Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» All Monkey Came On Just One Call By This Man

इस शख्स की एक आवाज पर दौड़े चले आते है बंदर

इस शख्स की एक आवाज पर दौड़े चले आते है बंदर

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Nov 17, 2017, 02:54 PM IST

जोधपुर।शहर के सत्तर वर्षीय राधेश्याम का एक ही नियम है कि रोज सवेरे वे अपने घर से दस-बारह किलोमीटर की यात्रा कर एक पहाड़ी पर पहुंच जाते है। वहां जाकर आवाज लगाते ही बंदरों का झुंड दौड़ा चला आता है। बंदर उन्हें घेर कर बैठ जाते है और वे अपने थैले में से फल निकाल कर एक-एक कर सभी को बांट देते है। बंदर भी आराम से बैठ अपनी बारी का इंतजार करते है। बरसों पुराना नाता है बंदरों से...


- शहर के कटला बाजार क्षेत्र में रहने वाले राधेश्याम करीब 45 बरस से रोजाना एक बड़े थैले में पल भर कर पहाड़ी पर पहुंच जाते है। वहां पहुंच वे जोर-जोर से चिल्लाते है कि आओ...आओ...और देखते ही देखते बंदरों की एक टोली उन्हें घेर कर बैठ जाती है। फिर वे अपने थैले से पल निकाल कर बारी-बारी से सभी को खिलाते है। अब इस क्षेत्र के सभी बंदर भी उन्हें पहचानते है। ऐसे में वे उनके थैले पर छीना झपटी भी नहीं करते। सभी आराम से बैट अपनी बारी का इंतजार करते रहते है। फल खाने के बाद सभी बंदर एक बार फिर पहाड़ों पर चढ़ जाते है।


इस कारण खिलाते है बंदरों को


- राधेश्याम का कहना है कि शहर में गायों व कुत्तों को सभी लोग चारा व भोजन खिलाते रहते है, लेकिन बंदरों तक बहुत कम लोग ही खाना पहुंचाते है। पहले मेरे पिता इस काम को करते थे। उनसे प्रेरित हो अब मैं बरसों से रोजाना इन बंदरों को भोजन कराता हूं। इन बंदरों को भोजन कराने से काफी सुकून मिलता है।

सभी फोटो एल देव जांगिड़

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×