--Advertisement--

ट्रेलर के खलासी की मौत के बाद गांव में हंगामा

साणंद, अहमदाबाद, गुजरात में ट्रेलर पर खलासी का काम कर रहे सरदारपुरा के युवक की संदिग्ध मौत के बाद गुरुवार को उसका शव...

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 05:20 AM IST
ट्रेलर के खलासी की मौत के बाद गांव में हंगामा
साणंद, अहमदाबाद, गुजरात में ट्रेलर पर खलासी का काम कर रहे सरदारपुरा के युवक की संदिग्ध मौत के बाद गुरुवार को उसका शव गांव पहुंचने पर हंगामा हो गया। गुजरात से एंबुलेंस में शव लेकर अाए ट्रेलर चालक को लेकर परिजन एवं ग्रामीण सदर थाने पहुंच गए हत्या का मामला दर्ज करने की मांग पर अड़ गए। लगभग डेढ़ घंटे की समझाइश के बाद पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम कराकर अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध हत्या का शून्य नंबर मुकदमा दर्ज कर संबंधित थाने गुजरात भेजने का आश्वासन देकर मामला शांत किया।

जानकारी के अनुसार ग्राम सरदारपुरा निवासी सुमेरसिंह पुत्र भाणू सिंह 4 दिन पूर्व ग्राम चाट निवासी ट्रेलर चालक मनोहरसिंह के साथ गया था। बुधवार को मनोहरसिंह ने सुमेरसिंह के परिजन को फोन किया कि साणंद अहमदाबाद के पास सुमेरसिंह की मिर्गी का दौरा पड़ने से मौत हो गई है। मनोहर ने मृतक के जीजा से मृतक को वहां आने और पुलिस कार्रवाई करने की मांग की। चालक मनोहर के अनुसार मृतक के जीजा ने पुलिस कार्रवाई से इनकार करते हुए शव को गांव लाने को कहा। गुरुवार को चालक मनोहर सिंह सुमेर का शव एबुलेंस में लेकर सरदारपुरा पहुंचा तो हंगामा हो गया। मृतक के चेहरे और हाथ पैरों में चोट के निशान थे तथा चेहरा खून से सना था। जिस पर परिजनों ने चालक मनोहर से सुमेर की मृत्यु के बारे में व चोट के बारे में पूछताछ की तो उसने बताया कि उसको मिर्गी आ गई थी इस दौरान वह ट्रेलर की केबिन की सीट उछलने लगा और उसके चेहरे व हाथ पैरों में चोट लग गई और वह घायल होकर अचेत हो गया तथा उसके बाद उसकी मृत्यु हो गई। लेकिन परिजनों को चालक की बात पर विश्वास नहीं हुआ और परिजन व ग्रामीण एकत्रित होकर एंबुलेंस को शव सहित लेकर व चालक मनोहर को साथ लेकर सदर थाने पहुंच गए। ग्रामीणों ने मृतक की हत्या का संदेह जताते हुए हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की।

सदर थाना प्रभारी रामावतार ताखर ने परिजनों एवं ग्रामीणों को समझाईश करते हुए बताया कि मृतक की मृत्यु गुजरात में हुई है इस कारण वह यहां मुकदमा दर्ज नहीं कर सकते लेकिन फिर भी वह उनकी मदद करने के उद्देश्य से मृतक का पोस्टमार्टम स्थानीय अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से करवाकर आगामी कार्रवाई के लिए रिपोर्ट संबंधित थाने के लिए भेज सकते हैं। लेकिन परिजन एवं ग्रामीण समझने को तैयार नहीं हुए और हंगामा करते हुए शव को चौराहे पर रखने की धमकी देने लगे। थाना प्रभारी ताखर ने ग्रामीणों को कानून को हाथ में लेने पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही। इसी दौरान पूर्व जिला परिषद सदस्य श्रवणसिंह रावत भी थाने पहुंच गए और उन्होंने ग्रामीणों को शांत किया। इसके पश्चात थाना प्रभारी ताखर, श्रवणसिंह, राजगढ़ सरपंच रामदेव सिंह आदि ने वार्ता की और उच्चाधिकारियों से बात कर निर्णय किया कि मृतक का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर थाने में शून्य नंबर का मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्रवाई हेतु गुजरात के संबंधित थाने को भेज दिया जाए। जिस पर सहमति बनने पर पुलिस ने मृतक के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया और अज्ञात के विरुद्ध शून्य नंबर का हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया।

मृतक के पिता ने दी हत्या की रिपोर्ट

सदर थाने में शून्य नंबर की काटी गई प्राथमिकी में मृतक के पिता भाणूसिंह पुत्र लादूसिंह ने बताया कि बुधवार को मनोहर ने फोन किया कि उनके पास पैसे नहीं है इसलिए उसके बैंक खाते में पैसे डालो ताकि सुमेर को गांव भिजवा दूं। इसके बाद गुरुवार को शव को देखा तो उसके चेहरे पर खून जमा था व परों पर खरोचनुमा चोट के निशान थे। इसलिए मामले की जांच कर दोषी के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। सदर थाना पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध हत्या का शून्य नंबर का मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस के अनुसार उक्त शून्य रिपोर्ट गुजरात के संबंधित थाने को अग्रिम कार्रवाई हेतु भेजी जाएगी।

नसीराबाद. ग्रामीणों एवं परिजनों को समझाइश करते थाना प्रभारी ताखर।

एंबुलेस में शव जिसे लेकर सरदारपुरा के ग्रामीण थाने पहुंचे।

X
ट्रेलर के खलासी की मौत के बाद गांव में हंगामा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..