--Advertisement--

125 रुपए से शुरू किया था ये काम, अब विदेशों तक पहुंचा इनका बिजनेस

125 रुपए से शुरू किया था ये काम, अब विदेशों तक पहुंचा इनका बिजनेस

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 12:30 PM IST
एक इवेंट के दौरान लक्ष्मी(दांए एक इवेंट के दौरान लक्ष्मी(दांए

नागौर(राजस्थान) . खुद पर भरोसा और इरादा पक्का हो, तो जीवन की कोई मुश्किल रास्ता नहीं रोक सकती। ऐसी ही महिलाओं के बुलंद हौसलों के आगे उनके जीवन में आई विपदाओं ने भी घुटने टेक दिए। आज वे अपने हाथ के हुनर से सबके लिए मिसाल हैं। ऐसी ही कहानी है राजस्थान की लक्ष्मी और उनकी बहू अनुराधा की। जानें कैसे हुई शुरुआत...

- ये हैं राजस्थान की 68 वर्षीय लक्ष्मी और उनकी बहू अनुराधा। घर में आर्थिक परिस्थिति कमजोर थी वही पहले पति फिर 34 वर्षीय बेटा वीरेंद्र चल बसा। घर में चार बेटियों दूसरे बेटे को संभालने वाला कोई नहीं था। लक्ष्मी हारी नहीं। अपने हुनर के दम पर 125 रुपए में मसाला बनाने का काम शुरू किया।

ऐसे आगे बढ़ा बिजनेस


- लक्ष्मी ने बताया कि वर्ष-2000 में स्वयं सहायता समूह से जुड़कर मेलों के माध्यम से अपने कारोबार से प्रदेशभर में पहचान बना ली।
- बेटे के इस दुनिया से चले जाने के बाद विधवा बहू को आगे बढ़ाने उनके साथ मिलकर लक्ष्मी 68 वर्ष की उम्र में ये जिम्मेदारी संभाल रही है।

सोशल मीडिया की मदद ली


- बहू अनुराधा आज सोशल मीडिया के जरिए रिश्तेदारों के माध्यम से विदेशों में दुबई, मस्कट तक कारोबार बढ़ा चुकी है। अनु-कलेक्शन नाम से बनाए महिला-पुरुष के दो अलग वॉट्सऐप ग्रुप के माध्यम से घरेलू खाद्य उत्पाद की बिक्री ऑर्डर पर पार्सल के माध्यम से बिक्री कर रही है।
- कठिनाइयों का सामना करने वाली लक्ष्मी कहती हैं कि खुद पर विश्वास रखो, तो कोई परेशानी बड़ी नहीं होती। वे कहती हैं कि अंदरूनी शक्ति जगा ली जाए, तो कोई भी आपदा आपको कमजोर नहीं कर सकती।

आगे की स्लाइड्स में देखिए लक्ष्मी और अनुराधा की चुनिंदा फोटोज।

X
एक इवेंट के दौरान लक्ष्मी(दांएएक इवेंट के दौरान लक्ष्मी(दांए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..