Hindi News »Rajasthan »Nasirabad» सर्वोच्च न्यायालय का एससी-एसटी संबंधी फैसला बदलने की मांग

सर्वोच्च न्यायालय का एससी-एसटी संबंधी फैसला बदलने की मांग

भारतीय वाल्मीकि कल्याण महासभा ने उपखंड अधिकारी वीरेंद्र यादव को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम ज्ञापन देकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 28, 2018, 05:40 AM IST

भारतीय वाल्मीकि कल्याण महासभा ने उपखंड अधिकारी वीरेंद्र यादव को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम ज्ञापन देकर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा हाल में दिए गए एससीएसटी संबंधी फैसले को बदलने की मांग की।

ज्ञापन में संस्था के प्रदेशाध्यक्ष जसवंत चांवरियां ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय ने हाल में एससीएसटी एक्ट में ये फैसला दिया कि इस कानून का दुरुपयोग हो रहा है। इसलिए अब ऐसे मामलों में आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी ना होकर पहले डीएसपी कैडर के अधिकारी द्वारा मामले की सत्यता की जांच कराई जाएगी और उसके बाद ऐसे मामलों में कार्रवाई की जाएगी। महासभा के चांवरियां, पार्षद सीमा बोयत आदि ने इस फैसले को देश के 30 करोड़ दलित और आदिवासियों की जिंदगी पर कुठाराघात बताते हुए ज्ञापन में बताया कि आज भी कई स्थानों पर दलितों के दूल्हों को घोड़ी नसीब नहीं होती। चांवरिया ने केंद्र सरकार से सर्वोच्च न्यायालय में रिव्यू पिटिशन दाखिल कर पुराने एससीएसटी एक्ट को यथावत रखने या संसद में संशोधन बिल लाकर एक्ट को बदलने की मांग की। पार्षद सीमा बाेयत ने बताया कि आगामी 2 अप्रेल को भारत बंद का आह्वान किया गया है। इसके अंतर्गत नगर में भी बंद कराया जाएगा। ज्ञापन देते समय नरेश टांक एडवोकेट, मनोज सांगेला, इंद्रजीत चांवरियां, मदनलाल बीदावत, दिलीप गोयर, अनिल, राजेश करोती, राहुल नंगलिया, सुधेश बाेयत, राजेंद्र सुकरिया, अमित बीदावत, देवीलाल, ज्ञान करोती आदि उपस्थित थे।

नसीराबाद. एससी एसटी एक्ट में बदलाव पर एसडीएम को ज्ञापन सौंपते हुए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nasirabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×