--Advertisement--

जम्मू-कश्मीर में बने राजस्थान के 50 बड़े बदमाशों के हथियार लाइसेंस

जम्मू कश्मीर से कलेक्टर-एसएसपी की सहमति से बने 3.69 लाख लाइसेंस।

Danik Bhaskar | Nov 15, 2017, 07:52 AM IST
जयपुर. जम्मू-कश्मीर के 6 जिलों में कलेक्टर व एसपी स्तर के अधिकारियों की सहमति पर पिछले 15 साल में 3.69 लाख से ज्यादा हथियार लाइसेंस जारी हुए है। इनमें राजस्थान के 50 हार्डकोर बदमाश भी शामिल हैं। इन्होंने एटीएस की गिरफ्त में आए गिरोह के सरगनाओं को 3-3 लाख रुपए देकर लाइसेंस बनाए हैं। डेढ़ साल पहले सीबीआई जांच में इसका खुलासा हाे गया था और सीबीआई के अफसरों ने केन्द्रीय गृहमंत्रालय को रिपोर्ट भेजकर हथियार लाइसेंस निरस्त करने के लिए लिखा था। जम्मू-कश्मीर से मध्यप्रदेश व यूपी के 400-400, दिल्ली के 70, राजस्थान के 50, हरियाणा के 30 व बिहार के 20 हार्डकोर बदमाशों के लाइसेंस बने हैं।
सीबीआई ने माना था कि 1009 लोगों को हथियार लाइसेंस जारी करना उचित नहीं था, क्योंकि उनकी गतिविधियां अपराध से जुड़ी हंै। राजस्थान के किन-किन बदमाशों ने हथियार लाइसेंस बनाए हैं।
एटीएस ने श्रीनगर, उधमपुर, किस्तवार, रियासी, राजौरी व पुंछ जिले के अधिकारियों से रिकॉर्ड मांगा है। वर्ष 2010 में दिल्ली पुलिस व 2011 में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने फर्जी लाइसेंस बनाए जाने का भंडाफोड़ किया था। डोडा जिले में फर्जी हथियार प्रकरण में कई कर्मचारियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था।
फर्जी लाइसेंस बनवाने वाले दो व्यापारी गिरफ्तार
जम्मू कश्मीर से हथियार लाइसेंस बनाने के मामले में एटीएस ने मंगलवार को दो व्यापारियों को गिरफ्तार कर लिया। आराेपी राजीव मालू अजमेर व डीआर खेड़ा डूंगरपुर का रहने वाला है। एटीएस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। एटीएस की प्रारंभिक जांच में सामने आया कि दोनों आरोपियों ने लाइसेंस बनाने वाले गिरोह के सरगना मोहम्मद जुबेर से लाइसेंस बनाए थे। इसके बदले में जुबेर को 2 लाख रुपए से तीन लाख रुपए दिए थे। एटीएस ने दोनों आरोपियों से हथियार लाइसेंस व दो हथियार बरामद कर लिए ।
एटीएस के एसपी विकास कुमार ने बताया कि राजीव मालू व बीआर खेड़ा ने जम्मू-कश्मीर से अवैध रूप से लाइसेंस बनाया था। दोनों को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाया था। पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। अब तक हथियार लाइसेंस बनाने वाले 27 जने गिरफ्तार हो चुके हैं। इनमें ज्यादातर व्यवसायी है। गौरतलब है कि पिछले माह एटीएस ने राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब व जम्मू-कश्मीर में 12 जगह दबिश देकर जम्मू से हथियार लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करके सरगना माेहम्मद जुबेर, विशाल व राहुल को गिरफ्तार किया था।
राजस्थान में रहने वाले हार्डकोर बदमाशों ने भी गिरोह से मिलकर हथियार लाइसेंस बनाए हैं। जांच की जा रही है। सीबीआई द्वारा भी एक रिपोर्ट एमएचए को भेजने की बात सामने आई है।
- विकास कुमार, एसपी, एटीएस
फर्जी लाइसेंस बनवाने वाले दो व्यापारी गिरफ्तार। फर्जी लाइसेंस बनवाने वाले दो व्यापारी गिरफ्तार।