--Advertisement--

जिसे अंग्रेजी पढ़ नहीं आती, उसने नंबर प्लेट कैसे पढ़ ली: काले हिरण शिकार केस

अदालत में बहुचर्चित काले हिरणों के शिकार मामले में मंगलवार को सुनवाई हुई।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 08:57 AM IST
मामले में सलमान खान भी अारोपी मामले में सलमान खान भी अारोपी
जोधपुर. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देव कुमार खत्री की अदालत में बहुचर्चित काले हिरणों के शिकार मामले में मंगलवार को सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई बुधवार को भी जारी रहेगी। सलमान के अधिवक्ता हस्तीमल सारस्वत ने अंतिम बहस के दौरान तर्क दिया, कि गवाह पूनमचंद के बयान अनुसार उसने जिप्सी के नंबर आगे-पीछे दोनों तरफ पढ़े थे। जबकि इस गवाह ने जिरह में कथन किया, कि वह न तो अंग्रेजी पढ़ना लिखना जानता है और ना ही हिंदी पढ़ना लिखना जानता है।
- अधिवक्ता सारस्वत ने कहा, कि जो व्यक्ति अंग्रेजी व ही हिंदी नहीं जानता,तो उसने जिप्सी की नंबर प्लेट पर लिखे अंग्रेजी के नंबर कैसे पढ़ लिए। इस गवाह ने अपने बयान में बताया, कि उसने मोटरसाइकिल से जिप्सी का पीछा किया था, लेकिन जिरह में बताया कि शिकारियों को पकड़ने के लिए पैदल ही दौड़े थे।
- सारस्वत ने गवाह मांगीलाल के बयानों पर तर्क देते हुए कहा, कि यह गवाह पूनमचंद का सगा भाई है, दोनों एक ही मकान में रहते हैं।
- मांगीलाल ने अपने बयान में बताया, कि घटना के समय वह अपने मकान के बाहर सो रहा था, ऐसी स्थिति में शिकार के बारे में शक होने पर पूनमचंद द्वारा अपने घर के बाहर सो रहे भाई को नहीं उठाकर दूर रहने वाले पड़ोसी छोगाराम को उठाकर ले जाना कतई विश्वसनीय प्रतीत नहीं होता है।
- गवाह शेराराम ने जिरह के दौरान कहा, कि दो अक्टूबर 98 को घटना के दिन ही उप वन संरक्षक मांगीलाल सोनल ने उसके बयान लिए थे। जबकि पत्रावली पर इस गवाह के जो बयान मौजूद है, वे 15 अक्टूबर को ललित बोड़ा की ओर से लिए गए हैं। इससे स्पष्ट होता है, कि इस गवाह के बयान को बदला गया।
X
मामले में सलमान खान भी अारोपी मामले में सलमान खान भी अारोपी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..