--Advertisement--

कोलकाता से उदयपुर आई बारात; वर पक्ष ने दहेज मांगा... युवती ने चंद घंटे पहले कर दिया शादी से इनकार

दोनों पक्ष पहुंचे थाने, समाज के मौतबीरों ने समझौते का प्रयास किया

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 07:53 AM IST
परिवार सहित सूरजपोल थाने पहुंची लड़की, वर पक्ष भी थाने आया। इशिता (बीच में) परिवार सहित सूरजपोल थाने पहुंची लड़की, वर पक्ष भी थाने आया। इशिता (बीच में)

उदयपुर. सूरजपोल थाना क्षेत्र स्थित गुजराती समाज भवन में सोमवार को होने वाली शादी से चंद घंटों पहले दुल्हन ने वर पक्ष के दहेज मांगने से परेशान होकर शादी करने से इनकार कर दिया। युवती अपने परिवार के साथ एफआईआर दर्ज करवाने थाने पहुंची। इस पर पुलिस ने वर पक्ष को भी थाने बुला लिया। समाज के मौतबीरों ने थाने में दोनों पक्षों के बीच समझौते का प्रयास किया।

गुजराती भवन में ठहरी थी बारात: सोमवार को गुजराती समाज भवन में सेक्टर 14, हिरणमगरी निवासी युवती इशिता उर्फ हीना पुत्री करण सिंह खजांची की कोलकाता निवासी अमित बैद पुत्र बिजय सिंह बैद से शादी होने वाली थी। वर पक्ष भी 6 जुलाई से गुजराती समाज भवन में ठहरा हुआ है। शादी में दिए जाने वाले रुपए, ज्वैलरी, अन्य दहेज के सामान और व्यवस्थाओं को लेकर दोनों पक्षों में विवाद हुआ। युवती ने आरोप लगाया कि अमित और उसके घरवाले, बहन, जीजा मुझे लगातार दहेज की मांग कर टॉर्चर कर रहे हैं। अमित ने दहेज मांगने के आरोपों को निराधार बताते हुए इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।


उदयपुर की है युवती, कोलकाता से शादी करने आया था अमित: थानाधिकारी आदर्श कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों में समझौता हो गया है। युवती की ओर से कोई एफआईआर दर्ज नहीं करवाई गई है। युवती ने शादी से तो इनकार किया है, लेकिन वर पक्ष के खिलाफ कोई कार्रवाई की रिपोर्ट भी नहीं दी। समाज के मौतबीर ने बताया कि दोनों पक्षों में समझौता हुआ है। दोनों पक्ष आपस में बैठकर अब तक शादी की तैयारियों को लेकर लड़की पक्ष को जो भी खर्चा हुआ है, उसका लेना-देना तय कर लेंगे।

इशिता बोली- तीन लाख रुपए मुझसे आॅनलाइन ले चुका है अमित: इशिता ने बताया कि इन लोगों ने दस दिन पहले तक मेरी सुसाइड करने जैसी हालत कर दी थी। छह महीने पहले जब मेरे मम्मी पापा कोलकाता गए थे, तब स्पष्ट कहा था कि हमारे पास देने के लिए दहेज नहीं है। तब तो बोले कि हमें कुछ नहीं चाहिए। अप्रेल में सगाई के बाद किसी भी नाम से पैसे की डिमांड करने लगे। हर बात में मुझे टॉर्चर करते थे। अब यहां शादी करने आए हैं, 6 जुलाई से यहीं पर हैं, तब से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से बार-बार ज्वैलरी, पैसे, गिफ्ट्स देने की बात कर रहे हैं। कुछ दिनों पहले इन्होंने मुझसे तीन लाख रुपए मांगे थे। मैंने जैसे-तैसे व्यवस्था कर इनके खाते में तीन लाख रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किए। मैं इनको जब भी पैसा देती, तो यही कहते की हमारे बीच की बात है, किसी को नहीं बताना।

लड़की बाड़मेर पेट्रोलियम कंपनी में करती है जॉब, लड़का बैंगलोर में सीए: परिजनों ने बताया कि इशिता ने एमटेक किया है और वह बाड़मेर में पेट्रोलियम कंपनी में जॉब करती है। उसका पैकेज सालाना 17 लाख रुपए है। वहीं लड़का बैंगलोर में एक कंपनी में सीए है। इशिता के पिता हिंदुस्तान जिंक से रिटायर्ड हुए हैं।

समाज की वेबसाइट के जरिए हुआ था परिचय: समाज की परिचय पत्रिका संबंधित ऑनलाइन वेबसाइट है और इनकी पत्रिका छपती भी है। दोनों परिवारों का परिचय भी इसी के जरिए हुआ। इसके बाद लड़की पक्ष ने समाज के ही मीडिएटर से लड़की का बायोडेटा वाट्स-एप ग्रुप के जरिए लड़के की बहन को भिजवाया था। इसके बाद दोनों की अप्रैल में सगाई हुई थी।

दोनों पक्षों मे विवाद हुआ है : डीएसपी
डीएसपी भगवत सिंह हिंगड़ ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ है। शाम तक दोनों पक्षों में समझौता हो गया। युवती ने वरपक्ष के खिलाफ कोई रिपोर्ट नहीं दी।



दूल्हा अमित। दूल्हा अमित।
सिम्बोलिक इमेज सिम्बोलिक इमेज