--Advertisement--

नैनवां में हडूड़ा, देखने उमड़ा जन सैलाब

शहर में शुक्रवार शाम को बाजार में मध्य स्थित झंडे की गली पर धुलेंडी के अवसर पर लोकानुरंजन हडूडा का आयोजन हुआ।...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:50 AM IST
शहर में शुक्रवार शाम को बाजार में मध्य स्थित झंडे की गली पर धुलेंडी के अवसर पर लोकानुरंजन हडूडा का आयोजन हुआ। इसमें बैंडबाजों पर बज रही बहारों फूल बरसाओ मेरा मेहबूब आया है कि धुन के साथ आधे घंटे प्रदर्शनों का दौर चला। इसको देखकर बाराती व दर्शक लोटपोट हो गए। हडूडे के इस आयोजन में बढ़चढ़ कर लोगों ने भाग लिया।

शुक्रवार को दोपहर तक लोगों ने रंग गुलाल से जमकर होली खेली इसके बाद शाम को नहा धोकर अच्छे कपड़े पहनकर हडूडे के आयोजन में शामिल हुए। हडूडे के आयोजन में शहरवासी दो पक्षों नायक-नायिका में बट जाता है। शहर में मुख्य बाजार में मध्य झंडे की गली पर हडूडे का आयोजन होता है। झंडे की गली के उत्तर दिशा का हिस्सा नायक पक्ष मालदेव तथा दक्षिण दिशा का हिस्सा नायिका पक्ष मालदेवणी का होता है।

नैनवां. हडूडा में जोर लगातेे बाराती।

ऐसे हुआ आयोजन:शुक्रवार शाम साढ़े पांच बजे नायक मालदेव की बरात बैंडबाजों व आतिशबाजी के साथ मालदेव चौक से रवाना हुई। उधर नायिका मालदेवणी की बरात लोहडी-चोहटी से रवाना हुई, जो दोनों बारातें झंडे के गली पर पहुंची। दोनों बारातों में बराती फूले-पताशे लुटाते अश्लील गीत गाते नाचते, अपने-अपने दूल्हे का उत्साह बढ़ाते हुए जयकारा लगाते चल रहे थे। नायक मालदेव का दूल्हा ऊंट पर सवार होकर चल रहा था। दोनों बारातें के झंडे की गली पहुंचते ही हडूडे का आयोजन शुरु हो गया। दोनों पक्षों के दूल्हों व बारातियों ने एक-दूसरे की तरफ अश्लील इशारा करते हुए प्रदर्शन करना शुरु कर दिया। इस दौरान कही लोग बांस पर खड़े होकर एक-दूसरे पक्ष की और अश्लील प्रदर्शन कर रहे थे। दोनों पक्ष आपस में भिड़ न जाए इसलिए इसको देखते हुए सीआई लखनलाल मीणा के नेतृत्व में पुलिस जाब्ता दीवार बनकर खड़ी रही। दोनों पक्ष एक-दूसरे की तरफ जाने का प्रयास करते इससे पहले ही पुलिस व प्रमुख लोगों ने दोनों बारातों को समझाइश कर वापस लौटा दिया। इस प्रकार हडूडे का आयोजन शांतिपूर्वक सम्पन्न हो गया। हडूडे में हुए प्रदर्शनों को देखकर बराती व दर्शक हंसी से लोटपोट हो गए। इस दौरान मालदेव नायक बने दूल्हे की जेब साफ कर गया।