नसीराबाद

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nasirabad News
  • श्रीयादे माता मंदिर को लेकर समिति ने दी 11 अप्रैल के बाद आंदोलन की चेतावनी
--Advertisement--

श्रीयादे माता मंदिर को लेकर समिति ने दी 11 अप्रैल के बाद आंदोलन की चेतावनी

श्रीयादे मंदिर प्रजापति समाज विकास समिति ने उपखंड अधिकारी वीरेंद्र यादव को ज्ञापन देकर रामसर मार्ग स्थित...

Dainik Bhaskar

Apr 10, 2018, 04:30 AM IST
श्रीयादे माता मंदिर को लेकर समिति ने दी 11 अप्रैल के बाद आंदोलन की चेतावनी
श्रीयादे मंदिर प्रजापति समाज विकास समिति ने उपखंड अधिकारी वीरेंद्र यादव को ज्ञापन देकर रामसर मार्ग स्थित श्रीयादे माता मंदिर पर विद्युत कनेक्शन जारी करवाने और वहां पर किया गया अतिक्रमण हटवाने की मांग की है। दूसरी ओर नरेश यादव व अन्य ने भी ज्ञापन सौंपकर भैरवनाथ मंदिर व अासपास की जमीन पर हक जताया है।

समिति के अध्यक्ष सुरेश मारवाड़ा, भैरूलाल, नारायण, आेमप्रकाश, गोपाल मारवाड़ा, विमल, दीपक प्रजापति आदि ने ज्ञापन में बताया कि रामसर मार्ग स्थित श्रीयादे माता मंदिर की विद्युत लाईन को गत 26 मार्च को नरेश यादव, भंवरलाल रावत व इनके साथियों ने काट दिया था। समिति ने विद्युत निगम में नए विद्युत कनेक्शन हेतु आवेदन किया गया था लेकिन निगम के कनिष्ठ अभियंता द्वारा कोर्ट का स्टे होने का बहाना बनाकर कनेक्शन नहीं दे रहे हैं। ज्ञापन में बताया कि नरेश यादव व उसके साथियों ने गत 6 अप्रेल को मंदिर पर रह रहे भैरूलाल के साथ मारपीट भी की थी जिसकी रिपोर्ट सिटी थाने में दर्ज करवाई गई है लेकिन उस पर कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की जा रही।

समिति ने आरोप लगाया कि इसी दौरान नरेश यादव, भंवरलाल रावत व उनके साथियों ने श्रीयादे माता मंदिर के पास स्थित सार्वजनिक भूमि पर सीमेंट के खंभे लगाकर अतिक्रमण कर लिया है और तारबंदी करने पर आमादा है जिससे मंदिर में होने वाले धार्मिक व सामाजिक आयोजन में बाधा उत्पन्न होगी। प्रजापति समाज सदस्यों ने 11 अप्रैल तक समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

दूसरी ओर यादव समाज के नरेश यादव, जितेंद्र यादव, मुकेश यादव, आदित्य यादव आदि ने भी इस मामले को लेकर ज्ञापन दिया है। यादव ने ज्ञापन में बताया कि रामसर मार्ग पर स्थित भैरवनाथ मंदिर घीसालाल कुम्हार ने बनवाया था तथा श्रीयादे माता मंदिर भी उनकी अनुमति से प्रजापति समाज ने बनवाया था। घीसालाल कुम्हार की मृत्यु हो चुकी है तथा मृत्यु से पूर्व उन्होंने भैरूनाथ मंदिर व उसकी आसपास के मंदिर की वसीयत उसके नाम की थी। लेकिन उक्त मंदिर पर स्थित एक कमरे व बाथरूम पर गीता देवी व उसके पुत्र भैरूलाल ने कब्जा कर रखा है। गीता देवी व उसका पुत्र कब्जा करने की नीयत से समाज के सुरेश, दीपक प्रजापत, कमल, आेमप्रकाश आदि के साथ मिलकर उसकी झूठी शिकायत कर रहे हैं।

X
श्रीयादे माता मंदिर को लेकर समिति ने दी 11 अप्रैल के बाद आंदोलन की चेतावनी
Click to listen..