• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Neem Ka Thana News
  • ढाई महीने पहले नीमोद के जोहड़ में दफन शव निकालकर मेडिकल बोर्ड ने किया पोस्टमार्टम
--Advertisement--

ढाई महीने पहले नीमोद के जोहड़ में दफन शव निकालकर मेडिकल बोर्ड ने किया पोस्टमार्टम

नीमोद गांव के जोहड़ की पाल पर ढाई महीने पहले दफन युवक के शव को निकाल मकराना डीएसपी पूनमसिंह विश्नोई व एसडीएम जेपी...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:25 PM IST
नीमोद गांव के जोहड़ की पाल पर ढाई महीने पहले दफन युवक के शव को निकाल मकराना डीएसपी पूनमसिंह विश्नोई व एसडीएम जेपी गौड़ की मौजूदगी में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया। समाधि से शव निकालने का गांव में पहला मामला होने से लोगों की भीड़ लगी रही। शव को धार्मिक रीति अनुसार समाधि से निकाला गया। इसके लिए आसपास के गांवों से योगी समाज के प्रमुख लोग पहुंचे। योगी समाज के प्रमुख लोगों ने मंत्रोच्चार कर समाधि से शव निकालने की प्रक्रिया शुरू की। जोहड़ के पास ही मेडिकल बोर्ड में शामिल डॉक्टरों ने शव का परीक्षण किया। इसके लिए अलग से टैंट का कैबिन बनाया गया। पोस्टमार्टम होने के बाद मृतक कृष्ण योगी को धार्मिक रीति से फिर समाधि दी गई। परिजनों ने डीएसपी पूनमसिंह विश्नोई के सामने निष्पक्ष कार्रवाई की मांग रखी। नीमकाथाना पुलिस के जवान भी कार्रवाई के दौरान मौजूद रहे।

नीमकाथाना. नीमोद गांव के जोहड ़में शव का मेडिकल परीक्षण करने के लिए पहुंचे डॉक्टर्स व योगी समाज के लोग।

ये था मामला | मृतक कृष्ण कुमार योगी पुत्र पूरणमल की नागौर के नावां शहर में संदिग्ध मौत हो गई थी। परिजनों ने बताया कि गांव से कुछ लोग उसे मजदूरी के लिए नावां लेकर गए थे। नागौर पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया था। उसे नीमोद जोहड़ के पास समाधि दी गई थी। परिजनों ने हत्या का संदेह जताते हुए मामला दर्ज कराया था। इसके पीछे आशंका जताई गई कि मृतक के सिर पर चोट के निशान थे। हाथ में पहना हुआ चांदी का कड़ा नहीं था। मोबाइल डिटेल भी नहीं मिली। मजदूरी के लिए लेकर गए लोगों ने भी परिजनों को कृष्ण की मौत के बारे में अलग-अलग जानकारी दी। पुलिस ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर युवक की मौत को सामान्य माना था। कोर्ट से इस्तगासे के आधार पर पांच-सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था।

गृह मंत्रालय के निर्देश पर फिर से शुरू हुई पोस्टमार्टम की कार्रवाई | प्रकरण में कार्रवाई की मांग पर मृतक के पिता पूरणमल परिजनों के साथ गृहमंत्री से मिले। गृहमंत्री को घटना का पूरा ब्यौरा बताया। परिजनों ने मौत की वजह शरीर पर चोट होना बताया। नागौर में चिकित्सकों द्वारा शव के परीक्षण पर भी संदेह जताया। गृह मंत्रालय ने नागौर पुलिस अधीक्षक को मृतक कृष्ण के शव को समाधि से निकाल कर मेडिकल बोर्ड से पुन: परीक्षण कराने के आदेश दिए थे। गृह मंत्रालय के आदेश मिलने पर नागौर एसपी ने सीकर कलेक्टर व एसपी को मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग रखी थी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..