• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • PHEE News the candidates also tried to discuss the defeat and win equations with the workers and the families to bring the routine back on track
--Advertisement--

प्रत्याशियों ने कार्यकर्ताओं व परिजनों के साथ हार-जीत के समीकरणों पर की चर्चा, दिनचर्या को पटरी पर लाने का भी किया प्रयास

Nagour News - मेड़ता सिटी | मेड़ता विधानसभा सीट से चुनावों में भाग्य आजमा रहे प्रत्याशियों का भाग्य शुक्रवार शाम को ईवीएम में बंद...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:40 AM IST
PHEE News - the candidates also tried to discuss the defeat and win equations with the workers and the families to bring the routine back on track
मेड़ता सिटी | मेड़ता विधानसभा सीट से चुनावों में भाग्य आजमा रहे प्रत्याशियों का भाग्य शुक्रवार शाम को ईवीएम में बंद हो गया है। करीब एक पखवाड़े की चुनावी भागदौड़ के बाद सभी प्रत्याशी शनिवार को रिलेक्स मूड में नजर आए। सभी ने 15 दिनों से चुनाव प्रचार के कारण अस्त व्यस्त हो गई अपनी जीवन शैली को पटरी पर लाने का प्रयास किया। अधिकांश ने घर परिवार में समय बिताया तो दोपहर बाद वे अपने प्रमुख कार्यकर्ताओं से मिले और हार-जीत के समीकरणों पर चर्चा भी की। दैनिक भास्कर ने शनिवार को चुनिंदा प्रत्याशियों की चुनावी खुमारी जानने के लिए संपर्क किया तो कुछ प्रत्याशी कार्यकर्ताओं के साथ चाय की चुस्कियां लेते नजर आए तो कुछ प्रत्याशी घरेलू कामकाज निपटाते भी दिखे।

मेड़ता सीट से भाजपा प्रत्याशी भंवरूराम रिठारिया आत्मविश्वास से भरे नजर आए। यहां बस स्टैंड के पास स्थित भाजपा चुनाव कार्यालय में रिठारिया ने अपने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और चुनावी गणित का फीडबैक लिया। इस दौरान चाय की चुस्कियों के साथ रिठारिया ने भाजपा जिला मंत्री सीपी बिड़ला, पार्षद महेंद्र शर्मा, छोटूलाल वैष्णव, सत्यनारायण सिखवाल, रामनिवास बोराणा आदि से चर्चा की और फीडबैक भी लिया। इस दौरान रिठारिया ने चुनावी किस्से भी सुनाए। उन्होंने सरपंच चुनाव तथा प्रधान के चुनावों में मिली जीत के अनेक किस्से सुनाए। इस दौरान रिठारिया ने बताया कि नींद तो कई दिनों से कम है मगर आज घर का बढ़िया खाना नसीब हुआ। अभी भी चुनावी थकान हावी है, जो अब धीरे-धीरे उतरेगी।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की मेड़ता सीट से उम्मीदवार इंदिरा देवी बावरी के लिए भी शनिवार का दिन सुकून भरा रहा। बीते 15 दिनों से चुनावी भागदौड़ के बाद शनिवार के दिन उन्होंने थोड़ा रिलेक्स फील किया। उन्होंने बताया कि अभी कई दिनों से घर का बना खाना भी नसीब नहीं हो रहा था। शनिवार को भाभी के हाथ का बना खाना खाया और अच्छी घर की बनी चाय भी पी। वे शनिवार को देर से उठी और सीधे किचन में गई। जहां उन्होंने अपनी बच्चियों के साथ चाय बनाई। इस दौरान कार्यकर्ता रामकिशोर धौलिया, राजेंद्र डांगा, सुनील जाखड़, गोविंदराम बेड़ा मोकलपुर, राजेंद्र कमेड़िया आदि भी आ गए तो उनके साथ चुनावी चर्चा की फीडबैक लिया। कार्यकर्ताओं ने भी जीत का दावा किया। वहीं इंदिरा देवी ने अपना समय बच्चों के साथ घरेलू कामकाज करते हुए बिताया।

PHEE News - the candidates also tried to discuss the defeat and win equations with the workers and the families to bring the routine back on track
X
PHEE News - the candidates also tried to discuss the defeat and win equations with the workers and the families to bring the routine back on track
PHEE News - the candidates also tried to discuss the defeat and win equations with the workers and the families to bring the routine back on track
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..