• Home
  • Rajasthan News
  • Nathdwara News
  • नहरों की सफाई और अवरोधक हटा बारिश का पानी नाथूवास तालाब पहुंचाने की कवायद
--Advertisement--

नहरों की सफाई और अवरोधक हटा बारिश का पानी नाथूवास तालाब पहुंचाने की कवायद

नाथद्वारा| दैनिक भास्कर जल संरक्षण अभियान के तहत जल मित्रों ने आमजन के साथ अब प्रशासन को भी जोड़ दिया है। भास्कर जल...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 06:00 AM IST
नाथद्वारा| दैनिक भास्कर जल संरक्षण अभियान के तहत जल मित्रों ने आमजन के साथ अब प्रशासन को भी जोड़ दिया है। भास्कर जल मित्रों की पहल पर जनप्रतिनिधियों और राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों ने सकारात्मक सहयोग करते हुए प्रशासन से संसाधन उपलब्ध करवाए है। शुक्रवार से अभियान में तेजी लाने को कहा है।

ली बैठक, जुड़ा प्रशासन : गुरुवार को एसडीएम निशा अग्रवाल ने मंदिर मंडल सीईओ चेतन त्रिपाठी, नगरपालिका अध्यक्ष लालजी मीणा, भाजपा नगराध्यक्ष प्रदीप काबरा के साथ बैठक की। उन्होंनें जल संरक्षण पर भास्कर के अभियान को सरकारी जल संरक्षण योजनाओं के साथ चलाने की संभावनाओं पर चर्चा की। उन्होंने मंदिर सीईओ त्रिपाठी और नगरपालिका आयुक्त लजपाल सिंह को जलाशयों के संरक्षण और सफाई पर काम करने की बात कही।

वर्षा जल से भरेगा नाथूवास तालाब : बैठक में भाजपा नगराध्यक्ष काबरा और नगरपालिका अध्यक्ष लालजी मीणा ने नाथूवास तालाब को भरने वाली नहरों के सफाई के लिए हाइवे निर्माण करने वाली कंपनी से सहयोग लेने की बात कही। एसडीएम अग्रवाल ने सद्भाव कंपनी के जीएम अरविंद सिंह को बुला निर्देशित किया। नहरों के निरीक्षण के बाद सफाई का काम शुरू होगा। नहरों के साफ और अवरोधक हटने से ही वर्षा जल तालाब में आ सकेगा। जल संरक्षण के साथ ही नगरपालिका ने भी मानसून पूर्व नालों की सफाई का अभियान शुरू कर दिया है। इससे शहर में प्रशासनिक हलचल दिखने लगी है। पहले दिन पालिका की हल्ला बोल टीम के सेवाकर्मियों ने झरना दरवाजा से सुंदरविलास तक के मुख्य नाले की सफाई की।

जलमित्राें ने शहरवासियों के साथ किया श्रमदान

नाथद्वारा| दैनिक भास्कर के जल संरक्षण अभियान के तहत जलमित्रों ने बुधवार से शुरू की जनाना झरना बावड़ी की सफाई गुरुवार को भी जारी रही। गुरुवार दोपहर 3 बजे बावड़ी से पानी खाली होते ही शाम 4 बजे जल मित्रों की सूचना पर जुटे शहरवासियों ने श्रमदान किया। बुधवार को जनाना झरना बावड़ी की सफाई के दौरान बावडी से जल कुंभी, प्लास्टिक की बोलते, घरों से निकलने वाला कचरा सहित अन्य गंदगी को निकाल दिया था, लेकिन बावड़ी में कीचड़ और कांच की बोतलें निकालने का लिए बावड़ी में मोटर लगा पानी खाली करना पड़ा। नगरपालिका के सहयोग से गुरुवार को भी मोटर लगा पानी खाली किया। बावड़ी पर मौजूद जल मित्र, नगरपालिका के अधिकारी और जनप्रतिनिधियों ने शहरवासियों के सहयोग से श्रमदान करने का निर्णय किया। जल मित्रों और जनप्रतिनिधियों ने शहरवासियों और संस्था के सदस्यों को फोन कर सूचना देने पर कई शहरवासी श्रमदान करने के लिए तैयार हो गए। जल मित्र और जनप्रतिनिधियों के साथ शहरवासी और संस्था के सदस्य पावड़ा-तगारी लेकर बावड़ी में उतरे। सभी ने बावडी की में जमा गंदगी को बाहर निकाला। भास्कर के अभियान से प्रेरित होकर जल मित्र, जनप्रतिनिधि, अधिकारी, शहरवासी और विभिन्न संस्था के सदस्य देर शाम तक श्रमदान के लिए जुटे रहे। इस दौरान नगरपालिका उपाध्यक्ष परेश सोनी, प्रतिपक्ष नेता प्रमोद गुर्जर, पार्षद मधुसूदन व्यास, लक्ष्य गुर्जर, कपिल शर्मा, यश माली, धर्मेंद्र चाैधरी, प्रतीक शर्मा, मिहिर वर्मा, मेहुल गुर्जर, नमन सनाढ्य, कुंदन पालीवाल, हिमांशु चौधरी, युवराज पालीवाल, तन्मय पालीवाल सहित जय हिंद ग्रुप ऋषभ गुर्जर, हिमांशु औदिच्य, बिट्ठल जड़िया, हरिसिंह राठौड़, कपिल उपाध्याय, कुणाल पालीवाल, वेदांत शर्मा ने श्रमदान किया।