--Advertisement--

राजस्थान में बिना टैक्स भरे चल रही 36 हार्ले डेविडसन, यूं लग रहा लाखों का चूना

300 लग्जरी कारों की पहचान के बाद प्रदेश में 36 ऐसी हार्ले डेविडसन बाइक चिह्नित।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 08:07 AM IST
जयपुर में एक बाइक  के दस्तावेज जयपुर में एक बाइक के दस्तावेज
जयपुर. एसडीआरआई व परिवहन विभाग ने 40 लाख रुपए से लेकर डेढ़ करोड़ रुपए तक की 300 लग्जरी कारों की पहचान के बाद प्रदेश में 36 ऐसी हार्ले डेविडसन बाइक चिह्नित की हैं, जिनका रजिस्ट्रेशन दूसरे प्रदेश में है और ये प्रदेश में लंबे समय से चल रही हैं और इनके मालिक भी प्रदेश में रह रहे हैं। अब इन बाइकों का सर्च अभियान शुरू हो चुका है और मंगलवार को जयपुर में एक बाइक के दस्तावेज जब्त कर प्रदेश की सड़कों पर नहीं चलने के लिए पाबंद किया है। साथ ही अन्य दस्तावेज भी जब्त करके वन टाइम टैक्स व जुर्माना चुकाने के लिए नोटिस जारी किए जा चुके हैं।
- नियम अनुसार प्रदेश के बाहर की गाड़ी अगर एक महीने तक प्रदेश में चलती है तो उसे वन टाइम टैक्स चुकाने का नियम है। प्रदेश में वन टाइम टैक्स के रूप में 10 प्रतिशत टैक्स चुकाने का नियम है। जबकि, पड़ोसी राज्य दो से तीन प्रतिशत टैक्स ले रहे हैं। इस वजह से प्रदेश के लोग पड़ोसी राज्यों से वाहन खरीदकर प्रदेश में चला रहे हैं।
- उधर विभाग ने मंगलवार को 9 लग्जरी कारों पर भी कार्रवाई करते हुए 3 ऑडी, 2 बीएमडब्ल्यू, 4 मर्सिडीज के दस्तावेज जब्त करते हुए प्रदेश की सड़कों पर चलने पर भी रोक लगाई है। पिछले एक हफ्ते में ऐसी 40 कारों पर कार्रवाई हुई है।
करोड़ों का रेवेन्यू मिलेगा
36 हार्ले डेविडसन और 300 लग्जरी कारों को एसडीआरई ने चिह्नित किया है। ऐसे में वर्तमान मूल्य से परिवहन विभाग को 10 करोड़ रुपए ज्यादा रेवेन्यू मिलेगा। इसके अलावा पेनल्टी हुई तो विभाग को अतिरिक्त रेवेन्यू और मिलेगा। जो कारें प्रदेश में 30 दिन से ज्यादा चली है, उसके आधार पर पेनल्टी तय की जाएगी।
लाखों रुपए बचाने के लिए पड़ोसी राज्यों से खरीदे जाते है लग्जरी वाहन
- हार्ले डेविडसन और 300 कारों के मामले में विभाग का तर्क है कि प्रदेश के कई लोग महंगी लग्जरी कारों की खरीद करते समय राजस्थान के पड़ोसी राज्यों से वाहनों की खरीद करते है और वहीं पर ही रजिस्ट्रेशन कराते हैं।
- ऐसा इसलिए क्योंकि राजस्थान में वनटाइम रोड टैक्स 10 प्रतिशत हैं, जबकि उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़ आदि जगहों पर वन टाइम टैक्स 2-4 प्रतिशत प्रतिशत है। ऐसे में एक करोड़ की गाड़ी पर आठ लाख रुपए तक बचते हैं। डेढ़ करोड़ की गाड़ी पर 12 लाख रुपए तक और 50 लाख रुपए की कार पर चार लाख रुपए तक बचते हैं।
समाधान -गाड़ी ट्रांसफर व वन टाइम रोड टैक्स चुका दूसरी जगह रिफंड के लिए कर सकते हैं आवेदन
एक गाड़ी का दो जगह रोड टैक्स चुकाने के मामले में उपभोक्ता दूसरे राज्य में जाकर रिफंड के लिए दावा कर सकते हैं। विभाग के अनुसार गाड़ी का ट्रांसफर कराते समय दूसरे राज्य के परिवहन विभाग में इस तरह का दावा किया जा सकता है। ऐसे में दूसरे राज्य का परिवहन विभाग कार के डेप्रिसिएशन के अनुसार वन टाइम रोड टैक्स का हिस्सा रिफंड करेगा। उधर राजस्थान परिवहन विभाग बाहर से रजिस्टर्ड गाड़ियों में वन टाइम टैक्स में 50 प्रतिशत तक छूट देता है।
X
जयपुर में एक बाइक  के दस्तावेज जयपुर में एक बाइक के दस्तावेज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..