--Advertisement--

पद्मावती विवाद : फिर सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा मामला, सेंसरबोर्ड ने भी लौटाई फिल्म

प्रदर्शनों के बीच फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली करणी सेना के पदाधिकारियों को फिल्म दिखाने को तैयार हैं।

Dainik Bhaskar

Nov 18, 2017, 08:06 AM IST
दुर्ग के प्रवेशद्वार पाडनपोल दुर्ग के प्रवेशद्वार पाडनपोल

नई दिल्ली/जयपुर/अजमेर/चित्तौड़गढ़/राजसमंद. फिल्म पद्मावती को लेकर राजस्थान सहित देशभर में शुक्रवार को भी विरोध-प्रदर्शन जारी रहे। सर्वसमाज के आह्वान पर शुक्रवार को चित्तौड़गढ़ किला बंद रखा गया। प्रदर्शनकारियों ने यहां पहुंचे पर्यटकों को गुलाब का फूल देकर लौटा दिया। करणी सेना ने शनिवार को ऐतिहासिक कुंभलगढ़ दुर्ग बंद करने की चेतावनी दी है। सुबह 10 बजे दुर्ग पर सर्व समाज की आमसभा भी होगी।

- शुक्रवार को फिल्म के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में वकील एमएल शर्मा ने याचिका दाखिल की है। कोर्ट इस पर सुनवाई को तैयार हो गया है। गत 10 नवंबर को भी इस फिल्म की रिलीज पर रोक संबंधी याचिका लगाई गई थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने नामंजूर कर दिया था। सेंसरबोर्ड ने भी तकनीकी कारणों से फिल्म लौटा दी।

- इस बीच, करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने एसओजी को सूचना दी है कि उन्हें पाकिस्तान से आए एक फोन कॉल में फिल्म का विरोध करने पर बम से उड़ाने की धमकी दी गई है।

प्रदेशभर में रैली, प्रदर्शन, चेतावनी

बीकानेर : बजरंग दल और उससे जुड़े युवाओं ने कलेक्ट्रेट तक पैदल मार्च किया। फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली का पुतला जलाया गया।
चित्तौड़गढ़ : आंदोलन के कारण 3500 पर्यटक दुर्ग नहीं देख पाए। श्रीराष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के प्रदेशाध्यक्ष योगेंद्रसिंह ने कहा कि हम भंसाली की गर्दन काट देंगे, पर फिल्म नहीं चलने देंगे।
भीलवाड़ा : भीलवाड़ा के भगवानपुरा में भंसाली का पुतला जलाया गया। इससे पहले इस पुतले पर तलवारें चलाईं और पत्थर बरसाए गए।
जोधपुर : पावटा में मारवाड़ राजपूत सभा, करणी सेना व 36 कौम की बैठक हुई। इसमें शामिल सिनेमा हॉल संचालकों ने कहा कि वे फिल्म का प्रदर्शन नहीं करेंगे।

रिलीज 68 दिन टलने के आसार

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने शुक्रवार को पद्मावती के सर्टिफिकेशन का आवेदन अधूरा बता निर्माता को लौटा दिया। इसके पीछे तकनीकी कारण बताया। इसी बीच, सूत्रों ने दावा किया कि बोर्ड ने फिल्म के सर्टिफिकेशन का फैसला 68 दिन तक टाल दिया है। सूत्रों के अनुसार भाजपा चाहती है कि 9 व 14 दिसंबर को गुजरात में मतदान के बाद ही फिल्म रिलीज हो। निर्माता कंपनी इस फिल्म को एक दिसंबर को रिलीज करना चाहती है।

करणी सेना को फिल्म दिखाने को तैयार हुए भंसाली
सूत्रों के अनुसार पद्मावती पर देशभर में चल रहे प्रदर्शनों के बीच फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली करणी सेना के पदाधिकारियों को फिल्म दिखाने को तैयार हैं। बताया जा रहा है कि इस संबंध में उन्होंने सेंसर बोर्ड को पत्र भी लिखा है।

X
दुर्ग के प्रवेशद्वार पाडनपोल दुर्ग के प्रवेशद्वार पाडनपोल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..