--Advertisement--

विभिन्न संगठनों ने भारत बंद का समर्थन किया

नीमकाथाना | सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ घोषित भारत बंद का विभिन्न संगठनों ने समर्थन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:35 AM IST
नीमकाथाना | सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ घोषित भारत बंद का विभिन्न संगठनों ने समर्थन किया है। कांग्रेस विचार धारा संगठन के जिला उपाध्यक्ष संतोष मीना ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरुद्ध अनुसूचित जाति जनजाति समाज भारत बंद का समर्थन करेगा। इनके अलावा एसएफआई व भारत की जनवादी नौजवान सभा के तहसील अध्यक्ष ओमप्रकाश सैनी व नृसिंहपुरी सरपंच गोपाल सैनी ने संयुक्त रूप से प्रेस बयान देकर भारत बंद का समर्थन किया है। इनकी मांग है कि विधेयक को वापस लिया जाए।

मामले को लेकर शनिवार को दलित शोषण मुक्ति मंच ने यहां सीटू कार्यालय में बैठक की। तहसील संयोजक रतनलाल सिंघल ने बताया कि भारत बंद को समर्थन दिया जाएगा।

मीन सेना के अविनाश मीणा, नाहर सिंह व आरसी मीणा ने बताया कि एक्ट में बदलाव से उत्पीड़न के मामले बढ़ेंगे। सदस्यों के साथ बंद को लेकर योजना बनाई गई। नीमकाथाना में बंद रखने के लिए सहयोग मांगा गया है। दूसरी ओर राष्ट्रीय सर्व मेघवंश युवा महासभा, भीम सेना राजस्थान, भीम आर्मी भारत एकता मिशन, श्री राष्ट्रीय मीन सेना, रेगर युवा महासभा, राष्ट्रीय मीणा महासभा, अंबेडकर छात्र संगठन के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल हुए । बैठक में सभी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ हो रहे भारत बंद का समर्थन किया। इस दौरान अंबेडकर संस्थान के पूर्व अध्यक्ष ख्यालीराम मरोड़िया, राष्ट्रीय मीणा महासभा के अध्यक्ष अविनाश मीणा, मेघवंश युवा महासभा प्रदेश अध्यक्ष कपिल देव, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रोशन मुंडोतिया, उपेश मुंडोतिया, अमिताभ झालरा, किशोर सिंघल, सतपाल भारती, भीम सेना जिलाध्यक्ष गीगराज वर्मा, तहसील अध्यक्ष रविपाल वर्मा, अशोक पालीवाल, घनश्याम माहिच, देवेन्द्र महरड़ालोग मौजूद रहे। भारत बंद को युवा रैगर महासभा ने समर्थन दिया है। अध्यक्ष प्रहलाद सेवलिया की अध्यक्षता में हुई बैठक में बंद में सहयोग का निर्णय हुआ। बैठक में उमेश मुडोतिया, रोशन मुडोतिया, अनिल रछौया, जयसिंह, बाबूलाल, संजय, मुकेश, पार्षद रमेश मुडोतिया आदि लोग शामिल हुए।

श्रीमाधोपुर | ईंट भट्टा मजदूरों की बैठक शनिवार को राजस्थान प्रदेश ईंट भट्टा मजदूर अधिकार रक्षा संस्थान के प्रदेशाध्यक्ष रामावतार महरड़ा की अध्यक्षता में संपन्न हुई। प्रदेशाध्यक्ष महरड़ा के अनुसार माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी- एसटी एक्ट को कमजोर बनाने के निर्णय के विरोध में दो अप्रैल को भारत बंद के समर्थन का निर्णय लिया।

रैवासा | एससी एसटी कानून में बदलाव को लेकर दो अप्रेल को भारत बंद में रानोली एसएफआई जोन कमेटी ने भी बंद का समर्थन किया है। रानोली जोन के महासचिव मुकेश यादव व महिपाल गुर्जर ने प्रेस बयान जारी कर बताया की दलित शोषण मुक्ति मंच को एसएफआई रानोली की ओर से पूरा समर्थन रहेगा। एसएफआई ने विरोध जताया की इस सरकार ने दलितों पर अत्याचार के अलावा और किया भी क्या है। दलितों पर लगातार हमले किये जा रहे है। भाजपा सरकार दलितों को कमजोर करने का प्रयास कर रही है। लेकिन हम दलितों पर अत्याचार नहीं होने देंगे। इसके अलावा कोछोर में भी दाे अप्रेल को होने वाले बंद को लेकर सभा की गई। जिसमें माकपा नेता सुरेन्द्र फुलवारियां,महेश पालीवाल सुवालाल वर्मा आदि उपस्थित थे।

दांतारामगढ़| भारत बंद को निजी शिक्षण संस्थान संघ दांतारामगढ़ ने अपना समर्थन दिया है । निजी शिक्षण संस्थान संघ के अध्यक्ष सागर मल बाजिया ने बताया कि निजी शिक्षण संस्थान बंद का समर्थन करता है । बाजिया ने सभी निजी शिक्षण संस्थान के संचालकों से अपने संस्थान बंद रखने की अपील की हैं ।