--Advertisement--

50 लाख के मुआवजे व नौकरी पर अड़े परिजन, 5वें दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम

कथित गोरक्षकों की फायरिंग में मारे गए उमर खान का परिजनों ने 5वें दिन भी शव नहीं लिया।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 05:37 AM IST
उमर के गांव घाटमिका पहुंचा जिल उमर के गांव घाटमिका पहुंचा जिल
अलवर/जयपुर. कथित गोरक्षकों की फायरिंग में मारे गए भरतपुर के घाटमीका गांव निवासी उमर खान का परिजनों ने पांचवे दिन भी शव नहीं लिया। इससे पहले दोपहर दो बजे मुख्य सचिव अशोक जैन से प्रतिनिधिमंडल मिला और अपनी मांग रखी। जैन ने शाम छह बजे तक जवाब देने के लिए कहा। वार्ता का नतीजा नहीं निकलने पर 30 से अधिक संगठनों एवं जनप्रतिनिधियों ने बुधवार को मुख्यमंत्री आवास तक कूच करने का ऐलान किया है। उमर का जयपुर में एसएमएस हॉस्पिटल में शव रखा हुआ है।
- इधर अलवर पुलिस का कहना है कि उमर खान की मौत दो आपराधिक गिरोहों के बीच फायरिंग का नतीजा है।
- अलवर पुलिस ने घाटमीका गांव निवासी उमर खान व उसके साथी ताहिर तथा जावेद के खिलाफ गोतस्कर मान रही है। इनके खिलाफ गो तस्करी में मामला भी दर्ज किया है।
- उधर मेव पंचायत के प्रतिनिधिमंडल ने मोहम्मद कासिम मेवाती के नेतृत्व में मृतक के गांव पहुंचकर कहा कि इस गांव में ज्यादातर मुस्लिम परिवार गाय पालते है। मामले में दोषी लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए।
जयपुर में मुख्य सचिव से वार्ता विफल
पूर्व सरपंच खुर्शीद ने बताया कि जयपुर में मुस्लिम मुसाफिर खाने में दिनभर परिजनों, जनप्रतिनिधियों व संगठनों की बैठक हुई। बैठक में पूर्व विधायक जाहिदा खान, अयूब खान, रिटायर्ड आरएएस अधिकारी अबरार सहित कामा, अलवर के अनेक जनप्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक के बाद दोपहर दो बजे एक प्रतिनिधिमंडल मांगो को लेकर मुख्य सचिव अशोक जैन से मिला लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। वार्ता का नतीजा नहीं निकलने पर बुधवार डेढ़ बजे नमाज के बाद मुसाफिर खाने से सिविल लाइन मुख्यमंत्री आवास तक न्याय यात्रा निकालने का निर्णय लिया गया है। इसमें बडी संख्या में लोग शामिल होंगे।
आरोपी रिमांड पर
- उमर खां की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मारकपुर गांव निवासी रामवीर गुर्जर एवं भगवान सिंह उर्फ काला गुर्जर को अदालत ने तीन दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा है।
- गोविंदगढ़ थानाधिकारी दौलतराम गुर्जर ने बताया कि इस घटना के आरोप में रामवीर व भगवान सिंह उर्फ काड़ा को मंगलवार को लक्ष्मणगढ़ में अदालत में पेश किया गया। न्यायालय ने पूछताछ व बरामदगी के लिए दोनों को तीन दिन की पुलिस रिमांड पर सौंपा है। इस मामले में फरार चल रहे 4 अन्य साथियों की पुलिस तलाश कर रही है।
- उमर खान व उसके साथी गोकशी के लिए गायें ले रहे थे। इन्हें रोकने के दौरान दोनों पक्षों में फायरिंग हुई। देशी कट्टों से कई राउंड गोलियां चली। गांव गहनकर से शुरू हुई फायरिंग बासेड़ी का बास तक चली। इसमें उमर खान की गोली लगने से मौत हो गई।
X
उमर के गांव घाटमिका पहुंचा जिलउमर के गांव घाटमिका पहुंचा जिल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..