Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rajasthan Longets Tunel In Lalsot

ये है प्रदेश की सबसे लंबी रेल सुरंग, 2019 तक दौसा व गंगापुर सिटी के बीच दौड़ेगी ट्रेन

बुधवार की सुबह लालसोट के इतिहास में नई इबारत लिखी गई।

कमलेश आसीका | Last Modified - Nov 23, 2017, 07:39 AM IST

ये है प्रदेश की सबसे लंबी रेल सुरंग, 2019 तक दौसा व गंगापुर सिटी के बीच दौड़ेगी ट्रेन

लालसोट. बुधवार की सुबह लालसोट के इतिहास में नई इबारत लिखी गई। दौसा से गंगापुर सिटी तक 94 किलोमीटर लंबी व 780 करोड़ रुपए की रेल परियोजना के तहत डिडवाना से इंदावा तक प्रदेश की सवा दो किलोमीटर सबसे लंबी रेल सुरंग परियोजना के तहत खुदाई के बाद बुधवार को सुरंग आर पार हो गई। सुरंग (टनल) के दूसरे सिरे ने मंगलवार दिन तथा रात लगातार खुदाई के बाद बुधवार सुबह 8 बजे सूर्य की रोशनी के दीदार किए। सुरंग के आरपार होते ही कार्मिकों में खुशी की लहर दौड़ गई। दौसा से गंगापुर सिटी तक रेल लाइन परियोजना के बीच में आ रहे अवरोध को दूर होने व सुरंग के आर-पार होने से यह दिन लालसोट के इतिहास में अमर हो गया। समय अनुसार सब ठीक-ठाक रहा तो वर्ष 2019 तक दौसा से गंगापुर सिटी के बीच रेल दौड़ना शुरू हो जाएगी।

प्रदेश की तीन अन्य रेल सुरंगें

1 देबारी सुरंग : चित्तौड़-उदयपुर के बीच। लंबाई 750 मीटर।
2 कामली घाट सुरंग-I : मावली-मारवाड़ मीटर गेज पर। लंबाई 250 मीटर।
3 कामली घाट सुरंग-II : मावली-मारवाड़ मीटर गेज पर। लंबाई 250 मीटर।
(उदयपुर-अहमदाबाद के बीच आमान परिर्वतन के तहत 800 मीटर लंबी रेल सुरंग बनेगी। यह प्रदेश की पांचवीं सुरंग होगी)

देश की सबसे लंबी सुरंग

पीर पंजाल सुरंग (जम्मू व कश्मीर)। लंबाई 11 किमी.

डेडलाइन दिसंबर. 18

शुरुआत :2011
पूरी होगी :दिसंबर 2018 तक कुल खर्च : 65 करोड़ रुपए

खर्च:रेल परियोजना पर 780 करोड़

2019 तक दौसा व गंगापुर सिटी के बीच दौड़ेगी ट्रेन

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ye hai pradesh ki sabse lambi rel surnga, 2019 tak dausaa v gangapur siti ke bich dauड़egai tren
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×