Hindi News »Rajasthan »Neem Ka Thana» भक्तों ने केक काटकर मनाया बजरंग बलि का जन्म दिन

भक्तों ने केक काटकर मनाया बजरंग बलि का जन्म दिन

भास्कर न्यूज |नीमकाथाना हनुमान जयंती पर इलाके में धार्मिक कार्यक्रमों की धूम रही। तड़के से ही बालाजी मंदिरों...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 05:35 AM IST

भक्तों ने केक काटकर मनाया बजरंग बलि का जन्म दिन
भास्कर न्यूज |नीमकाथाना

हनुमान जयंती पर इलाके में धार्मिक कार्यक्रमों की धूम रही। तड़के से ही बालाजी मंदिरों में पूजा करने श्रद्धालु पहुंचने लगे। मंदिरों में अभिषेक के बाद बालाजी कोे सिंदूर का चोला चढ़ाया गया। श्रीरामचरित मानस, हनुमान चालीसा व सुंदरकांड पाठ हुए। दोपहर को हवन व धार्मिक कार्यक्रम हुए। जोहड़े वाले हनुमान मंदिर में दिनभर श्रद्धालु पूजा कर प्रसाद चढ़ाने आते रहे। हनुमान जयंती पर घर-घर में खीर-चूरमे का प्रसाद बनाया गया। महाआरती के बाद प्रसाद वितरण शुरू हुआ। हनुमान जयंती पर शोभायात्राएं निकाली गई। हाथों में ध्वज लेकर श्रद्घालु मंदिरों में दर्शन के लिए पहुंचे। शनिवार शाम को मेला लगा। श्रीराम व हनुमानजी के जयकारे लगाते श्रद्धालु शोभायात्रा में शामिल हुए। मेले में कुश्ती दंगल लगा। इसमें पहलवानों ने अलग-अलग वर्ग की कुश्ती में दांव लगाए।

गणेश्वर में निकाली ध्वज व कलश यात्रा : गणेश्वर के मैदाला बालाजी मेले को लेकर श्रद्धालुओं ने ध्वज व कलश यात्रा निकाली। गालव तीर्थ से शुरू हुई ध्वज यात्रा मैदाला बालाजी मंदिर पहुंची। महिलाओं ने कलश यात्रा व पुरुष श्रद्घालुओं ने ध्वज यात्रा में भाग लिया। शनिवार तड़के अभिषेक के साथ हनुमान जयंती के धार्मिक कार्यक्रम शुरू हुए। रामायण पाठ व हवन हुआ। दोपहर को कुश्ती दंगल हुआ व भंडारा लगा। मेले में कई प्रतियोगिताएं हुई। रात्रि को जागरण व भजन संध्या हुई। छाजूराम यादव ने बताया कि मेले में श्रद्धालुओं के लिए विशेष प्रबंध किया गया।

पुरानाबास में लकड़ी वाले बालाजी का मेला भरा : पुरानाबास में लकड़ी वाले बालाजी का मेला भरा। कुश्ती दंगल में पहलवानों ने दांव लगाए। इससे पूर्व सुबह कलश यात्रा निकाली गई। दोपहर को महाआरती हुई। भूदोली रोड पर नीम गट्टे के समीप स्थित संकट मोचन दक्षिणमुखी हनुमान मंदिर में दिनभर धार्मिक कार्यक्रम हुए। सुबह सुंदर कांड के पाठ हुए। वहीं रात्रि को त्रिवेणी सत्संग मंडल की ओर से संगीतमय सत्संग हुआ। इसमें बड़ी तादाद में श्रद्धालु शामिल हुए।

डाबला| श्यामपुरा स्थित हनुमान मंदिर में जयंती पर विभिन्न कार्यक्रम हुए। शुक्रवार रात्रि को जागरण हुआ। इसमें अतिथि कलाकारों ने भजन प्रस्तुत किए। शनिवार को भक्तों ने भंडारे में पंगत प्रसादी ली। इस मौके पर जीवंत झांकी भी सजाई गई।

धर्म

हनुमान जयंती महोत्सव पर शोभायात्रा व कलशयात्राएं निकाली गई, जगह-जगह मेले भरे और विभिन्न प्रतियोगिताएं हुई

कांवट. कड़वासरा की ढाणी में यज्ञ में पूर्णाहुति देते यजमान व चिकित्सा राज्यमंत्री बाजिया।

पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति स्थापना

कांवट| कड़वाला की ढाणी में गोशाला समिति के तत्वावधान में महाकालेश्वर शिव मंदिर में पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति स्थापना की गई। इससे पूर्व महिलाओं द्वारा कलश यात्रा निकाली गई। घसीपुरा के ठाकुरजी के मंदिर से कलश यात्रा के साथ हनुमानजी की प्रतिमा को नगर भ्रमण कराकर आयोजन स्थल पर लाया गया। एक कुंडीय यज्ञ हुआ। यजमानों के साथ चिकित्सा राज्यमंत्री बंशीधर बाजिया ने पूर्णाहुति दी। वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पंचमुखी हनुमानजी कि मूर्ति स्थापना हुई। इस दौरान कड़वाला, रेलापुरी, मानपुरा, नाथ बस्ती, बड़सरा बस्ती, मुकन्दा की ढाणी, घसीपुरा, कांवट के श्रद्धालु मौजूद थे। गोशाला समिति व्यवस्थापक बनवारी लाल सैनी,एडवोकेट जगदीश प्रसाद शर्मा,मानाराम खोखर, बोदूराम आदि थे।

शाहपुरा में जोहड़ी वाले बालाजी का मेला भरा

पलसाना| ग्राम शाहपुरा में जोहड़ी वाले बालाजी का मेला शनिवार को भरा। श्री बजरंग मित्र मंडल एवं ग्राम जनता के सहयोग से आयोजित होने वाले मेले में शनिवार को सुबह बालाजी का शानदार दरबार सजाया गया। संगीतमय सुंदरकांड पाठ हुए। सुबह नौ बजे पुराने राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय भवन के समीप बालाजी मंदिर से डीजे के साथ कलश यात्रा निकाली गई। जगह-जगह स्वागत हुआ। इसके बाद रस्साकशी में बच्चों ने जोर आजमाइश की। बच्चों की दौड़ 551 रुपए तथा कुश्ती 1100 रुपयों तक हुई। शोभायात्रा, राम दरबार, शिव-पार्वती, गणेश व हनुमान की झांकी सजाई गई।

यज्ञ में दी आहुतियां

पलसाना| ग्राम गणेशपुरा में शनिवार को यज्ञ में अनेक जोड़ों ने आहुतियां दी। महाबीर बिजारनियां ने बताया कि चौधरी सुरजाराम गढ़वाल के सानिध्य में यज्ञ, हवन प्रसाद वितरण तथा रात्रि में प्रहलाद सिंह राठौड़ एंड पार्टीद्वारा भजन संध्या का आयोजन किया गया। वहीं पावंडा की ढाणी में नाथूराम गंगाराम पावंडा के निर्देशन में संगीतमय रामायण पाठ, यज्ञ-हवन की पूर्णाहुति प्रसाद वितरण हुअा। रामलाल बिजारनियां, रामलाल ऐचरा, गोपालचन्द गुर्जर, विकास आदि थे।

नीमकाथाना

गोविंदपुरा में मेहंदीपुर बालाजी का मेला भरा

चला| गोविंदपुरा में शनिवार को मेहंदीपुर बालाजी का मेला भरा। सुबह निशान यात्रा निकाली गई जो चला के बालाजी गेट से रवाना होकर मंदिर परिसर पहुंची। इस दौरान झांकियां सजाई गई। इसमें दिल्ली के श्रद्धालु शामिल हुए। झड़ाया बालाजी धाम पर भी मेला भरा। यहां सीताराम महाराज के सानिध्य में कलश यात्रा निकाली गई। गुहाला के हंसनला धाम पर भी मौनीदास महाराज के सानिध्य में धार्मिक कार्यक्रम हुए। भंडारे का आयोजन हुआ। चला के कुटवाले बालाजी धाम पर भंडारा लगा।

मूंडरू | हनुमान जन्मोत्सव पर कस्बे सहित आसपास के गांवों के मंदिरों में भक्तों की धूम रही। खेड़ालीवाले बालाजी मंदिर में रात्रि भजन संध्या एवं झांकी यात्रा का आयोजन हुआ। खेड़ापति बालाजी मंदिर नाथूसर में कलश यात्रा निकाली गई। वही चोलाई स्थित बालाजी मंदिर में झांकी यात्रा निकाली गई। यात्रा का ग्रामीणों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। कस्बे के डूंगरी बालाजी मंदिर, डाबर बालाजी मंदिर, सीताराम मंदिर जालपाली धाम, राम टेकड़ी धाम लिसाड़िया में भी हनुमान जयंती पर्व मनाया गया।

टोडा| दुबड़ा में बालाजी का मेला भरा। इस मौके पर झांकियां सजाई गई। भक्तों ने बालाजी के दर्शन कर मन्नतें मांगी। मेले में कुश्ती दंगल भी हुआ। विजेता पहलवानों को पुरस्कृत किया गया। इससे पूर्व शुक्रवार रात्रि को जागरण हुआ।

सिरोही| पहाड़ी पर स्थित संकट मोचन वीर हनुमान मंदिर में शनिवार को धार्मिक कार्यक्रम हुए। सुबह 101 भक्तों ने सिरोही नदी से पैदल निशान यात्रा निकाली जो नगर परिक्रमा कर मंदिर परिसर पहुंची। यहां महाआरती हुई। इसमें बड़ी तादाद में श्रद्धालु शामिल हुए। दोपहर को सुंदरकांड के पाठ हुए। इधर, ऊपरलाबास के जोहड़ी वाले संकट मोचन वीर हनुमान मंदिर में भी मेला लगा। इस दौरान मन मोहक झांकी सजाई गई। यहां कुश्ती दंगल भी हुआ। विजेता पहलवानों को पुरस्कार दिए गए।

पलसाना| ग्राम मदनी के बालाजी मंदिर में हनुमान जयंती महोत्सव को लेकर बालाजी का दरबार शृंगारित किया गया। गोपाल कृष्ण शर्मा ने बताया कि पप्पू छैला एंड पार्टी के द्वारा रात्रि में बालाजी का शानदार दरबार सजाकर भजन संध्या की शुरुआत की गई। शनिवार को छप्पन भोग की झांकी प्रदर्शित कर प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान अनेक लोग मौजूद थे।

बाय में ग्रामीणों ने मिलकर किया भंडारा

खाटूश्यामजी| बाय गांव में हनुमान जयंती पर गांव के प्रवासी बंधु भी आए। रात्रि जागरण और भंडारे का सभी ग्रामवासियों के सहयोग से किया गया। रात्रि में झाठावाला बालाजी के गुवाहाटी से आए हुए विष्णु शर्मा ने भजनों की प्रस्तुति दी तथा दक्षिण मुखी बालाजी मंदिर में संत महावीर दास के सानिध्य में भजन संध्या का आयोजन किया गया। इसी के साथ बावड़ी के बालाजी के मंदिर पर भजन संध्या का आयोजन व सवामणी की प्रसादी बांटी गई। शाम को बावड़ी के बालाजी की शोभायात्रा निकाली गई तथा गांव के लगभग सभी मंदिरों पर सुबह महाप्रसादी का आयोजन किया।

बाय गांव के पास के गांव लिखमा का बास में भी श्री सिरीस वाले बालाजी महाराज के महाप्रसादी व मेले का आयोजन किया गया तथा नजदीकी गांव बुच्यासी में भी दरावड़ी के बालाजी मंदिर पर दूरदराज से पैदल चलकर बाबा के यहां भजन व महाप्रसादी का आयोजन किया गया। इसी प्रकार ग्राम सामेर में बालाजी के मन्दिर में हनुमानजी की जयंती समारोहपूर्वक मनाई गईं। रात्रि को भजन संध्या का आयोजन किया गया।

मूंडरू

चला। गोविंदपुरा में मेहंदीपुर बालाजी के निशान लेकर जाते श्रद्धालु

बणी धाम बालाजी मेले में कुश्ती स्पर्धा का अायोजन किया

कांवट| अंबिका माता की पहाड़ी के पास बणी धाम में स्थित भोमियाजी मंदिर में हनुमान जयंती पर वार्षिक मेला भरा। बजरंग बली, गणेशजी, भोमियाजी महाराज व पीर समाधि का फूलों सेआकर्षक शृंगार किया गया। मंदिर महंत बनवारीदास ने बताया कि मेले पर कुश्ती अखाड़ा लगाया गया व भजन संध्या में भक्ति ने हनुमान जन्म उत्सव बड़ी धूमधाम के साथ मना कर पंगत प्रसादी ग्रहण की।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Neem ka thana

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×