Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Padmavati Movie Not Released In Overseas Now Without Sensor Board Permission

पद्मावती: अभी विदेश में भी रिलीज नहीं करेंगे, सेंसर बोर्ड से मंजूरी का इंतजार- प्रॉड्यूसर

विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती को ब्रिटिश सेंसर बोर्ड ने बिना कोई कट लगाए मंजूरी दे दी है।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 24, 2017, 01:46 AM IST

पद्मावती: अभी विदेश में भी रिलीज नहीं करेंगे, सेंसर बोर्ड से मंजूरी का इंतजार- प्रॉड्यूसर

मुंबई/लंदन/जयपुर. विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती को ब्रिटिश सेंसर बोर्ड ने बिना कोई कट लगाए मंजूरी दे दी है। ब्रिटिश बोर्ड ऑफ फिल्म क्लासिफिकेशन (बीबीएफसी) ने फिल्म को '12ँँA' रेटिंग दी है। इसका मतलब यह हुआ कि 12 साल से छोटे बच्चे अकेले यह फिल्म नहीं देख पाएंगे। हालांकि, फिल्म प्रॉडयूसर कंपनी वायाकॉम-18 के सूत्रों ने कहा कि भारत में सेंसर बोर्ड की मंजूरी से पहले फिल्म विदेशों में रिलीज नहीं होगी। पहले फिल्म 1 दिसंबर को दुनियाभर में रिलीज होनी थी। हालांकि, इतिहास के साथ छेड़छाड़ के आरोपों पर विवाद बढ़ने और बोर्ड की मंजूरी में देरी के चलते भारत में इसकी रिलीज की तारीख टालनी पड़ी है।

विदेशों में रिलीज रोकने सुप्रीम कोर्ट में 28 को सुनवाई


पद्मावती को विदेशों में रिलीज पर रोक लगवाने के लिए गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में पिटिशन दायर की गई। एडवोकेट एमएल शर्मा की पिटिशन पर कोर्ट 28 नवंबर को सुनवाई करेगा। शर्मा का दावा है कि फिल्म प्रॉड्यूसर ने कोर्ट को गलत फैक्ट्स बताए थे कि गानों और प्रोमो को सीबीएफसी मंजूरी दे चुका है। इससे पहले शर्मा ने फिल्म से विवादित सीन हटवाने की मांग करते हुए पिटिशन दायर की थी, जो कोर्ट ने खारिज कर दी थी।

चित्तौड़ में फिल्म के विरोध में 15वें दिन भी धरना


चित्तौड़गढ़ में पद्मावती के विरोध में चित्तौड़ दुर्ग के एंट्री गेट पाडनपोल पर गुरुवार को 15वें दिन भी धरना जारी रहा। धरने पर बैठे जौहर स्मृति संस्थान के मैंबर्स ने केंद्र सरकार को आगाह किया कि संजय लीला भंसाली ने अगर फिल्म का विदेशों में भी रिलीज किया तो आंदोलन किया जाएगा। उधर, यूथ फॉर चेंज सोसायटी के एक्टिविस्ट ने अपने खून से राष्ट्रपति के नाम मेमोरेंडम लिखा।

'पद्मावती' 1 दिसंबर को रिलीज नहीं होगी


- फिल्म मेकर्स कंपनी वायाकॉम18 के स्पोक्सपर्सन ने रविवार को कहा था कि रिलीज की नई तारीख का एलान जल्द होगा। इसे स्वेच्छा से टाला गया है।
- उन्होंने कहा कि हम देश के कानून और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) का सम्मान करते हैं। उम्मीद है कि फिल्म रिलीज करने के लिए जरूरी मंजूरियां जल्द मिलेंगी। फिल्म में राजपूतों की वीरता, परंपरा और मर्यादाएं बेहतर तरीके से दिखाई गई हैं।


फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?


- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच इंटीमेट सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले पार्टी के राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए।

अब तक क्या हुआ?


- विरोध मध्यप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश और कर्नाटक तक पहुंच गया है। राजस्थान, मध्य प्रदेश और यूपी में सरकार ने इसे रिलीज नहीं करने की बात कही।
- राजस्थान की राजपूत करणी सेना के अलावा राजघराने भी फिल्म के खिलाफ हैं। इनकी मांग है कि इसे रिलीज करने के पहले उन्हें दिखाई जाए।
- राजनाथ सिंह, उमा भारती, लालू प्रसाद यादव, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई नेताओं ने बयान दिए कि लोगों की भावनाओं का ध्यान रखना चाहिए।
- गुरुवार को राजपूतों ने चितौड़गढ़ का किला बंद रखकर प्रदर्शन किया था।
- करणी सेना ने सूर्पणखा की तरह दीपिका पादुकोण की नाक काटने, हरियाणा के बीजेपी नेता ने दीपिका और भंसाली का सिर काटने पर 10 करोड़ के इनाम का एलान किया था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pdmaavti: abhi videsh mein bhi release nahi karengae, sensr bord se manjoori ka intjaar- film mekars
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×