--Advertisement--

डाेल उत्सव : उड़त गुलाल लाल भए बदरा, रस बरसाए होली पे...

नाथद्वारा. पुष्टिमार्गीय मत की द्वितीय पीठ श्रीविट्ठलनाथ मंदिर में फाल्गुन कृष्णपक्ष द्वितीया पर शनिवार को...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:55 AM IST
नाथद्वारा. पुष्टिमार्गीय मत की द्वितीय पीठ श्रीविट्ठलनाथ मंदिर में फाल्गुन कृष्णपक्ष द्वितीया पर शनिवार को डोलोत्सव में सुबह से रात तक के दर्शनों में अबीर-गुलाल उड़ता रहा। मंदिर में गुलाल की परत बिछ गई। उड़त गुलाल लाल भए बदरा, रस बरसाए होली पे... सहित अन्य रसिया पदों के गान पर भक्तों ने ठाकुरजी संग होली खेलने का खूब लुत्फ उठाया। राजभोग के दर्शन में प्रभु को डोल तिबारी में विराजित किया। प्रभु के चार राजभोग के दर्शन हुए। इनमें वैष्णवों पर खूब अबीर-गुलाल उड़ाया। हर दर्शन में भक्तों की कतार रही। कांकरोली के प्रभु द्वारिकाधीश मंदिर में भी डोलोत्सव पर श्रद्धालुओं पर खूब गुलाल उड़ाया। डोलोत्सव के साथ ही रसिया गान पर विराम लगा।

रसिया गान को विराम : डोलोत्सव के साथ मंदिर में चल रहे रसिया गान पर विराम लगा। ब्रजवासियों ने ढफ धर दे यार गई परकी..., रसिया को सूरत लगी घर की..., बरस दिना के बारह महीना, खबर ना है पल की..., एक-एक महीना लगे बरसन के, चैन ना है पल भर की... सरीखे रसिया का गान कर माहौल ब्रजमय बना दिया।