--Advertisement--

मेरे फुटपाथ पर सबकुछ- शोरूम, पार्किंग, फूड, दुकानें...बस! मेरे ही चलने जगह नहीं

अफसोस! चोरी छिपे नहीं...जयपुर शहर में मेरे पैदल चलने की जमीन सरेआम चोरी हो रही है...

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 08:37 AM IST
रिद्धि-सिद्धि तिराहा| अपनी सीमाएं तोड़ फुटपाथ तक आ गए रेस्टोरेंट। रिद्धि-सिद्धि तिराहा| अपनी सीमाएं तोड़ फुटपाथ तक आ गए रेस्टोरेंट।

जयपुर. फुटपाथ हर शहर का आईना होते हैं। फुटपाथ कितने सुरक्षित है। कितने सुगम हैं...इसी से शहर के प्रति नजरिया तय होता है। भास्कर ने शहर के कोने-कोने में फुटपाथों का सच जाना। कहीं शोरूम बने हैं तो कहीं रेस्टारेंट। अधिकतर फुटपाथ अतिक्रमण में दबे हुए दिखे। विशेष सीरीज #पैदल चलने का हक के तहत आज जानिए फुटपाथाें का सच। कल हम बरामदों की तस्वीर आपके सामने रखेंगे।। आज हम चुनिंदा तस्वीरें छाप रहे हैं मगर पूरे शहर का यही हाल है। सच देखिए...कड़वा है...

23% लोग रोज पैदल सफर करते हैं...लेकिन 80% फुटपाथों पर पैदल चलने वालों के लिए ही जगह नहीं।

दस दिन में 2 हादसे सुरक्षित फुटपाथ इसलिए चाहिए

18 नवंबर : त्रिपोलिया गेट पर अर्जेंटीना के पर्यटक जॉन पाल को सांड ने सींग से टक्कर मार दी, नतीजा-अस्पताल में मौत।
26 नवंबर : जयपुर के ही कालवाड़ में सड़क से गुजरती रेखा का पैर टूटे हुए जाल में फंस गया। वे बस की चपेट में आने ही वाली थीं कि ड्राइवर की सतर्कता ने उन्हें बचा लिया।

फुटपाथों के सच पर...
8290005515 पर वाॅट्सऐप के जरिए अपनी प्रतिक्रिया दे सकते हैं।


आगे की स्लाइड्स में देखें खबर से जुड़ीं फोटोज...

मानसरोवर, िवजय पथ| फुटपाथ की ऐसी नाकेबंदी! मानसरोवर, िवजय पथ| फुटपाथ की ऐसी नाकेबंदी!
टोंक रोड| फुटपाथ तक बढ़ आए गाड़ियों के शोरूम। टोंक रोड| फुटपाथ तक बढ़ आए गाड़ियों के शोरूम।
मानसरोवर | विज्ञापन द्वार बन गया फुटपाथ मानसरोवर | विज्ञापन द्वार बन गया फुटपाथ