• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Narlai News
  • आजादी के बाद खोबा गुड़ा मुख्य सड़क से जुडे़गा, 1 करोड़ 40 लाख से होगा देसूरी तक सड़क का निर्माण
--Advertisement--

आजादी के बाद खोबा गुड़ा मुख्य सड़क से जुडे़गा, 1 करोड़ 40 लाख से होगा देसूरी तक सड़क का निर्माण

माडपुर ग्राम पंचायत का खोबा गुड़ा गांव आजादी के बाद मुख्य सड़क से जुड़ेगा। गांव से देसूरी तक 1 करोड़ 40 लाख की लागत से...

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 05:10 AM IST
आजादी के बाद खोबा गुड़ा मुख्य सड़क से जुडे़गा, 1 करोड़ 40 लाख से होगा देसूरी तक सड़क का निर्माण
माडपुर ग्राम पंचायत का खोबा गुड़ा गांव आजादी के बाद मुख्य सड़क से जुड़ेगा। गांव से देसूरी तक 1 करोड़ 40 लाख की लागत से डामरीकरण सड़क का निर्माण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि एसडीएम मुख्यालय से मात्र चार किमी दूरी पर स्थित माडपुर पंचायत का खोबा गुड़ा गांव आज भी विकास को मोहताज है। बरसात में यह गांव टापू में तबदील हो जाता है क्योंकि यह गांव घोडाधड़ा बांध के पास स्थित है। ऐसे में बांध में पानी की आवक होते ही पानी गांव के पास पहुंच जाता है। जिसके कारण खोबा गुड़ा से नारलाई की तरफ आने वाला मार्ग पानी के कारण बंद हो जाता है। जबकि गांव के चारों तरफ पहाडिय़ां होने के कारण आवागमन का दूसरा कोई पक्का रास्ता नहीं होने के कारण ग्रामीणों को देसूरी की तरफ कच्चे मार्ग से करीब चार-पांच किमी तक आवागमन करना पड़ता है। इस नाले पर कोई पुलिया नहीं है। ऐसी स्थिति में गांव में कोई बीमार हो जाता है तो उसको उपचार के लिए ले जाना बड़ा ही मुश्किल हो जाता है। खोबा गुड़ा गांव से देसूरी की तरफ आने वाला मार्ग भी कच्चा है तथा बरसात के मौसम में यह रास्ता भी खराब हो जाता है। अब इसके लिए गांव से देसूरी तक चार किमी डामरीकरण सड़क का निर्माण करवाया जाएगा। इस पर 1 करोड़ 40 लाख की राशि खर्च होगी। वहीं निर्माण कार्य बरसात के मौसम के बाद शुरू किया जाएगा।

चार किमी सड़क निर्माण पर 1 करोड़ 40 लाख की राशि होगी खर्च

खोबा गुड़ा गांव के ग्रामीण वर्षों से गांव को मुख्य सड़क से जोड़ने की मांग करते आ रहे थे। ऐसे में खोबा गुड़ा गांव से देसूरी तक चार किमी डामरीकरण सड़क का निर्माण किया जाएगा। जिस पर 1 करोड़ 40 लाख रुपए की राशि खर्च होगी।

बारिश के दिनों में बंद हो जाता है रास्ता, अब चार किमी सड़क बनेगी, ग्रामीणों को मिलेगी राहत

बावरियों का झूपा और खोबा गुड़ा के बीच से गुजरता है बरसाती नाला

खोबा गुडा गांव जाने का मुख्य रास्ता नारलाई-देसूरी मेगा हाईवे से जाता है। इस मार्ग पर तीन वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क निर्माण योजना के तहत सड़क का निर्माण करवाया था। बावरियों का झूपा से खोबा गुड़ा गांव के बीच बरसाती नाला है। जिसके कारण बरसात के मौसम में दोनों गांवों का संपर्क टूट जाता है।

देसूरी जाने वाला मार्ग भी है कच्चा

बरसात के शुरू होते ही खोबा गुड़ा गांव के ग्रामीणों का नारलाई की तरफ आवागमन लगभग बंद हो जाता है। ऐसे में ग्रामीणों को जरूरतंमद वस्तुओं के लिए देसूरी आना पड़ता है। मगर यह रास्ता भी कच्चा है। ऐसे में बरसात के मौसम में यह रास्ता और भी खराब हो जाता है।

देसूरी | खोबा गुड़ा गांव जाने वाला कच्चा मार्ग, जिस पर डामरीकरण का कार्य होगा।

बरसात के मौसम में टापू बन जाता है खोबा गुड़ा गांव

माडपुर पंचायत के खोबा गुडा गांव घोडाधड़ा बांध के पास है। इसके आसपास बड़ी पहाडिय़ां मौजूद है। वहीं बरसात का मौसम शुरू होते ही आसपास से गुजरने वाले बरसाती नालों में पानी की आवक शुरू हो जाती है। ऐसे में बांध में पानी से भर जाने के बाद बांध का पानी गांव के पास पहुंच जाता है। जिसके बाद यह गांव टापू में तब्दील हो जाता है।

सड़क निर्माण से खोबा गुड़ा गांव के ग्रामीणों को मिलेगी राहत


निर्माण कार्य के लिए 1 करोड़ 40 लाख की राशि हुई स्वीकृत


X
आजादी के बाद खोबा गुड़ा मुख्य सड़क से जुडे़गा, 1 करोड़ 40 लाख से होगा देसूरी तक सड़क का निर्माण
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..