पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जाेधपुर पीठ के नए भवन में 9 काे एक साथ बैठेंगे सभी जज, जयपुर बैंच बनने के बाद 43 साल में पहला माैका

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जोधपुर मुख्यपीठ में 6 और जयपुर पीठ में 9 काे अवकाश की घाेषणा
Advertisement
Advertisement

जोधपुर. राजस्थान हाईकोर्ट जोधपुर मुख्यपीठ के नए भवन का 7 दिसंबर को उद्घाटन होगा। इसके बाद दो दिन बाद जब नए भवन में विधिवत रूप से मामलों की सुनवाई होगी तो एक और ऐतिहासिक पल दर्ज होगा, जो पहले कभी नहीं हुआ। 9 दिसंबर को केवल जयपुर पीठ में अवकाश घोषित किया गया है, जबकि जोधपुर मुख्यपीठ में कार्यदिवस रहेगा। इससे यह प्रबल संभावना है, कि इस दिन जोधपुर मुख्य पीठ व जयपुर पीठ के सभी जज एक ही बैंच में बैठेंगे और मामलों की सुनवाई करेंगे। अगर ऐसा हुआ तो जयपुर बैंच बनने के 43 साल में यह पहला मौका होगा, जब जोधपुर मुख्य पीठ व जयपुर पीठ के सभी जज एक ही बैंच साथ बैठेंगे। सभी जजों के एक ही बैंच में बैठने से खंडपीठ की संख्या में बढ़ोतरी होगी, जो आमतौर पर 2 या 3 होती हैं। जोधपुर मुख्य पीठ में भी 6 दिसंबर को अवकाश घोषित किया गया है। वहीं हाईकोर्ट की फुल कोर्ट मीटिंग की भी संभावना है।

हाईकोर्ट जोधपुर पीठ के भवन का उद््घाटन 7 दिसंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा किया जाएगा। इसके बाद अगले दिन 8 दिसंबर को रविवार का अवकाश है और 9 दिसंबर को हाईकोर्ट के नए भवन में विधिवत रूप से याचिकाओं पर सुनवाई होगी।

वर्ष 1949 से 1976 तक जोधपुर बैंच में एक साथ बैठ सुनवाई करते थे सभी जज
वर्ष 1949 में जोधपुर में न्यायिक राजधानी घोषित करते हुए हाईकोर्ट स्थापना की गई थी। राजस्थान के पूर्ण एकीकरण के बाद से जोधपुर में ही केवल हाईकोर्ट की बैंच थी, इसके अलावा कहीं और बैंच नहीं थी। तब हाईकोर्ट में नियुक्त सभी जज यहां पर ही बैठते थे। उनका क्षेत्राधिकार भी पूरा राजस्थान था। वर्ष 1976 में जोधपुर मुख्यपीठ घोषित करते हुए हाईकोर्ट की एक और बैंच जयपुर में गठित कर दी। इसके बाद से आधे जज जयपुर और आधे जोधपुर में बैठ रहे थे।
 

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement