्कूलों के पुस्तकालयों में नई किताबें खरीदने के लिए बजट दिया जाएगा। समग्र शिक्षा अभियान के तहत जारी किए गए बजट से प्रदेश की 66,641 स्कूलों को यह राशि मिलेगी। इन स्कूलों के पुस्तकालय में बच्चों के साहित्य के साथ ही रीडर्स कॉनर्स और ऑर्डर्स क्लब गठित किए जाएंगे। यह क्लब नेशनल सेंटर फॉर चिल्ड्रन्स लिटरेचर की सहायता से विकसित होंगे। इसके लिए सरकारी स्कूलों के लिए जिले को बजट मिल गया है, इसे सरकारी स्कूलों के बैंकों के माध्यम से भिजवाया जा रहा है। प्रदेश में प्रारंभिक शिक्षा के 52539 स्कूल व माध्यमिक शिक्षा के 14405 सरकारी स्कूलों में अभियान के तहत पुस्तकालयों के लिए राशि आवंटित की गई है।

बजट: प्रति स्कूल Rs.3 से 20 हजार तक मिलेगी राशि
योजना में कक्षा 1 से 8 तक के स्कूलों को प्रति स्कूल 13 हजार रुपए, कक्षा 6 से 8 के स्कूलों को 10 हजार रुपए, कक्षा 1 से 5 तक के स्कूलों को 3 हजार रुपए, कक्षा 1 से 10 तक के स्कूलों को 15 हजार, कक्षा 6 से 12 तक स्कूल को 15 हजार का, कक्षा 9 से 12 के स्कूलों को 15 हजार और कक्षा 6 से 10 के स्कूल को भी 10 हजार रुपए प्रति स्कूल दिए जाएंगे। सर्वाधिक राशि के रूप में 20 हजार रुपए दिए जाएंगे। समग्र शिक्षा अभियान के अधिकारियों के अनुसार प्रारंभिक कक्षाओं के लिए पुस्तक के बाल आकर्षक होनी चाहिए। जिसमें चित्र अधिक शब्द कम हो, उच्च प्रारंभिक शिक्षा स्तर के लिए पुस्तकें प्रेरक प्रसंगों, कविता, कहानियों, सामान्य ज्ञान, पाठक विषय आदि पर आधारित होंगी।

चित्रकथा से आत्मकथा व शब्दकोष की पुस्तकों का चयन
प्रारंभिक कक्षाओं के लिए पुस्तक के बाल आकर्षक होनी चाहिए। जिसमें चित्र अधिक शब्द कम हों, उच्च प्रारंभिक शिक्षा स्तर के लिए पुस्तकें प्रेरक प्रसंगों, कविता, कहानियों, पहेलियों, सामान्य ज्ञान, पाठक विषय, सामाजिक चेतना, ऊर्जा संरक्षण, पर्यावरण संरक्षण, योगा, व्यायाम, एवं सामाजिक स्वभाव, अमर चित्रकथा आदि पर आधारित होगी। उच्च माध्यमिक और माध्यमिक स्तर के लिए विभिन्न महापुरुषों की जीवनी या आत्मकथाएं, सामाजिक समरसता, ज्ञानवर्धक, और शिक्षाप्रद पुस्तकें होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...