Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Chetan Death In Nahargarh Fort Became Puzzle

घर से अकेले ही निकला था चेतन, 9.50 लाख कर्ज होने की बात सामने आई

नाहरगढ़ किले से लटके चेतन के शव का मामला पुलिस के लिए बनी पहेली

Bhaskar News | Last Modified - Nov 26, 2017, 08:16 AM IST

घर से अकेले ही निकला था चेतन, 9.50 लाख कर्ज होने की बात सामने आई

जयपुर. शुक्रवार की सुबह नाहरगढ़ के किले से पूरे शहर को झकझोर देने वाली चेतन सैनी की मौत की खबर पुलिस के लिए पहेली बनी है। बुर्ज की दीवार से लटके चेतन के शव को उतारे हुए 36 घंटे से बीत चुके हैं। और पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ चुकी है, मगर पुलिस तय नहीं कर पा रही है कि ये हत्या थी या आत्महत्या। साथ ही मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस के हाथ CCTV फुटेज लगे हैं जिसमें चेतन को घटना वाले दिन घर से अकेले ही निकलने देखा गया है। साथ ही उसे देखकर ये अंदाज लगाना मुश्किल है कि वह किसी टेंशन में था।

9.50 लाख कर्ज होने की बात सामने आई

पुलिस पड़ताल में चेतन पर 9.50 लाख रुपए से ज्यादा का कर्जा होने की बात सामने आई। चेतन आठ लाख रुपए का कर्जा एक परिचित से ले रखा था। जबकि 1.50 लाख रुपए का कर्जा दिल्ली की एक होम क्रेडिट कंपनी से ले रखा था। चेतन की गुरुवार शाम को कंपनी के एक कर्मचारी से फोन पर बात हुई थी। क्योंकि इस माह की छह हजार रुपए की किश्त पेंडिंग चल रही थी। कंपनी के कर्मचारी ने चेतन की पत्नी नीतू को शुक्रवार को किश्त चुकाने के लिए फोन किया था। तब तक कर्मचारी को चेतन की मौत हो जाने की भनक नहीं थी। इस संबंध में पुलिस ने कर्मचारी समेत एक दर्जन लोगों से शनिवार को पूछताछ की है। हालांकि पूछताछ में हत्या होने जैसे कोई साक्ष्य सामने नहीं आया है।

अब एफएसएल रिपोर्ट से ही आस क्यों

पुलिस ने चेतन के विसरा सैंपल और पत्थरों पर लिखावट के नमूने जांच के लिए एफएसएल को भेजे हैं। दूसरी ओर, डीसीपी सत्येन्द्र सिंह ने बताया कि गुरुवार शाम 4 बजे चेतन के गधा पार्क एरिया बगरू वाला के रास्ते में चौथे चौराहे से माउंट रोड मीणा कॉलोनी होते हुए नाहरगढ़ पर जाने के फुटेज मिले है। चेतन किले पर अकेला जा रहा था और उसके हाथ में रस्सी भी नहीं थी।

क्यों नहीं मिला पोस्टमार्टम रिपोर्ट से जवाब

पोस्टमार्टम के लिए गठित मेडिकल बोर्ड ने माना है कि चेतन की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। रिपोर्ट में ये भी स्पष्ट किया गया है कि फंदे पर लटकते समय चेतन जिंदा था। यानी किसी ने हत्या के बाद उसका शव नहीं लटकाया।

सवाजो अधूरा रह गया

- डीसीपी नॉर्थ सत्येंद्र सिंह का दावा है कि हत्या को पुष्ट करने वाला कोई साक्ष्य नहीं मिला है, फिर भी पुलिस हर बिंदु की जांच कर रही है। अब पुलिस की आस एफएसएल रिपोर्ट पर टिकी है।

- जबकि, शनिवार को मृतक चेतन की पत्नी नीतू ने ब्रह्मपुरी थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दी।

- यही नहीं, मुहाना मंडी फल-सब्जी के अध्यक्ष राहुल तंवर व अन्य पदाधिकारियों ने डीसीपी को ज्ञापन देकर हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच करने की मांग की। मगर, पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज नहीं की है।

- रिपोर्ट में ये साफ नहीं हो पाया है कि चेतन खुद फंदे पर लटका या उसे किसी ने जबरदस्ती लटकाया। उसके गाल व पैरों पर हल्की चोट के निशान थे जिस पर रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसी चोट फंदे पर लटकने के दौरान लग सकती है। मगर ये चोट किसी व्यक्ति से संघर्ष के दौरान भी लग सकती हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें, मामले से जुड़ीं फोटोज...

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×