नसीराबाद

--Advertisement--

एंबुलेंस के देरी से पहुंचने से मरीज की हुई मौत

विगत दिनों दुर्घटना में मृत एक युवक के परिजन ने आरोप लगाया कि अस्पताल की एंबुलेंस एक घंटा देरी से आई। इससे घायल...

Danik Bhaskar

May 18, 2018, 06:00 AM IST
विगत दिनों दुर्घटना में मृत एक युवक के परिजन ने आरोप लगाया कि अस्पताल की एंबुलेंस एक घंटा देरी से आई। इससे घायल अकबर पुत्र अलाऊद्दीन की अजमेर के रास्ते में ही मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि यदि राजकीय अस्पताल की एंबुलेंस समय पर आ जाती तो गंभीर रूप से घायल युवक अकबर समय से अजमेर अस्पताल पहुंच जाता और उसकी जान बच जाती। परिजन भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष इस्लामुद्दीन कुरैशी ने उपखंड अधिकारी वीरेंद्र यादव को ज्ञापन देकर आरोप लगाए। परिजन ने कहा कि एंबुलेंस 24 घंटे अस्पताल में उपलब्ध रहनी चाहिए, लेकिन कई बार अाग्रह के बावजूद अस्पताल प्रशासन एंबुलेंस को अस्पताल परिसर में तैयार खड़ा रखने के बजाय हमेशा पीछे बने गैरेज में खड़ी रखते हैं। एंबुलेंस का ड्राइवर भी समय पर उपलब्ध नहीं होता। कुरैशी ने बताया कि गत मंगलवार को फोन करने के 1 घंटे बाद चालक एंबुलेंस लेकर आया। कुरैशी ने एसडीएम यादव से अस्पताल में 24 घंटे एंबुलेंस सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने और देरी से एंबुलेंस पहुंचाने के मामले की जांच कर दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की।

Click to listen..