• Home
  • Rajasthan News
  • Nawa News
  • नावां में साढ़े 12 करोड़ से सुधरेगी पेयजल समस्या 11 लाख लीटर की क्षमता की 4 टंकियां बनेगी
--Advertisement--

नावां में साढ़े 12 करोड़ से सुधरेगी पेयजल समस्या 11 लाख लीटर की क्षमता की 4 टंकियां बनेगी

भास्कर संवाददाता| नावां सिटी शहर की पेयजल सप्लाई व्यवस्था में जल्द ही सुधार होगा। इसके लिए करीब 12.50 करोड़ की...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 05:25 AM IST
भास्कर संवाददाता| नावां सिटी

शहर की पेयजल सप्लाई व्यवस्था में जल्द ही सुधार होगा। इसके लिए करीब 12.50 करोड़ की परियोजना शीघ्र ही मूर्त रूप लेंगी। इसके बाद शहर के दूर दराज की कॉलोनियों में अपर्याप्त पानी आने की समस्या खत्म हो जाएगी। दरअसल जलदाय विभाग की ओर से इस परियोजना में शहर के अलग-अलग स्थानों पर 4 उच्च जलाशयों (टंकियों) का निर्माण करवाया जाएगा। वहीं पुरानी पाइप लाइनों को बदलकर पूरे शहर में नई पाइप लाइन बिछाई जाएगी। टंकियों के लिए स्थान चिह्नित करने के बाद परियोजना के लिए टेंडर किए जा चुके हैं। आने वाले दिनों में इसका काम शुरू हो जाएगा। शहर के पुराना पुलिस थाना, कुमावतों का बास, सांभर चौराहा शिव कॉलोनी व टंकी की ढाणी में टंकियों का निर्माण कराया जाएगा। जिनके माध्यम से शहर के सभी आबादी क्षेत्रों में समान दबाव के साथ पेयजल आपूर्ति हो सकेगी।

अभी कई वार्डो ं से पानी की टंकियां है दूर

शहर के कुछ वार्ड वर्तमान टंकियों से दूर होने के कारण लोगों के घरों में पानी की आपूर्ति नहीं हो पाती है। अगर पानी आता भी है तो बहुत ही कम मात्रा में आता है। इसके चलते शहर के चारों ओर टंकियों का निर्माण करवाया जाएगा। शहर के पुराने पुलिस थाने के पास 250 किलोलीटर व 18 मीटर ऊंचाई की टंकी का निर्माण करवाया जाएगा। इसके साथ ही जोगियों के आसन में 300 किलोलीटर व 18 मीटर ऊंचाई, शिव कॉलोनी सांभर चौराहे पर 200 किलोलीटर व 22 मीटर ऊंचाई व टंकी की ढाणी में पुराने रेलवे स्टेशन के पास 350 किलोलीटर व 18 मीटर की ऊंचाई की टंकी का निर्माण करवाया जाएगा।

40 से 50 साल पुरानी पेयजल लाइन हो गईं लीकेज, व्यर्थ बहता है पानी

इसके साथ ही शहर में जलापूर्ति के लिए बिछाई गई पाइप लाइनें करीब 40 से 50 वर्ष पुरानी हो गई है। जिससे पाइप लाइनें भी क्षतिग्रस्त हो गई है। जिसके चलते शहर में जगह-जगह पाइप लाइन में लीकेज होकर पानी व्यर्थ बहता रहता है। पंप हाउस, स्वच्छ जलाशय, पंपिंग मशीन में बदलाव व पुरानी व गहरी व चोक हुई लाइनों को बदला जाएगा। इसके लिए पूरे शहर में 85 किलोमीटर नई पाइप लाइन बिछाई जाएगी। नई परियोजना से इन समस्याओं का स्थाई समाधान होने की उम्मीद है।

टेंडर प्रकिया पूरी होते ही शुरू होगा काम